• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Shahpura News
  • चौकी इंचार्ज ने पहले 1500 रुपए लेकर बजरी भरी ट्राली छोड़ी, दोबारा भी रिश्वत मांगी, 4500 लेते पकड़ा
--Advertisement--

चौकी इंचार्ज ने पहले 1500 रुपए लेकर बजरी भरी ट्राली छोड़ी, दोबारा भी रिश्वत मांगी, 4500 लेते पकड़ा

भास्कर संवाददाता | सांगरिया/कोठियां भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने शनिवार को फूलिया कलां थानान्तर्गत अरवड़ चौकी...

Dainik Bhaskar

Feb 04, 2018, 07:20 AM IST
चौकी इंचार्ज ने पहले 1500 रुपए लेकर बजरी भरी ट्राली छोड़ी, दोबारा भी रिश्वत मांगी, 4500 लेते पकड़ा
भास्कर संवाददाता | सांगरिया/कोठियां

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने शनिवार को फूलिया कलां थानान्तर्गत अरवड़ चौकी इंचार्ज नागौर जिले के कुचेरा निवासी विजय कुमार को चौकी परिसर में ही 4500 रुपए लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया। इंचार्ज ने रिश्वत राशि बजरी से भरी ट्रैक्टर ट्राली छोड़ने की एवज में ली थी। 20 जनवरी को पकड़ी ट्रैक्टर ट्राली को छोड़ने के बदले 2 हजार रुपए मांगे थे। उस वक्त परिवादी ने 1500 रुपए देकर ट्रैक्टर ट्राली छुड़ाई थी। बजरी की और आवश्यकता पड़ने पर उसने चौकी इंचार्ज से संपर्क किया तो 5000 रुपए की मांग की गई। हालांकि प्रभारी बाद में चार हजार पर राजी हुआ। परिवादी 500 रुपए पहले के और 4000 रुपए बाद में देने की कहने पर शनिवार को चौकी पहुंचा। इंचार्ज को 4500 रुपए रिश्वत राशि थमाते ही एसीबी टीम ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

एसीबी के उप निरीक्षक हनुमान सिंह ने बताया कि 20 जनवरी को परिवादी पनोतिया निवासी राकेश कुमावत बिना नंबरी ट्रैक्टर ट्राली में मानसी नदी से बजरी भर कर अपने घर ले जा रहा था। रास्ते में उसे फूलिया कलां थानान्तर्गत अरवड़ चौकी पर तैनात हैड कांस्टेबल विजय कुमार मिला, जिसने सुप्रीम कोर्ट की रोक के बावजूद बजरी लाने पर रोका तथा पांच हजार रुपए की मांग की। परिवादी ने बातचीत कर मामले को 2 हजार रुपए में सेट किया। परिवादी को और बजरी की आवश्यकता होने पर उसने चौकी इंचार्ज से संपर्क किया। इस बार उसने 5000 रुपए की मांग की। परिवादी चौकी इंचार्ज को रिश्वत नहीं देना चाहता था। इसके चलते उसने 24 जनवरी को एसीबी के एएसपी राजेश गुप्ता को शिकायत की। शिकायत का सत्यापन कराया, जिसमें पुष्टि हुई कि हैड कांस्टेबल ने 1500 रुपए परिवादी से पूर्व में ले लिए थे। 500 पहले के तथा तयशुदा 4000 रुपए बाद में देना तय हुआ। शनिवार को एसीबी टीम ने 4500 रुपए रिश्वत राशि देकर परिवादी को अरवड़ चौकी के लिए रवाना किया। टीम भी उप निरीक्षक हनुमान सिंह के नेतृत्व में उसके साथ चल दी। परिवादी चौकी में पहुंचा तथा इंचार्ज को 4500 रुपए थमाए। बाहर खड़ी एसीबी टीम को इशारा मिलते ही परिसर में प्रभारी को 4500 रुपए रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया। बाद में चौकी स्थित उसके निवास स्थान की तलाशी ली,लेकिन वहां एसीबी टीम को कुछ खास नहीं मिला।

पहली बार तो दे दी रिश्वत, दूसरी बार कैसे देता : परिवादी राकेश कुमावत ने बताया कि पहली बार उसने इंचार्ज को रिश्वत दे दी थी लेकिन बाद में जब मैंने उससे और बजरी लाने की बात कही तो उसने ज्यादा डिमांड की और पहली बार के भी 500 रुपए मांगे। मैं इतने पैसे नहीं दे सकता और मुझे लगा कि मामले की एसीबी में शिकायत करनी चाहिए। जैसा की परिवादी राकेश कुमावत ने एसीबी को बताया।

लंबे अरसे से चल रहा है पुलिस-बजरी माफिया के बीच गठजोड़, परेशान ग्रामीणों ने ज्ञापन भी दिया था

आरोपी विजयकुमार

चौकी के बाहर जमा ग्रामीण बोले, जमकर हो रहा है अवैध खनन और वसूली... बजरी भरी ट्रैक्टर ट्राली छोड़ने की एवज में रिश्वत लेते चौकी इंचार्ज के पकड़ जाने की जानकारी मिलते ही बड़ी संख्या में ग्रामीण भी चौकी के बाहर जमा हो गए। उन्होंने अवैध बजरी दोहन के नाम पर पुलिस द्वारा क्षेत्र में लूटपाट करने का आरोप लगाया है, जबकि सुप्रीम कोर्ट ने बजरी ले जाने पर रोक लगा रखी है। उनका कहना हैं कि क्षेत्र से खारी व मानसी नदियां निकल रही है। यहां से धनोप, सांगरिया, बावड़ी, पनोतिया, देवरिया, सणगारी, रामपुरा आदि गांवों में अवैध रूप से बजरी सप्लाई हो रही है, लेकिन पुलिस मिलीभगत से बजरी माफियाओं पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।

क्षेत्र में नदियों आदि से अवैध खनन से परेशान ग्रामीणों ने तीन दिसंबर को धरना दिया था। धरने के दौरान किसान मित्र मंडल के तत्वावधान में मंडल अध्यक्ष रामजस गुर्जर व शाहपुरा प्रधान गोपाल गुर्जर की अगुवाई में एसडीएम को ज्ञापन सौंपा था। जिसमें पुलिस पर भी गंभीर आरोप लगाए गए थे।

बजरी को लेकर पुलिस रही सुर्खियों में... सुप्रीम कोर्ट की रोक के बावजूद शहर व कस्बों के साथ ही ग्रामीण क्षेत्र में बिना रोकटोक बजरी सप्लाई हो रही है। इसे लेकर पुलिस सुर्खियों में रही है। गत दिनों मांडलगढ़ थाने के सामने से बेरोकटोक बजरी भरी ट्रैक्टर ट्रालियां निकलने, भीमगंज थाना क्षेत्र में सीतारामजी की बावड़ी के पास गश्त के दौरान होमगार्ड द्वारा बजरी भरी ट्रैक्टर ट्राली रुकवाने पर उसे पुलिस द्वारा पहुंच छुड़ाने तथा कोतवाली क्षेत्र के भोपालपुरा स्थित बाड़े में रात के अंधेरे में बजरी एकत्र करने की खबरें प्रमुखता से सामने आई थी।

X
चौकी इंचार्ज ने पहले 1500 रुपए लेकर बजरी भरी ट्राली छोड़ी, दोबारा भी रिश्वत मांगी, 4500 लेते पकड़ा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..