Hindi News »Rajasthan »Shahpura» शाहपुरा में भूगोल की परीक्षा में प्रश्नपत्र अंग्रेजी भाषा में आया, परीक्षार्थियों ने जताया विरोध

शाहपुरा में भूगोल की परीक्षा में प्रश्नपत्र अंग्रेजी भाषा में आया, परीक्षार्थियों ने जताया विरोध

कार्यालय संवाददाता | शाहपुरा राजस्थान विश्वविद्यालय की ओर से गुरुवार को आयोजित हुई एमए (प्रीवियस) भूगोल की...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 06, 2018, 07:20 AM IST

कार्यालय संवाददाता | शाहपुरा

राजस्थान विश्वविद्यालय की ओर से गुरुवार को आयोजित हुई एमए (प्रीवियस) भूगोल की परीक्षा का पेपर अंग्रेजी भाषा में आ गया। चिमनपुरा कॉलेज में परीक्षा दे रहे परीक्षार्थी असमंजस में पड़ गए और मामले की शिकायत वीक्षकों से की। वीक्षकों ने मामले से कॉलेज प्रशासन को अवगत कराया। चिमनपुरा महाविद्यालय प्रशासन ने तत्काल विश्वविद्यालय परीक्षा नियंत्रण को अवगत कराया। विश्वविद्यालय की ओर से कमेटी बनाई जाकर जांच करने और बोनस अंक दिए जाने की बात पर परीक्षार्थी शांत हुए।

जानकारी के अनुसार राजस्थान विश्वविद्यालय की ओर से अपराह्न 3 बजे से एमए प्रीवियस भूगोल विषय के पेपर की परीक्षा शुरु हुई। परीक्षा केन्द्र पर वीक्षकों ने जैसे पेपर वितरित किए परीक्षार्थियों के होश उड़ गए। प्रश्नपत्र में सभी प्रश्न अंग्रेजी भाषा में लिखे हुए थे जबकि प्रश्न पत्र अंग्रेजी और हिन्दी भाषा में आना चाहिए। अंग्रेजी भाषा में आए प्रश्नपत्र ने परीक्षार्थियों के सामने परेशानी खड़ी कर दी। अंग्रेजी भाषा में पेपर देखकर शहर के बाबा भगवानदास राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय एवं बाबा नारायणदास कला महाविद्यालय चिमनपुरा में परीक्षा दे रहे 500 परीक्षार्थियों ने कॉलेज प्रशासन से शिकायत की। कॉलेज प्रशासन ने विश्वविद्यालय को अवगत कराकर निस्तारण निकालने का भरोसा दिलाया तब जाकर परीक्षार्थी माने। इधर, बीबीडी के कार्यवाहक प्राचार्य डीके आचार्य ने बताया कि अंग्रेजी और हिन्दी दोनों भाषा में लिखा प्रश्नपत्र आना चाहिए था। मामले के संबंध में विश्वविद्यालय प्रशासन को अवगत करवा दिया है।

जिम्मेदारों के जवाब

विश्वविद्यालय परीक्षा नियंत्रण को अवगत कराया है। इस मामले की विश्वविद्यालय की कमेटी जांच करेगी। बीएल महावर, प्राचार्य बीएनडी कॉलेज चिमनपुरा

पेपर सलेक्टर ने पेपर ही अंग्रेजी माध्यम का भिजवाया था। मामले की शिकायत मिली है। जांच के लिए ग्रीवियस कमेटी तय करेगी की इससे परीक्षार्थी का कितना नुकसान हुआ है। इसके बाद ही आगे कुछ कार्रवाई की जाएगी। वी.के.गुप्ता, परीक्षा नियंत्रक, राजस्थान विश्वविद्यालय जयपुर

हिन्दी माध्यम के बच्चों को अंग्रेजी माध्यम का पेपर दिया गया है, जो पूरी तरह से गलत है। इससे बच्चाें के साथ खिलवाड़ हुआ। उक्त भूगोल के पेपर को रद्द कर दुबारा से परीक्षा होनी चाहिए। बीएल सैनी, प्रदेशाध्यक्ष, राजस्थान शिक्षक कांग्रेस संघ

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shahpura

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×