शाहपुरा

  • Home
  • Rajasthan News
  • Shahpura News
  • एसटी वर्ग एवं सफाई कर्मियों के लिए राज्य सरकार ने ऋण योजनाओं का खोला पिटारा
--Advertisement--

एसटी वर्ग एवं सफाई कर्मियों के लिए राज्य सरकार ने ऋण योजनाओं का खोला पिटारा

कार्यालय संवाददाता | शाहपुरा प्रदेश के सफाई कर्मचारियों एवं अनुसूचित जन जाति वर्ग के गरीब लोगों के लिए...

Danik Bhaskar

Mar 11, 2018, 07:25 AM IST
कार्यालय संवाददाता | शाहपुरा

प्रदेश के सफाई कर्मचारियों एवं अनुसूचित जन जाति वर्ग के गरीब लोगों के लिए राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी वित्त एवं विकास निगम एवं राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति वित्त एवं विकास निगम दिल्ली के सौजन्य से राजस्थान सरकार राजस्थान अनुसूचित जाति जनजाति वित्त एवं विकास सहकारी निगम के माध्यम से कई प्रकार की ऋण योजनाएं संचालित कर रही हैं। जिनका जागरूक रहकर ही लाभ उठाया जा सकता हैं।

ये हंै पात्रता की शर्तें

एससी वर्ग के लोगों के लिए योजना के तहत गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले एकल सफाई कर्मचारी, स्वच्छकार एससी वर्ग के लोग जिनकी आयु 18 वर्ष से 55 वर्ष हो एवं एसटी वर्ग के लोगों के लिए ऐसा एसटी वर्ग का व्यक्ति जिसके परिवार की ग्रामीण क्षेत्र का होने पर आय 98 हजार रुपए वार्षिक एवं शहरी क्षेत्र में 1.20 लाख रुपए से अधिक ना हो। और दोनों की वर्गों का अन्य किसी योजना के तहत सरकारी ऋण बकाया नहीं हो वे परिवार इसके लिए पात्र होंगे।

इन योजनाओं तहत मिलता है ऋण (एसटी वर्ग)

आदिवासी महिला सशक्तिकरण योजना के तहत 50 हजार रुपए का ऋण, लघु ऋण वित्त योजना के तहत 35 हजार रुपए, लघु व्यवसाय के लिए 50 हजार से 2 लाख रुपए, आदिवासी शिक्षा ऋण योजना के तहत 5 लाख रुपए, ट्रैक्टर मय ट्रॉली योजना के तहत 6.85 लाख, इलेक्ट्रानिक बैटरी चालक रिक्शा के लिए एक लाख रुपए का ऋण दिया जाता हैं, जिसमें 10 प्रतिशत सरकारी अनुदान देय हैं।

एससी वर्ग के लिए ये योजनाएं संचालित हैं

50 हजार, लघु शाख वित्त योजना के तहत 50 हजार, महिला अधिकारिता योजना के तहत 75 हजार, लघु व्यवसाय के लिए 50 हजार से 1 लाख, ऑटो रिक्शा सवारी योजना के तहत 1.99 लाख रुपए, शिक्षा ऋण योजना के तहत 10 लाख रुपए, जीप टैक्सी योजना के लिए 5.82 लाख रुपए, एवं इलेक्ट्रॉनिक रिक्शा के लिए 96 हजार रुपए का ऋण दिया जाता हैं। जिसमें 10 प्रतिशत अनुदान देय हैं।

यहां करना होता है आवेदन

पात्र उम्मीदवारों को राजस्थान अनुसूचित जाति एवं जनजाति वित्त एवं विकास सहकारी निगम लि. जिला परिषद जयपुर में आवेदन करना होता हैं। आवेदन फार्म के साथ मूल, जाति, उम्र प्रमाण एवं आय प्रमाण, बीपीएल श्रेणी में होने पर बीपीएल कार्ड की कॉपी एवं मांगें गए ऋण का कोटेशन संलग्न करना होता हैं। इसके बाइ योग्य लोगों का जिला कलेक्टर की ओर से गठित कमेटी द्वारा साक्षात्कार लेकर ऋण दिया जाता हैं। जिसकी ब्याज दर 7 प्रतिशत होती हैं।

शाहपुरा. ऋण योजना।

Click to listen..