--Advertisement--

संस्कृत मानवीय अभिलेखों का पहला दस्तावेज

शाहपुरा|दूरदर्शन के महानिदेशक एवं प्रख्ख्यात साहित्यकार कृष्ण कान्त कल्पित ने कहा कि संस्कृत मानवीय अभिलेखों...

Danik Bhaskar | Feb 25, 2018, 07:30 AM IST
शाहपुरा|दूरदर्शन के महानिदेशक एवं प्रख्ख्यात साहित्यकार कृष्ण कान्त कल्पित ने कहा कि संस्कृत मानवीय अभिलेखों का पहला दस्तावेज है। कल्पित शनिवार का संस्कृति मंत्रालय,भारत सरकार द्वारा प्रायोजित एवं राजस्थान ग्रामोत्थान एवं संस्कृत अनुसंधान शाहपुरा की ओर से कस्बे के बाबा गंगादास राजकीय महिला महाविद्यालय में आयोजित संस्कृत वाड्मय में जनहित भाव विषयक पर त्रि-दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी के उद्घाटन समारोह में बतौर मुख्य अतिथि के रूप ये बात कही। उन्होंने कहा कि ऋगवेद विश्व का प्रथम सर्व प्राचीन ग्रंथ है जिसमें जनहित की भावना पद-पद पर भरी हुई है। उन्होंने ऋगवेद की परंपरा में इन्द्र को मंत्रों के माध्यम से बुलाकर वृक्ष की ताकत के वैभव स्त्रोत सूर्य तथा इन्द्र के संदर्भों के द्वारा हरेक पक्ष कोउखेरा। उन्होंने कहा कि कालीदास सृष्टि का ऐसा सौन्दर्य प्रेरक काव्य है जिससे सौन्दर्य काव्य की सिद्धी हुई। उन्होंने मै1समूलर का जिक्र करते हुए वैदिक पर6परा को जनहित कारी सिद्ध किया। उन्होंने संस्कृत को जनहित का प्रयास बताया। इससे पूर्व राजस्थान ग्रामोत्थान एवं संस्कृत अनुसंधान के निदेशक व संगोष्ठी के संयोजक डां. शंकरलाल शास्त्री ने सूर्य, अगनी, जल आदि देवों की व्याख्याता करते हुए इन्हें जनहित का प्रयास सिद्ध किया। डां. शास्त्री ने शारदे ज्ञान फ ैलाओं ... वेद बनकर सहित महिला हितों पर मौलिक गीत सुनाकर दर्शकों से भरे सभागार में तालियों की गड़गड़ाहट बटोरते रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए सेवानिवृत प्रो.डां.सीताराम कुमावत ने धन्यवाद ज्ञापित करते हुए वैदिक कृषि पर प्रकाश डाला।

मै तो श्याम धणी के मैला में चाली..

मनोहरपुर|उदावाला गांव से शनिवार को श्याम मित्र मंडल के तत्वाधान में खाटू श्याम मंदिर के लिए गाजे-बाजे के साथ पदयात्रा व निशान पदयात्रा रवाना हुई।

पदयात्रा में हजारों की संख्या में महिला-पुरुष और बच्चें श्याम बाबा के भजन गाते रवाना हुए। जानकारी के अनुसार उदावाला श्याम मित्र मंडल के तत्वावधान में सुबह 11 बजे पदयात्रा रवाना हुई।

इस दौरान श्याम बाबा की झांकी सजाई गई। कार्यक्रम के दौरान मै तो श्याम धणी के मेला में ...,चलो बुलावा आया है.. भजनों की प्रस्तुतियां दी। पदयात्रा का ग्रामीणों ने पुष्प वर्षा के साथ स्वागत किया गया। समाज सेवी अर्जुन सैनी ने बताया कि नवलपुरा में श्याम मित्र मंडल के तत्वाधान में श्याम बाबा की पदयात्रा गाजे बाजे के साथ रवाना हुई।

रेनवाल चौमू के बीच देर शाम रोडवेज बस सेवा शुरू

किशनगढ़-रेनवाल|राजस्थान परिवहन निगम ने रेनवाल से चौमू के बीच देर शाम की बस सेवा प्रारंभ की है। विद्याधर नगर आगार द्वारा रेनवाल से रात 8 बजे चौमू के लिए बस प्रारंभ की है। जो एक घंटे के अंतराल में चौमू पहुंचेगी। इससे पहले शाम 7.15 पर भी रेनवाल से चौमू बस जाएगी। इसके साथ चौमू से रात 8.30 बजे रेनवाल के लिए बस रवाना होगी, जो 9.30 बजे रेनवाल पहुंचेगी। देर शाम व रात्रिकालीन बस सेवा प्रारंभ होने से शहर व आसपास के लोगों काे काफी फायदा मिलेगा। क्योंकि रात में चौमू जाने के बाद जयपुर की बसे आसानी से मिल सकेगी।

पहले शाम 6 बजे बाद रेनवाल से चौमू व जयपुर की कोई रोडवेज बस सेवा नहीं थी। जिससे यात्रियों का आने जाने में काफी परेशानी उठानी पड़ती थी।

माली समाज का चतुर्थ परिचय सम्मेलन आज

चौमू| माली समाज विकास समिति द्वारा रींगस रोड़ स्थित माली सभा भवन में आयोजित किए जाने वाले 12वें सामूहिक विवाह सम्मेलन के लिए चतुर्थ युवक-युवती परिचय सम्मेलन रविवार को आयोजित होगा। अध्यक्ष मदन लाल जादम एवं मंत्री हरिकिशन सैनी ने बताया कि पूर्व में तीन परिचय सम्मेलन सफलता पूर्वक आयोजित किए जा चुके है। जिसमें अब तक 8 जोड़ों का पंजीयन किया जा चुका है एवं कुल 106 युवक-युवतीयों का परिचय करवाया गया है।