• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Shahpura News
  • शाहपुरा| गांव-गांवमें संस्कृत ही संस्कार पैदा कर सकती है। आज
--Advertisement--

शाहपुरा| गांव-गांवमें संस्कृत ही संस्कार पैदा कर सकती है। आज

शाहपुरा| गांव-गांवमें संस्कृत ही संस्कार पैदा कर सकती है। आज पाश्चात्य संस्कृति की आंधी में डूबे हुए विश्व को...

Dainik Bhaskar

Jan 06, 2018, 07:51 AM IST
शाहपुरा| गांव-गांवमें संस्कृत ही संस्कार पैदा कर सकती है। आज पाश्चात्य संस्कृति की आंधी में डूबे हुए विश्व को ज्ञान देने वाले भारत में पुनः संस्कृत ही संस्कृति की रक्षा कर सकती है। यह बात शंभुपुरा में आयोजित संस्कृत भारती द्वारा संस्कृत संभाषण शिविर के उद्घाटन सत्र में जिला संयोजक परमेश्वर प्रसाद कुमावत ने कही। हाल ही में संस्कृत भारती चित्तौड़ प्रांत द्वारा भाषा बोधन वर्ग करके आए शिविरार्थियों ने शंभुपुरा में संस्कृत संभाषण शिविर प्रारंभ किया। इस अवसर पर चेतन कुमावत,चंदन नायक, महेंद्र कुमावत,ज्योति कुमावत, दिनेश कुमावत आदि कार्यकर्ता उपस्थित थे।

संस्कृत संभाषण शिविर शुरू

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..