--Advertisement--

गौरव पथ पर लगे ट्रांसफार्मर को बिजली निगम ने हटाया

सामोद|ग्राम महार कलां में सितंबर 2017 में करीब 60 लाख रुपए की लागत से गांव का स्वरूप निखारने के उद्देश्य को लेकर बनाए गए...

Danik Bhaskar | Feb 27, 2018, 07:55 AM IST
सामोद|ग्राम महार कलां में सितंबर 2017 में करीब 60 लाख रुपए की लागत से गांव का स्वरूप निखारने के उद्देश्य को लेकर बनाए गए गौरव पथ में बिजली निगम व सार्वजनिक निर्माण विभाग के आपसी तालमेल के अभाव में सड़क के बीच में लगे ट्रांसफार्मर व पोलों के नहीं हटाने से हादसे होने की आशंका थी। वहीं आबादी क्षेत्र में ट्रांसफार्मर फटने आदि का भय बना हुआ है। इन बिजली पोलों व ट्रांसफार्मर को हटाने के लिए ग्रामीणों ने निगम व ठेकेदारों को कई बार अवगत कराने के बाद भी कोई सुनवाई नहीं हुई तो दैनिक भास्कर में गौरव पथ पर ट्रांसफार्मर, ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन के नाम से खबर प्रमुखता से प्रकाशित की। इसके बाद बिजली निगम ने सड़क के बीच में लगे पोल से ट्रांसफार्मर को उतरवाकर अन्यत्र शिफ्ट करवाया। इससे लोगों को कुछ राहत मिली। वहीं अब सड़क के बीच में लगे पोल से हादसों का अंदेशा बना हुआ है। इसको लेकर लोगों ने पोल को हटवाने की मांग की है।

ग्राम पंचायत महार कला में मैसर्स रामस्वरूप चौधरी जयपुर द्वारा एक किलोमीटर गौरव पथ 60 लाख रुपए की लागत से सितंबर 2017 तक निर्माण कार्य सीसी रोड का करवा कर पूरा किया था। उक्त मार्ग में आबादी, रहवासी व गौरव पथ के बीच में हादसों को न्योता देता बिजली निगम की हाइटेंशन लाइन व लगा ट्रांसफार्मर कभी भी शाहपुरा क्षेत्र में हुई हादसों को फिर से दोहरा सकता है। सार्वजनिक निर्माण विभाग व बिजली निगम के आपसी तालमेल व सामंजस्य के अभाव में जो पोल तथा ट्रांसफार्मर सड़क के बीच में से सड़क निर्माण से पूर्व में हटना चाहिए था, वह पोल व ट्रांसफार्मर गौरव पथ सड़क निर्माण कार्य पूरा होने के बाद भी नहीं हटे हैं। इसको लेकर ग्रामीणों में रोष है।