• Home
  • Rajasthan News
  • Shahpura News
  • शाहपुरा में 33 ग्राम पंचायतों में लटके रहे ताले, 26 फरवरी को विधानसभा घेराव की चेतावनी
--Advertisement--

शाहपुरा में 33 ग्राम पंचायतों में लटके रहे ताले, 26 फरवरी को विधानसभा घेराव की चेतावनी

कार्यालय संवाददाता| शाहपुरा/ अमरसर सरपंच संघ के आह्रान पर ग्राम पंचायतों पर तालाबंदी कार्यक्रम का पंचायत समिति...

Danik Bhaskar | Feb 23, 2018, 08:00 AM IST
कार्यालय संवाददाता| शाहपुरा/ अमरसर

सरपंच संघ के आह्रान पर ग्राम पंचायतों पर तालाबंदी कार्यक्रम का पंचायत समिति क्षेत्र की सभी 33 ग्राम पंचायतों के सरपंचों ने समर्थन दिया। सरपंच संघ ने मांगों को जायज बताते हुए मांगें जल्द पूरी करने की मांग की। सरपंच संघ अध्यक्ष व नयाबास सरपंच भैरुराम जाट ने कहा कि सरपंचों ने अपना मांगपत्र सरकार के पास भिजवा दिया, लेकिन कोई कार्यवाही नहीं होने से सरपंचों को मजबूरन हड़ताल पर जाना पड़ रहा है। धानोता सरपंच श्रीराम घोसल्या, अमरसर सरपंच ओम प्रकाश सैनी, हनुतिया सरपंच अनिता गठाला ने कहा कि पंचायतीराज एक निर्वाचित इकाई होती है। प्रजातंत्र शासन व्वस्था का आधार स्तंभ है लेकिन सरकार व नौकरशाही पंचायतीराज व्यवस्था को पंगु बनाने में जुटे हुए हैं। सरपंच नायन महेश शर्मा, मुरलीपुरा श्रवणीदेवी, करीरी ममता देवी, राडावास बलवंत शर्मा, धवली ललिता सैनी, म्हारखुर्द उर्मिला बुनकर ने सरपंचों की लंबित मांगें पूरी करने तथा सरपंचों का मानदेय 15 हजार रुपए प्रतिमाह, टेंडर अाफलाइन करने, सरपंचों का काम करवाने का क्षेत्राधिकार बढ़ाने सहित विभिन्न मांगों को पूरा करने की मांग की। सरपंच संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष व बिलांदरपुर सरपंच अर्जुन यादव, गोविंदपुरा बासड़ी सरपंच जवाहर लाल जूहर, जगतपुरा मक्खन लाल जाट ने सरपंचों को पेंशन योजना का लाभ देने तथा पंचायतीराज को सदृढ़ करने की मांग की तथा सरपंचों का क्षेत्राधिकार बढ़ाने की मांग की।

खुली रही जयसिंहपुरा पंचायत

विराटनगर| 25 सूत्रीय मांगों को लेकर पंचायतों पर तालाबंदी कार्यक्रम की घोषणा के बाद भी विराटनगर पंचायत समिति क्षेत्र की जयसिंहपुरा ग्राम पंचायत का अटल सेवा केंद्र खुला रहा जबकि अधिकांश अटल सेवा केंद्रों पर ताले लटके रह। 26 फरवरी को विधानसभा पर प्रदर्शन कर महापड़ाव का कार्यक्रम है। तय कार्यक्रम के बाद भी जयसिंहपुरा पंचायत का अटल सेवा केंद्र खुला रहा। हालांकि सरपंच जरूरी कार्य से बाहर गए हुए थे लेकिन सरपंच घीसासिंह शेखावत ने हड़ताल पर रहने से इंकार कर दिया। गौरतलब रहे कि घीसासिंह शेखावत विधानसभा क्षेत्र के बालाजी मंडल के भाजपा देहात मंडल अध्यक्ष के पद भी जिम्मेदारी निभा रहे है। सचिव हंसा यादव, सुभाष बुनकर आदि ने बताया कि दिनभर वे पंचायत क्षेत्र के कार्य करने के लिए फील्ड में कार्य करते रहे। उन्होने बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना,स्वच्छ भारत मिशन का कार्य किया। जयसिंहपुरा सरपंच घीसासिंह शेखावत का कहना है कि उन्होंने तालाबंदी का समर्थन नहीं किया। जयसिंहपुरा पंचायत खुली रही है। सरपंच संघ के जिलाध्यक्ष हरिसिंह सिंधु का कहना है कि सरपंच संघ के आह्रान पर जिलेभर में पंचायतों पर ताला लटके रहे। हालांकि एक-दो पंचायतें खुली थी। इन सरपंचों से भी बातचीत की जाएगी।

राजनोता व प्रागपुरा पंचायत में सामान्य काम

पावटा| पंचायत समिति क्षेत्र की प्रागपुरा व राजनौता पंचायतें खुली रही। हालांकि इन पंचायतों के सरपंचों ने सरपंच संघ की मांगों को जायज ठहराया है। सरपंच संघ अध्यक्ष व द्धारिकपुरा सरपंच सूबेदार मामराज गुर्जर ने बताया कि राज्य सरकार से कई बार पंचायत व सरपंचों के लिए अनेक मांग रखी गई लेकिन आज तक मुख्यमंत्री ने संघ की मांगें नहीं मानी। मजबूरन में पंचायतों में हड़ताल रखते हुए कार्य नहीं किया गया। उन्होंने पंचायत के ताला लगाकर हड़ताल का समर्थन किया। राजनौता सरपंच लालसिंह शेखावत व भाजपा महिला मोर्चा मण्डल अध्यक्ष व प्रागपुरा सरपंच एलन स्वामी ने बताया कि जनहित के कार्य को देखते हुए पंचायत खोली गई है। उन्होंने सरपंच संघ की मांगों को जायज ठहराते हुए इनका समर्थन भी किया।

विराटनगर. हड़ताल के चलते बंद बजरंगपुरा का अटल सेवा केंद्र।