Hindi News »Rajasthan »Shahpura» बीएससी (कृषि) के बाद कई विकल्प, सीड-फूड टेक्नोलॉजी में करें डिप्लोमा

बीएससी (कृषि) के बाद कई विकल्प, सीड-फूड टेक्नोलॉजी में करें डिप्लोमा

पांचवीं कक्षा के स्टूडेंट्स की जिज्ञासा हो या फिर अभिभावकों की बच्चों के कॅरिअर योजना संबंधी सवाल। 10वीं हो या...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 23, 2018, 08:00 AM IST

पांचवीं कक्षा के स्टूडेंट्स की जिज्ञासा हो या फिर अभिभावकों की बच्चों के कॅरिअर योजना संबंधी सवाल। 10वीं हो या इसके बाद विषय निर्धारण, स्नातक के बाद प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के टिप्स। ‘भास्कर संवाद’ में गुरुवार को आरपीएससी की कॉमर्स लेक्चरर (स्कूल शिक्षा) के टॉपर रामावतार शर्मा ने इनसे जुड़े सवालों के जवाब दिए। एक संदेश उनका सभी के लिए था, अपने कॅरिअर को लेकर स्पष्ट रहें। दो नाव पर सवारी करने से अच्छा है एक लक्ष्य पर एकाग्र हों। सिलेबस जारी होने के बाद विषय विशेषज्ञों से मैटर का चयन कीजिए। सब्जेक्ट टीचर की मदद लीजिए वे आपके लिए काफी मददगार साबित हो सकते हैं। बाजार से अनावश्यक किताबें या गाइड आदि लेने से बचें।

हर गुरुवार एक घंटे मोबाइल के जरिए घर बैठे विशेषज्ञ की सलाह से विषय और कॅरिअर का चयन करें। प्रत्येक सप्ताह अलग-अलग विषय विशेषज्ञों से आप परीक्षा के दिनों में तनाव प्रबंधन के बारे में जान सकेंगे। परामर्शदाताओं में शिक्षाविद, कॅरिअर काउंसलर, सफल व्यवसायी, उद्यमी आदि आमंत्रित किए जाएंगे।

सवाल

लक्ष्मण रेगर, रायला

 सवाल: पारिवारिक स्थिति अच्छी नहीं है। हर बार प्रतियोगी परीक्षा में रह जाता हूं?

 जवाब: आर्थिक संसाधन सफलता में बाधक नहीं। अभाव में ही प्रभाव होता है। परीक्षा में जो गलतियां कर रहे हैं, उन्हें पहचानिए। सिलेबस का मैटर अच्छा चयन करें। नियमित अध्ययन करें। सकारात्मक धारणा बनाए रखें।

वंश जायसवाल, सुभाषनगर

 सवाल : पांचवीं में हूं, इंजीनियर बनना चाहता हूं।

 जवाब: अभी से लक्ष्य साफ है यह अच्छी बात है। आप अभी गणित और विज्ञान में मेहनत करें। 10वीं के बाद मैथ्स लेकर रणनीति तय करें।

सुनील विश्नोई, संजय कॉलोनी

 सवाल: 12वीं में बायो से और बाद में बीए किया है। अब क्या करूं? बीएड करने से पहले विषय बदलूं?

 जवाब: आप तीन साल आर्ट्स पढ़ चुके हैं। बीएड करना है तो कोई परेशानी नहीं है। परेशानी इसमें है कि दो नावों की सवारी मत करो। अपनी कमी को पहचानो और उसे मजबूत करो।

सत्यनारायण गाडरी, शाहपुरा

 सवाल : स्नातक कर रहा हूं, व्यक्तित्व और कौशल विकास के लिए मुझे कॉलेज में क्या करना चाहिए?

 जवाब: कॉलेज में कई कौशल विकास कार्यक्रम होते हैं। इग्नू भी कौशल विकास कार्यक्रम चला रहा है। कॉलेज स्तर पर कई तरह की गतिविधियां होती हैं। स्नातक के बाद एसआई, ग्रामसेवक, एसएससी की परीक्षा दे सकते हैं।

कृष्णकुमार शर्मा, उमरी

 सवाल: बीए सैकंड ईयर में हूं। पटवारी के लिए तैयारी कैसे करूं?

 जवाब: गणित और हिंदी अच्छी होनी चाहिए। अच्छी पाठ्य सामग्री का नियमित अध्ययन जरूरी है। इसके अलावा ग्रामसेवक और जूनियर अकाउंटेंट की परीक्षा भी दे सकते हो।

एश जायसवाल, भीलवाड़ा

 सवाल: 10वीं बोर्ड में हूं, विज्ञान की तैयारी कैसे करूं?

 जवाब:मॉडल पेपर सॉल्व करें। इन्हें शिक्षक से चैक कराएं। परीक्षा में वही आएगा जो सिलेबस आपने सालभर पढ़ा है। बिना तनाव के पेपर दीजिए। समय प्रबंधन का ख्याल रखें।

हर्षिता सुखवाल (सांगानेर), तरुण सुखवाल (सांगानेर), आयुष सोनी (जहाजपुर), सुनीता गुप्ता (सुभाष नगर)

 सवाल: आठवीं में हैं। आईएएस ऑफिसर बनना है तो क्या करें।

 जवाब: सिविल सेवा परीक्षा देनी होगी। इसके लिए स्नातक अनिवार्य है। आप एनसीआरटी की किताबें (कक्षा 9, 10, 11 व 12 की) पढ़कर बेसिक्स तैयार करें। जीके और जीएस की तैयारी शुरू कर दें। स्नातक के अंतिम वर्ष में सब्जेक्ट की तैयारी कर सकते हैं। सिविल सेवा के तीन चरण होते हैं। प्री, मेंस और इंटरव्यू। प्री में उत्तीर्ण हुए करीब 15 गुना परीक्षार्थियों को चुना जाता है। इसमें उत्तीर्ण तीन गुना को इंटरव्यू के लिए सलेक्ट किया जाता है।

शुभम विजयवर्गीय, सुभाषनगर

 सवाल : बीटेक के बाद क्या करूं, बैंकिंग जॉब के लिए क्या करना होगा?

 जवाब: बीटेक के बाद एमटेक कर सकते हैं। बैकिंग जॉब के लिए आईबीपीएस की परीक्षा दे सकते हैं। प्री, मेंस, इंटरव्यू के बाद मेरिट के आधार पर बैंक आपको सिलेक्ट करेंगे।

रुस्तम खां, करेड़ा

 सवाल: मेरे बेटे ने 65 प्रतिशत के साथ 12वीं बायो से पास की है। इतने प्रतिशत पर सरकारी कॉलेज मिलेगा? नहीं तो क्या करें?

 जवाब : आप स्नातक स्वयंपाठी की तरह भी करा सकते हैं। या फिर विषय बदलकर नियमित प्रवेश दिला सकते हैं। अगर एमबीबीएस कराना चाहते हैं तो ‘नीट’ का एग्जाम दिलाएं।

आदर्श जायसवाल, सुभाषनगर

 सवाल: प्रतियोगी परीक्षाओं में सिलेबस कठिन हो गया है, क्या करें?

 जवाब: आरपीएससी ने नया दृष्टिकोण अपनाया है। इसलिए सिलेबस जटिल ही होगा। अब सवाल तथ्यात्मक नहीं बल्कि अवधारणात्मक पूछे जाते हैं। विषय विशेषज्ञ/शिक्षक की मदद लें।

हेमराज कुमावत, मांडल

 सवाल: बीए के बाद एसटीसी या बीएड? क्या करना चाहिए?

 जवाब: बीएड करिए। ग्रेड थर्ड से लेकर फ़र्स्ट ग्रेड टीचर की परीक्षा दे सकते हैं। बीएड के लिए स्नातक की योग्यता जरूरी है जबकि एसटीसी के लिए सिर्फ 12वीं।

अक्षिता डाड, भीलवाड़ा

 सवाल: 10बोर्ड का एग्जाम दे रही हूं। मैथ्स में रुचि नहीं है। आगे कौनसे विषय लूं?

 जवाब: बायोलॉजी ले सकती हैं। आपकी रुचि जिसमें हो उस विषय को लीजिए। कम मेहनत में अच्छा प्रदर्शन कर सकेंगी। इसका मतलब यह नहीं कि आप कम मेहनत करें।

हिमानी विजयवर्गीय, बिजौलिया

 सवाल: बीकॉम कर रही हूं, बीएड करूं तो क्या रहेगा?

 जवाब: अच्छा रहेगा। इसके अलावा सीए, सीपीटी, जीएसटी डिप्लोमा, सीएमआई के कोर्स कर सकती हैं। बीएड के साथ पीजी कर लीजिए। लाभदायक रहेगा।

ओमप्रकाश प्रजापत, शाहपुरा

 सवाल: स्नातक और आईटीआई कर चुका हूं। ऐसा क्या करूं कि प्रतियोगी परीक्षा से डर नहीं लगे?

 जवाब: आईटीआई करने से और आपके पास काफी विकल्प खुल चुके हैं। रेलवे ने हाल में हजारों पद पर भर्ती निकाली है। रही बात डर की, तो स्वयं पर विश्वास रखिए। हमेशा सकारात्मक सोचिए। जैसा सोचेंगे, वैसे बनेंगे।

वैभव शर्मा, बिजौलिया

 सवाल: निजी महाविद्यालय में बीएससी एग्रीकल्चर का प्रथम वर्ष का छात्र हूं। सरकारी कॉलेज में कैसे जा सकता हूं?

 जवाब: ‘जेट’ दीजिए। इसमें अच्छी मेरिट लाइए। सरकारी कॉलेज मिल जाएगा। कृषि स्नातक करने के बाद पीपी कर सकते हैं। कृषि, डेयरी, सहकारी बैंक आदि से संबंधित भर्ती परीक्षा दे सकते हैं। सीड टेक्नोलॉजी, फिशरीज, फूड टेक्नोलॉजी आदि में डिप्लोमा कोर्स हैं।

शिवानी विजयवर्गीय, जयपुर

 सवाल: एमकॉम कर रही हूं। टीचर बनने के लिए क्या करूं?

 जवाब: बीएड कर लीजिए, फिर फ़र्स्ट, सैकंड, थर्ड ग्रेड की परीक्षा देकर टीचर बन सकती हैं।

नारायण लाल रेगर, ओज्याड़ा

 सवाल: बीए सैकंड ईयर में हूं। इतिहास का टीचर बनना है।

 जवाब: यह बहुत अच्छा है कि अपने भविष्य को लेकर स्पष्ट है। स्कूली व्याख्याता के लिए बीएड और एमए व कॉलेज व्याख्याता के लिए नेट या स्लेट जरूरी है।

राकेश सोमाणी, फूलियां कलां

 सवाल: बेटा अंशुल 10वीं में है। आगे क्या विषय दिलाऊं?

 जवाब: जिस विषय में बेटे की रुचि है उसका चयन कीजिए। मैथ्स अच्छी बता रहे हैं तो साइंस मैथ्स दिलाकर इंजीनियर बना सकते हैं।

हर बार प्रतियोगी परीक्षा में रह जाता हूं

जवाब

परीक्षा में जो गलतियां कर रहे हैं उन्हें पहचानिए

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shahpura

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×