• Home
  • Rajasthan News
  • Shahpura News
  • थाने में मारपीट से गुस्साए लोगों ने एसडीएम ऑफिस पर धरना दिया, विस अध्यक्ष मेघवाल पर भी आरोप
--Advertisement--

थाने में मारपीट से गुस्साए लोगों ने एसडीएम ऑफिस पर धरना दिया, विस अध्यक्ष मेघवाल पर भी आरोप

भास्कर संवाददाता| फूलियाकला सांगरियामें मूर्ति लगाने के बाद विवाद में गिरफ्तार लोगों से थाने में मारपीट से...

Danik Bhaskar | Jan 04, 2018, 01:05 PM IST
भास्कर संवाददाता| फूलियाकला

सांगरियामें मूर्ति लगाने के बाद विवाद में गिरफ्तार लोगों से थाने में मारपीट से आक्रोशित ग्रामीणों ने बुधवार को उपखंड अधिकारी कार्यालय पर ज्ञापन दिया। ये लोग थानाधिकारी सहित आरोपी पुलिसकर्मियों को सस्पेंड करने, प्रकरण की जांच प्रशासनिक अधिकारी से कराने की मांग कर रहे थे। किसान मित्र मंडल के बैनर तले तीन घंटे धरने के दौरान सभा भी की।

शाहपुरा प्रधान गोपाल गुर्जर ने कहा कि बिना रिपोर्ट के पुलिस ने निर्दोष लोगों को गिरफ्तार किया था। सक्षम अधिकारी के निर्देश के बगैर पुलिस ने सांगरिया में हवाई फायर किए। उन्होंने आरोप लगाया कि फूलिया थानाधिकारी स्वयं की जेसीबी मशीन से खारी एवं मानसी नदी में अवैध बजरी दोहन करा रहे हैं। चेतावनी दी कि फूलिया थानाधिकारी को सस्पेंड नहीं किया गया तो मांडलगढ़ उपचुनाव में किसान मित्र मंडल सबक सिखाएगा। किसान मित्र मंडल के अध्यक्ष रामजस गुर्जर ने कहा कि सांगरिया थानाधिकारी कुछ ग्रामीणों से किसी मामले में द्वेष पाले हुए थे। उन्हीं ने गांव में मूर्ति स्थापित कराकर ग्रामीणों को झूठा फंसाया। समय रहते मांग नहीं मानी गई तो फूलिया तहसील के गांवों मे अनिश्चितकालीन बंद रखा जाएगा।

विधायक एवं विधानसभा अध्यक्ष के इशारे पर पुलिस निर्दोष ग्रामीणों के खिलाफ कार्रवाई कर रही है। पूर्व जिला महामंत्री कैलाश काबरा ने कहा कि 19 दिसंबर को घटना के बाद विधानसभा अध्यक्ष तहसील क्षेत्र में तीन दिन रहे पर सांगरिया जाकर लोगों से मिलने की जहमत नहीं उठाई। धरने के दौरान लोगों ने हाथ खड़े कर विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पारित किया।

फूलियाकलां. धरने को संबोधित करते प्रधान गोपाल गुर्जर एवं उपस्थित ग्रामीण|