शाहपुरा

  • Home
  • Rajasthan News
  • Shahpura News
  • जांच में गैस सिलेण्डर एचपी का व रेगुलेटर इंडेन कंपनी का मिला
--Advertisement--

जांच में गैस सिलेण्डर एचपी का व रेगुलेटर इंडेन कंपनी का मिला

कार्यालय संवाददाता | शाहपुरा. शहर के वार्ड 21 के रीको क्षेत्र में हादसे के दूसरे दिन रविवार को कार्यवाहक जिला रसद...

Danik Bhaskar

Mar 26, 2018, 07:30 PM IST
कार्यालय संवाददाता | शाहपुरा.

शहर के वार्ड 21 के रीको क्षेत्र में हादसे के दूसरे दिन रविवार को कार्यवाहक जिला रसद अधिकारी कुंतन बिश्नोई ने घटनास्थल और पुलिस थाने में जब्त गैस सिलेण्डर के उपकरणों की जांच की। इसमें गैस सिलेण्डर एचपी का और रेग्युलेटर इंडेन कंपनी का मिला। सिलेण्डर की पाइप फटी हुई व चूल्हा भी खस्ताहाल मिला। आंशका जाहिर की कि घटिया क्वालिटी के उपकरण काम में लिए जाने से गैस रिसाव होने से हादसा हुआ। टीम में शाहपुरा तहसीलदार सूर्यकांत शर्मा, प्रवर्तन निरीक्षक निशांत पंचौली, एचपी गैस के एरिया सेल्स मैनेजर विमल शर्मा, इण्डियन गैस के रविन्द्र मीणा, भारत गैस कंपनी के रितेश चावला, रसद अधिकारी कुंतन बिश्नोई के नेतृत्व में घटनास्थल के पास एक भवन और ट्रक बॉडी बनाने वाले कारखाने में भी दबिश दी। भवन में बाहरी श्रमिकों के पास से एक सिलेण्डर बरामद किया गया। इसमें भी सिलेण्डर और रेग्युलेटर अलग-अलग कंपनी के मिले है।

ज्ञात हो कि वार्ड 21 के औद्योगिक क्षेत्र में गैस सिलेण्डर में रिसाव से विस्फोट हो गया था। इसकी चपेट में आने से 7 श्रमिक गंभीर झुलस गए थे। इनमें से तीन श्रमिकों की जयपुर एसएमएस अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई जबकि अन्य का अभी भी उपचार चल रहा है जिनकी हालत नाजुक बनी हुई है। हादसे के दूसरे दिन दोपहर में जिला रसद अधिकारी ने विभिन्न गैस कंपनी के प्रतिनिधियों और तहसीलदार के साथ घटनास्थल का जायजा लिया। इसमें सिलेण्डर की पाइप घटिया क्वालिटी की और फटी हुई मिली।

दो शव परिजनों को सौंपे, एक के परिजन आज पहुंचेंगे

हादसे में बिहार निवासी उमेश चौहान (30), दिनेश चौहान (25), रणजीत (20), कमलेश (18), सहारनपुर मध्यप्रदेश निवासी वाजिद (22), गोरखपुर यूपी निवासी रमेश पासवान (25), गोरखपुर यूपी निवासी उपेन्द्र चौहान (25) गंभीर झुलस गए थे। इसमें से उपेन्द्र, कमलेश और उमेश ने जयपुर के एसएमएस हास्पिटल में दम तोड़ दिया था। इनमें से उपेन्द्र व कमलेश के शव का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया जबकि उमेश के शव का पोस्टमार्टम सोमवार सुबह कराया जाएगा।

शाहपुरा . जांच करती टीम।

कार्यालय संवाददाता | शाहपुरा.

शहर के वार्ड 21 के रीको क्षेत्र में हादसे के दूसरे दिन रविवार को कार्यवाहक जिला रसद अधिकारी कुंतन बिश्नोई ने घटनास्थल और पुलिस थाने में जब्त गैस सिलेण्डर के उपकरणों की जांच की। इसमें गैस सिलेण्डर एचपी का और रेग्युलेटर इंडेन कंपनी का मिला। सिलेण्डर की पाइप फटी हुई व चूल्हा भी खस्ताहाल मिला। आंशका जाहिर की कि घटिया क्वालिटी के उपकरण काम में लिए जाने से गैस रिसाव होने से हादसा हुआ। टीम में शाहपुरा तहसीलदार सूर्यकांत शर्मा, प्रवर्तन निरीक्षक निशांत पंचौली, एचपी गैस के एरिया सेल्स मैनेजर विमल शर्मा, इण्डियन गैस के रविन्द्र मीणा, भारत गैस कंपनी के रितेश चावला, रसद अधिकारी कुंतन बिश्नोई के नेतृत्व में घटनास्थल के पास एक भवन और ट्रक बॉडी बनाने वाले कारखाने में भी दबिश दी। भवन में बाहरी श्रमिकों के पास से एक सिलेण्डर बरामद किया गया। इसमें भी सिलेण्डर और रेग्युलेटर अलग-अलग कंपनी के मिले है।

ज्ञात हो कि वार्ड 21 के औद्योगिक क्षेत्र में गैस सिलेण्डर में रिसाव से विस्फोट हो गया था। इसकी चपेट में आने से 7 श्रमिक गंभीर झुलस गए थे। इनमें से तीन श्रमिकों की जयपुर एसएमएस अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई जबकि अन्य का अभी भी उपचार चल रहा है जिनकी हालत नाजुक बनी हुई है। हादसे के दूसरे दिन दोपहर में जिला रसद अधिकारी ने विभिन्न गैस कंपनी के प्रतिनिधियों और तहसीलदार के साथ घटनास्थल का जायजा लिया। इसमें सिलेण्डर की पाइप घटिया क्वालिटी की और फटी हुई मिली।

दो शव परिजनों को सौंपे, एक के परिजन आज पहुंचेंगे

हादसे में बिहार निवासी उमेश चौहान (30), दिनेश चौहान (25), रणजीत (20), कमलेश (18), सहारनपुर मध्यप्रदेश निवासी वाजिद (22), गोरखपुर यूपी निवासी रमेश पासवान (25), गोरखपुर यूपी निवासी उपेन्द्र चौहान (25) गंभीर झुलस गए थे। इसमें से उपेन्द्र, कमलेश और उमेश ने जयपुर के एसएमएस हास्पिटल में दम तोड़ दिया था। इनमें से उपेन्द्र व कमलेश के शव का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया जबकि उमेश के शव का पोस्टमार्टम सोमवार सुबह कराया जाएगा।

Click to listen..