• Home
  • Rajasthan News
  • Shahpura News
  • बाबा बुरहान का गुदड़ी का मेला भरा, फिर अाने की हसरत लिए लौटने लगे जायरीन
--Advertisement--

बाबा बुरहान का गुदड़ी का मेला भरा, फिर अाने की हसरत लिए लौटने लगे जायरीन

ताला में बाबा बुरहानुद्दीन चिश्ती की दरगाह में चल रहे उर्स के समापन के बाद सोमवार को गुदड़ी का मेला भरा। सुबह बाबा...

Danik Bhaskar | Apr 10, 2018, 05:05 AM IST
ताला में बाबा बुरहानुद्दीन चिश्ती की दरगाह में चल रहे उर्स के समापन के बाद सोमवार को गुदड़ी का मेला भरा। सुबह बाबा के आस्ताना में गुसल की रस्म हुई। इसके बाद फिर चादर चढानें के सिलसिला शुरू हो गया। जो देर शाम तक जारी था। बाबा के दर पर हाजिरी देनें वालों का तांता पूरे दिन लगा रहा। प्रदेश कांग्रेस कमेटी सदस्य जगदीश मीणा, जयपुर जिला देहात महिला कांग्रेस अध्यक्षा सोमवती मीणा, कांग्रेस अभाव अभियोग प्रकोष्ठ के जयपुर ग्रामीण अध्यक्ष जाकिर हुसैन, लतीफ सिलार भी सोमवार को जियारत करनें पहुंचे एवं बाबा के दर पर माथा टेक दुआएं मांगी।

मेले में बाहर से आए जायरीन फिर से लौटनें की हसरत लिए रविवार शाम से वापस लोटने लगे। दरगाह कमेटी ने उर्स के दौरान व्यवस्थाओं के लिए एसडीएम नरेन्द्र कुमार मीणा, एएसपी ज्ञानचन्द यादव, डीएसपी जमवारामगढ शीला फोगावट, डीएसपी शाहपुरा भागचन्द मीणा, तहसीलदार ज्ञानचन्द जैमन, बिजली निगम जेईएन वीएस यादव का आभार जताया। भामाशाह ने भेट किए चिकित्सालय में दो फाइबर कूलर मेले में सेवाएं दे रहे उपखण्ड प्रशासन, पुलिस विभाग, बिजली, रसद, रोडवेज व चिकित्सा विभाग एवं जलदाय विभाग के इमामुद्दीन सहित सभी कर्मचारियों को व्यवस्थाओं के लिए धन्यवाद दिया। उर्स के दौरान इन विभागों के सैंकड़ों कर्मचारी व्यवस्थाओं में जुटे हुए थे।

झूलों का लोगों ने लिया आनंद

मेले में सजे मीना बाजार में महिलाओं की भारी भीड़ उमड़ी। महिलाओं ने अपनी जरुरत का सामान खरीदा। इस दौरान मीना बाजार में पुरुषों का प्रवेश पूर्णत: प्रतिबंधित रहा। मेले में लगे तरह तरह के झूलों का लोगों ने आनंद लिया। मेला परिसर में लगा मौत के कुएं का खेल लोगों में विशेष आकर्षण का केन्द्र रहा।

तय किए रिश्ते

उर्स के दौरान आये जायरीन ने इस दौरान अपने विवाह योग्य पुत्र पुत्रियों के रिश्ते तय किए। कई समाजों ने मीटिंग कर अपने सामाजिक मुद्दों को सुलझाया व समाज सुधार पर चर्चा की।

कीचड़ से गुजरना पड़ा जायरीन को

मेले के दौरान ग्राम पंचायत रास्तों की सफाई करवाने में भी नाकाम रही। नालियां अवरुद्ध होने से आमरास्तों पर कीचड़ पसरा हुआ था। जगह जगह पानी भरा था। पंचायत भवन के सामने मुख्य रास्ते पर भरा पानी बदबू मार रहा था। पैदल लोग बड़ी मुश्किल से निकल रहे थे। वहीं दुपहिया वाहन चालकों का भी गिरने का भय सता रहा था।

धौला. ताला में गुदड़ी के मेले में मौत का कुआं सर्कस देखते महिलाएं।