--Advertisement--

ट्रेलर की चपेट में आने से बाइक सवार की मौत

शाहपुरा. शहर के जयपुर तिराहे पर दुर्घटना के दौरान ट्रेलर के नीचे फंसी बाइक एवं मौके पर जमा भीड। कार्यालय...

Danik Bhaskar | Jul 03, 2018, 06:15 AM IST
शाहपुरा. शहर के जयपुर तिराहे पर दुर्घटना के दौरान ट्रेलर के नीचे फंसी बाइक एवं मौके पर जमा भीड।

कार्यालय संवाददाता | शाहपुरा

जयपुर-दिल्ली एनएच-8 के महत शहर के जयपुर तिराहे पर लगातार तीसरे दिन सोमवार को हुई सड़क दुर्घटना में एक युवक की जान चली गई, जबकि एक युवती गंभीर घायल हो गई। लगातार हो रहे हादसों से पुलिस प्रशासन की कार्यशैली पर भी प्रश्नचिह्न लगा है। हादसे के बाद राष्ट्रीय राजमार्ग पर जाम लग गया। एनएचएआई द्वारा जयपुर तिराहे पर पुलिया नहीं बनना लोगों के लिए किल्लर पाइंट साबित हो रहा है।

जानकारी के अनुसार अमरपुरा निवासी युवक हेमन्त यादव व युवती शाहपुरा निवासी गुड्डी वर्मा बाइक से जयपुर की ओर जा रहे थे। जयपुर तिराहे पर सड़क पार करते समय तेज़ रफ्तार ट्रेलर ने बाइक को अपनी चपेट में ले लिया, जिससे बाइक सवार युवक ट्रेलर के टायरों के नीचे आ गया तथा बाइक फंस गई। टक्कर इतनी तेज थी कि ट्रेलर बाइक को घसीटते हुए डिवाइडर से टकराकर वहां लगे सीसीटीवी कैमरे व पोल को भी तोड़ दिया। हादसे के बाद चालक मौके से फरार हो गया।

जाम लगने वाहनों की कतार लग गई। सूचना पर पुलिस पहुंची तथा शव को राजकीय अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया तथा घायल युवती को अस्पताल में भर्ती करवाया। पुलिस ने क्रेन की सहायता से ट्रेलर को हटवाया तथा यातायात सुचारू करवाया। इधर ग्रामीणों ने पुलिस पर आरोप लगाया कि जयपुर तिराहे पर तैनात पुलिसकर्मी दिनभर बैठे रहते हैं लेकिन वे यातायात को सुचारू नहीं करते हंै।

तीन दिन से लगातार सड़क हादसे

हाइवे पर पुलिस प्रशासन दुर्घटनाओं को रोकने में नाकारा साबित हो रहा है। इसका ताजा उदाहरण है कि शनिवार को जयपुर तिराहे पर सड़क हादसे में एक महिला की मौत हो गई थी। रविवार को बहडोदा पुलिया के पास सड़क हादसे में 26 लोग घायल हुए थे। तीसरे दिन सोमवार को शहर के जयपुर तिराहे पर सड़क हादसे में बाइक सवार हेमंत की मौत हो गई जबकि गंभीर घायल गुड़िया को जयपुर रेफर किया गया।

जयपुर तिराहे के दोनों ओर आबादी

शहर के जयपुर तिराहे पर एनएचएआई द्वारा पुलिया स्वीकृत की जा चुकी है। मगर विभाग द्वारा पुलिया निर्माण नहीं करने से यह तिराहा लोगों के लिए जानलेवा साबित हो रहा है। जयपुर तिराहे से दोनों तरफ शहर की बड़ी आबादी रहती है जिससे लोगों को इस मार्ग से होकर गुजरना मजबूरी है।


ग्रामीणों ने पुलिस की कार्यशैली पर भी उठाए सवाल, एनएच आठ पर लगा जाम