• Hindi News
  • Rajasthan
  • Shahpura
  • गोल डूंगरी में गर्मी से बचाव के लिए हौज में नहाने उतरीं दो बालिकाएं, एक डूबी
--Advertisement--

गोल डूंगरी में गर्मी से बचाव के लिए हौज में नहाने उतरीं दो बालिकाएं, एक डूबी

भास्कर न्यूज | रायसर/शाहपुरा जमवारामगढ़ उपखंड क्षेत्र के माथासूला ग्राम पंचायत के दंताला रोड गोल डूंगरी में...

Dainik Bhaskar

Jun 12, 2018, 06:15 AM IST
गोल डूंगरी में गर्मी से बचाव के लिए हौज में नहाने उतरीं दो बालिकाएं, एक डूबी
भास्कर न्यूज | रायसर/शाहपुरा

जमवारामगढ़ उपखंड क्षेत्र के माथासूला ग्राम पंचायत के दंताला रोड गोल डूंगरी में सोमवार को गर्मी से बचाव के लिए हौज में नहाने के लिए सहेली के साथ उतरी एक 11 वर्षीय बालिका की पानी में डूबने से मौत हो गई। जबकि सहेली की जान किनारे पर खड़ी अन्य बालिका द्वारा हाथ खींचकर बाहर निकालने से बच गई।

जानकारी के अनुसार टीबा की ढाणी दंताला मीणा निवासी मुकेश मीणा की 11 वर्षीय बेटी वर्षा उर्फ रवीना जोकि अपनी सहेली कोमल व किरण के साथ रोजाना की तरह बकरियां चराने के लिए दंताला की पहाड़ी में गई थी। दोपहर में बकरियों को चराते हुए पहाड़ी की तलहटी में रामनारायण कलेक्टर के खेत में पहुंच गई। जहां पर पानी का बड़ा हौज बना हुआ था। गर्मी होने से हौज में पानी भरा देखकर वर्षा और कोमल नहाने के लिए ट्यूब के सहारे नहाने के लिए उतर गई। कुछ देर नहाने के बाद अचानक दोनों बालिकाएं डूबने लगी तो हौज के बाहर खड़ी किरण ने हौज में किनारे के पास नहा रही कोमल का हाथ पकड़कर बाहर खींच लिया। लेकिन वर्षा हौज के बीच में होने से पानी में डूब गई। काेमल व किरण ने शोर मचाया गया तो आसपास में बकरियां चरा रहे ग्वाले मौके पर दौड़कर आए। ग्वालों ने हौज में उतरकर बालिका वर्षा को बाहर निकाला तो बालिका ने दम तोड़ चुकी थी। ग्रामीणों ने इसकी सूचना परिजनों व पुलिस कंट्रोल रूम में दी। सूचना मिलने पर रायसर पुलिस चौकी प्रभारी शिंभूदयाल, जमवारामगढ़ थाना प्रभारी कैलाशचंद्र शर्मा माय जाब्ते के पहुंचे।

लापरवाही ने ली मासूम की जान

रायसर. गोल डूंगरी में पानी का हौज में डूबकर मरी बालिका का शव।

हौज पर नहीं है सुरक्षा के बंदोबस्त

लोगों ने बताया कि पहाड़ी की तलहटी में रामनारायण कलेक्टर के फार्म पर बड़ा हौज बना हुआ है। जिसमें नहाने के लिए ट्यूब भी रखी है। उक्त हौज के सुरक्षा के बंदोबस्त नहीं होने पर कोई यहां नहाने के लिए कूद जाता है। अगर हौज के सुरक्षा के बंदोबस्त होते तो शायद यह हादसा नहीं होता।

एक घंटे तक डॉक्टर का करते रहे इंतजार

पुलिस मृत बालिका के शव को पोस्टमार्टम के लिए रायसर के राजकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में पहुंचे। जहां पर चिकित्सक के छुट्टी पर होने पर पुलिस शव को जमवारामगढ़ सीएचसी में लेकर पहुंची। यहां पर भी डॉक्टर नहीं मिले। मामले की सूचना चिकित्सा विभाग के उच्चाधिकारियों को दी गई। पुलिस और परिजन करीब एक घंटे तक चिकित्सकों के आने का इंतजार करते रहे। करीब एक घंटे बाद कोई चिकित्सक नहीं आने पर आला अधिकारियों ने टोडामीणा पीएचसी के डॉ.अनुज पारीक को मौके पर भेजा। डॉ.अनुज पारीक के आने के बाद मृत बालिका के शव का पोस्टमार्टम हो पाया।

बेटी की मौत की खबर सुनकर बेहोश हो गई मां

घटना की सूचना लगते ही मृत बालिका वर्षा के परिजन मौके पर पहुंच गए। मां धापा देवी भी विलाप करते हुए घटना स्थल की और दौड़ पड़ी। बेटी की मौत से गमजदा मां बेहोश हो गई। जिसको आसपास की महिलाएं संभालकर होश में लाती रही। परिजनों का भी रो रोकर बुरा हाल हो रहा था। पीड़ित मुकेश मीणा के एक बेटी व दो बेटे है। जिनमें वर्षा सबसे छोटी थी, जो 5वीं कक्षा में पढ़ती थी।

गोल डूंगरी में गर्मी से बचाव के लिए हौज में नहाने उतरीं दो बालिकाएं, एक डूबी
गोल डूंगरी में गर्मी से बचाव के लिए हौज में नहाने उतरीं दो बालिकाएं, एक डूबी
X
गोल डूंगरी में गर्मी से बचाव के लिए हौज में नहाने उतरीं दो बालिकाएं, एक डूबी
गोल डूंगरी में गर्मी से बचाव के लिए हौज में नहाने उतरीं दो बालिकाएं, एक डूबी
गोल डूंगरी में गर्मी से बचाव के लिए हौज में नहाने उतरीं दो बालिकाएं, एक डूबी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..