• Hindi News
  • Rajasthan
  • Shahpura
  • प्रवेश से वंचित रहे बच्चों को स्कूल से जोड़ने पर रहेगा विशेष फोकस
--Advertisement--

प्रवेश से वंचित रहे बच्चों को स्कूल से जोड़ने पर रहेगा विशेष फोकस

Shahpura News - कार्यालय संवाददाता |शाहपुरा ग्रीष्मकालीन अवकाश समाप्त होने के बाद मंगलवार से स्कूल खुल खुलेंगे। सवा महीने से...

Dainik Bhaskar

Jun 19, 2018, 06:20 AM IST
प्रवेश से वंचित रहे बच्चों को स्कूल से जोड़ने पर रहेगा विशेष फोकस
कार्यालय संवाददाता |शाहपुरा

ग्रीष्मकालीन अवकाश समाप्त होने के बाद मंगलवार से स्कूल खुल खुलेंगे। सवा महीने से बंद स्कूलों में फिर से रौनक लौटने से बच्चों की किलकारियां सुनाई देगी। इसके साथ ही शिक्षा विभाग का द्वितीय चरण का प्रवेशोत्सव कार्यक्रम का शुभारंभ होगा, जो 30 जून तक चलेगा। प्रवेशोत्सव के पहले चरण में शाहपुरा ब्लॉक में पहली कक्षा से आठवीं तक 286 नये बच्चों ने प्रवेश लिया है। जिनमें 129 बालक एवं 157 बालिकाएं है।

जानकारी के अनुसार गत वर्ष शिक्षा विभाग द्वारा चलाए गए प्रवेशोत्सव कार्यक्रम के कारण नामांकन वृद्धि में उत्साहजनक सफलता मिली थी। कक्षा एक में प्रवेश लेने वाले छात्रों की संख्या 12 तक पहुंचते पहुंचते काफी कम रह जाती है। अर्थात विद्यार्थी अपनी शिक्षा निरंतर नहीं रख पाते है। प्रवेशोत्सव मात्र विद्यालय की एंट्री कक्षा में विद्यार्थी के प्रवेश तक सीमित नहीं है बल्कि यह मध्य की कक्षाओं में ड्रॉप आउट हुए विद्यार्थियों को पुन: शिक्षा की मुख्यधारा में लाए जाने का भी एक प्रयास है। प्रवेशोत्सव अभियान को सफल बनाने के लिए सोशल मीडिया पर भी प्रचार प्रसार कर सकेंगे ताकि अभिभावकों तक सरकारी स्कूलों में सरकार द्वारा दी जा रही सुविधाओं की जानकारी मिली सकें।

प्रवेशोत्सव के तहत कक्षा 1 से नव प्रवेशी बालकों को चिन्हित कर नामांकित करवाना, अध्ययन की निरंतरता हेतु अध्ययन निरंतर नहीं रख पाने वाले छात्र छात्राओं पर विशेष ध्यान देना, ड्रॉप आउट बच्चों को बैक टू स्कूल हेतु कार्ययोजना बनाना, मौसमी पलायन करने वाले बच्चों के लिए सर्व शिक्षा अभियान द्वारा संचालित गैर आवासीय विशेष शिक्षण शिविरों से उत्तीर्ण बच्चों को मुख्यधारा में प्रवेश दिलवाना, माध्यमिक, उच्च माध्यमिक विद्यालयों में अध्ययनरत बालकों को उच्चतम कक्षा पूर्ण होने तक उसी विद्यालय में अध्ययन करवाने के लिए अभिभावकों को प्रेरित करना है।

कार्यालय संवाददाता |शाहपुरा

ग्रीष्मकालीन अवकाश समाप्त होने के बाद मंगलवार से स्कूल खुल खुलेंगे। सवा महीने से बंद स्कूलों में फिर से रौनक लौटने से बच्चों की किलकारियां सुनाई देगी। इसके साथ ही शिक्षा विभाग का द्वितीय चरण का प्रवेशोत्सव कार्यक्रम का शुभारंभ होगा, जो 30 जून तक चलेगा। प्रवेशोत्सव के पहले चरण में शाहपुरा ब्लॉक में पहली कक्षा से आठवीं तक 286 नये बच्चों ने प्रवेश लिया है। जिनमें 129 बालक एवं 157 बालिकाएं है।

जानकारी के अनुसार गत वर्ष शिक्षा विभाग द्वारा चलाए गए प्रवेशोत्सव कार्यक्रम के कारण नामांकन वृद्धि में उत्साहजनक सफलता मिली थी। कक्षा एक में प्रवेश लेने वाले छात्रों की संख्या 12 तक पहुंचते पहुंचते काफी कम रह जाती है। अर्थात विद्यार्थी अपनी शिक्षा निरंतर नहीं रख पाते है। प्रवेशोत्सव मात्र विद्यालय की एंट्री कक्षा में विद्यार्थी के प्रवेश तक सीमित नहीं है बल्कि यह मध्य की कक्षाओं में ड्रॉप आउट हुए विद्यार्थियों को पुन: शिक्षा की मुख्यधारा में लाए जाने का भी एक प्रयास है। प्रवेशोत्सव अभियान को सफल बनाने के लिए सोशल मीडिया पर भी प्रचार प्रसार कर सकेंगे ताकि अभिभावकों तक सरकारी स्कूलों में सरकार द्वारा दी जा रही सुविधाओं की जानकारी मिली सकें।

प्रवेशोत्सव के तहत कक्षा 1 से नव प्रवेशी बालकों को चिन्हित कर नामांकित करवाना, अध्ययन की निरंतरता हेतु अध्ययन निरंतर नहीं रख पाने वाले छात्र छात्राओं पर विशेष ध्यान देना, ड्रॉप आउट बच्चों को बैक टू स्कूल हेतु कार्ययोजना बनाना, मौसमी पलायन करने वाले बच्चों के लिए सर्व शिक्षा अभियान द्वारा संचालित गैर आवासीय विशेष शिक्षण शिविरों से उत्तीर्ण बच्चों को मुख्यधारा में प्रवेश दिलवाना, माध्यमिक, उच्च माध्यमिक विद्यालयों में अध्ययनरत बालकों को उच्चतम कक्षा पूर्ण होने तक उसी विद्यालय में अध्ययन करवाने के लिए अभिभावकों को प्रेरित करना है।

ये रहेगा द्वितीय चरण प्रवेशोत्सव का कार्यक्रम

बीईईओ ब्रजभूषण चौहान ने बताया कि 19 जून को योगा दिवस को लेकर स्टाफ के साथ बैठकर संपूर्ण तैयारी करने एवं द्वितीय चरण के प्रवेशोत्सव की कार्ययोजना बनाए जाएगी। 20 जून को प्रथम चरण में शेष रहे हार्डकोर बच्चों की सूचियां तैयार एवं प्रवेश से वंचित बच्चों को लक्ष्य कर उनके घर जाकर अभिभावकों से संपर्क कर प्रवेश दिलाना, 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने एवं विद्यार्थियों के मध्य खेलकूद गतिविधियों का आयोजन करना एवं वंचित बच्चों से संपर्क करना, 22 जून को विद्यार्थियों के साथ स्टाफ द्वारा स्कूल में साफ सफाई तथा साज सज्जा का कार्य एवं पौधरोपण करवाना, बच्चों के घर कार्ड वितरण करना,23 को ढाले नगाड़ों से प्रवेशोत्सव रैली निकालना, 25 को प्रवेशोत्सव कार्यक्रम मनाकर नूतन प्रवेश लेने वाले बालकों का माल्यार्पण कर स्वागत करना, 26 को मोहल्ला बैठकों के माध्यम से प्रवेश से वंचित बच्चों के अभिभावकों को प्रेरित करना, 27 को रैली निकालना एवं डोर टू डोर संपर्क करना, 28 को भामाशाह जयंती समारोहपूर्वक आयोजित कर बच्चों को पाठ्यसामग्री वितरण करवाना, 29 को अध्यापकों की टोली बनाकर डोर टू डोर संपर्क करना, 30 जून को एसएमसी व एसडीएमसी समिति द्वारा प्रवेशोत्सव के दौरान किए गए कार्यों की समीक्षा एवं उपलब्धियों का प्रचार प्रसार एवं पखवाड़े के अंतर्गत किए गए कार्यों की रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को भेजने का कार्यक्रम है।

X
प्रवेश से वंचित रहे बच्चों को स्कूल से जोड़ने पर रहेगा विशेष फोकस
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..