• Home
  • Rajasthan News
  • Shahpura News
  • स्टेट हाइवे के अमरसर में बहाया 20 क्विं. दूध-सब्जियां सड़क पर फेंकी
--Advertisement--

स्टेट हाइवे के अमरसर में बहाया 20 क्विं. दूध-सब्जियां सड़क पर फेंकी

भास्कर न्यूज | अमरसर/शाहपुरा चौमू अजीतगढ़ स्टेट हाइवे स्थित हनुतिया गांव के बसस्टैंड पर शुक्रवार सुबह भारत बंद...

Danik Bhaskar | Jun 02, 2018, 06:25 AM IST
भास्कर न्यूज | अमरसर/शाहपुरा

चौमू अजीतगढ़ स्टेट हाइवे स्थित हनुतिया गांव के बसस्टैंड पर शुक्रवार सुबह भारत बंद के समर्थन में किसानों ने दूध व सब्जियां फेंककर विरोध जताया। किसानों ने करीब 10 क्विंटल दूध व 10 क्विंटल सब्जियां स्टेट हाइवे पर फेंककर आक्रोश जताया।

किसान नेता धर्मसिंह खोखर ने बताया कि किसानों द्वारा स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने, फसल व सब्जियों का समर्थन मूल्य तय कर खरीद करने, दूध का मूल्य बढ़ाने की मांग को लेकर आंदोलन किया जा रहा है। युकां विधानसभाध्यक्ष प्रवीण व्यास ने कहा कि जब तक किसान जिंदा है तभी भारत जिंदा है और आज किसान को मारने का काम भाजपा सरकार कर रही है। युवा जाट मंच के प्रदेश उपाध्यक्ष धर्मसिंह खोकर ने कहा कि किसान धरती का सीना चीरकर के हर आदमी का पेट भरता है, लेकिन आज किसान मरने के कगार पर है जिसकी कोई सुनवाई नहीं हो रही। रणवीर सेवा समिति अध्यक्ष मेघराज यादव, किसान नेता डॉ.लोकेश चौधरी, शिव मित्र मंडल अध्यक्ष सुरेश बराला, जगदीश पटेल, कानाराम गुर्जर, मनीष गोठवाल, पुष्करसिंह पलसानिया,अशोक कुमार, कमलेश दादरवाल, बाबूलाल चौधरी, शिंभु गुर्जर, प्रमोद शर्मा, हनी बराला आदि मौजूद थे।


किसानों ने बताई परेशानी

बेचे गए माल की कीमत मांगने पर आढ़तिये सब्जी-फल नहीं खरीदते

शाहपुरा फल सब्जी मंडी निदेशक मोतीलाल यादव ने बताया कि शाहपुरा मंडी में आढतिया किसानों से पहले दिन माल ले लेते है और दूसरे दिन भुगतान कर रहे है। किसान बाबूलाल गुर्जर, रामकुंवार यादव ने बताया कि आढ़तियों को माल खरीदने के तुरंत बाद ही भुगतान मांगने पर खरीदने से इनकार कर देते हैं। किसानों को लागत भी नहीं आ पा रही है।

धौला. दन्ताला गुजरान में किसानों की समस्याओं पर चर्चा करते युवा किसान नेता झनेश मीना।

चेतावनी : फल सब्जी मंडी निदेशक मोतीलाल यादव व किसानों ने बताया कि शीघ्र मंडी में व्यवस्था में सुधार नहीं किया गया तो विरोध प्रदर्शन किया जाएगा।

बस्सी में किसानों ने गांवों में रोक दिए सब्जी और दूध

बस्सी |
यहां किसानों ने शुक्रवार से अपने अनूठे गांव बंद अभियान को शुरू कर दिया। बस्सी क्षेत्र में भी अन्नदाताओं की इस मुहिम का आंशिक असर देखने को मिला। उपखण्ड के कई गांवों में किसानों ने अपनी उपज शहरों में नहीं भेजी। वहीं कई जगहों पर किसानों के दूध एवं सब्जियां शहर व डेयरियों में भेजने की बजाय गांव में ही बर्बाद कर दी।

फालियावास में डेयरी संग्रहण केंद्र बंद रहे

फालियावास |
आसपास इलाकों में किसानों ने अपनी मांगों को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। फालियावास, गुढावास, खिजुरिया अहिरान सहित आस पास के गांवों में डेयरी संग्रहण केन्द्र बंद रहे। दूध सड़क पर बहाया।

सांभरिया में किसानों ने किया प्रदर्शन

सांभंरिया |
क्षेत्र के अभयपुरा गांव में ठाकुरों की ढाणी के पास स्थित सरस डेयरी पर सुबह क़र्ज़ माफ़ी और फ़सलों का उचित दाम नहीं मिलने से नाराज़ किसानों ने दूध बहा कर विरोध जताया।