Hindi News »Rajasthan »Shahpura» डम्पर की टक्कर से पिता-पुत्र की मौत

डम्पर की टक्कर से पिता-पुत्र की मौत

दौसा मनोहरपुर नेशनल हाइवे पर रतनपुरा गांव के पास छांदोलाई मोड़ पर शुक्रवार दोपहर में डम्पर की टक्कर से बाइक पर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 23, 2018, 06:35 AM IST

  • डम्पर की टक्कर से पिता-पुत्र की मौत
    +2और स्लाइड देखें
    दौसा मनोहरपुर नेशनल हाइवे पर रतनपुरा गांव के पास छांदोलाई मोड़ पर शुक्रवार दोपहर में डम्पर की टक्कर से बाइक पर सवार पिता-पुत्र की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि मृतक की प|ी व पुत्री घायल हो गई। घटना के बाद चालक डम्पर छोड़कर फरार हो गया।

    ग्रामीणों ने घायल मां-बेटी को इलाज के लिए चंदवाजी निम्स अस्पताल भर्ती कराया। सूचना मिलने पर शाहपुरा कार्यवाहक डीएसपी महेन्द्र पारीक व मनोहरपुर थाना प्रभारी नरेन्द्र भडाणा ने मौके पर पहुंचकर घटना की जानकारी ली।

    मनोहरपुर थाना प्रभारी भडाणा ने बताया कि बिवाई तहसील बसवा जिला दौसा निवासी बलराम (28) पुत्र बाबूलाल भांड, अपनी प|ी मंजू (25), पुत्र इमरान उर्फ सूरज (8) एवं पुत्री स्वाना (6) के साथ बाइक से करीरी (अमरसर) स्थित ससुराल जा रहा था कि दौसा मनोहरपुर हाइवे पर रतनपुरा ग्राम के पास छांदोलाई मोड़ पर पीछे से तेज गति में आ रहे डम्पर ने बाइक को टक्कर मार दी। डम्पर के नीचे आने से बलराम व उसके बेटे इमरान उर्फ सूरज की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि उसकी प|ी मंजू व पुत्री सुहाना घायल हो गई।

    गठवाड़ी. घटना स्थल पर मौजूद पुलिस।

    रोज हो रहे हादसे

    पुलिस ने शवों का निम्स अस्पताल में पोस्टमार्टम करा परिजनों को सौंप दिया। वहीं घायलों का उपचार जारी है। पुलिस ने घटनास्थल से दुर्घटनाग्रस्त दोनों वाहनों को जब्त कर लिया। डम्पर पर ऑन ड्यूटी एनएचएआई, आउटर रिंग रोड, जयपुर का स्टीकर लगा है।

    डिवाइडर बने तो बच सकती हैं जानें

    हाइवे के नवीनीकरण के बाद सड़क हादसे बढ़ते जा रहे है। पिछले दो महीनों में आंधी से मनोहरपुर के बीच सड़क हादसों में आधा दर्जन से अधिक लोग अपनी जान गंवा चुके हैं तथा कई लोग घायल हो चुके हैं। लोगों ने हाइवे के बीच में डिवाइडर बनवाने व वाहनों की तेज गति पर नियंत्रण की मांग की है।

    गठवाड़ी. क्षतिग्रस्त बाइक।

    कुशलपुरा में पट्टियां टूटी, बच्ची की मौत

    कमरे में बंधी बकरियां भी काल का ग्रास बनी

    रायसर. कमरे की टूटी पत्तियों व मरी बकरियां को देखते ग्रामीण।

    रायसर|कुशलपुरा गांव में एक कमरे में बकरियां बांधने गई बालिका की पट्टियां टूट कर गिरने से मौत हो गई। हादसे में कमरे में बंधी पांच बकरियों की भी मृत्यु हो गई।

    कस्बा स्थित स्वास्थ्य केंद्र के डॉक्टरों ने बालिका की स्थिति गंभीर देखते हुए जयपुर रेफर कर दिया जहां उसने दम तोड़ दिया। जानकारी के अनुसार शुक्रवार सायं 6:30 बजे रायसर ग्राम पंचायत स्थित कुशलपुरा गांव में एक 12 वर्षीय बालिका पुष्पा मीना पुत्री सोपाल मीना अपनी बकरियों को चरा कर घर लौटी और उनको कमरे में बांधने के लिए चली गई और अचानक कमरे की पट्टियां टूटकर पुष्पा एवं बकरियों पर गिर गई, जिसमें बालिका की दबने से मौत हो गई। और बकरियां दब कर मर गई, पट्टियां टूटने कि आवाज सुन कर परिजन व आसपास के लोग भागकर बालिका को बाहर निकाला तो बालिका के सिर व हाथ पैरों में गहरी चोट लगने के कारण बालिका बेहोश हो चुकी थी, जिसको परिजनों ने कस्बा स्थित अस्पताल में ले जाकर डॉक्टर को दिखाया परंतु पुष्पा की हालत गंभीर देखते हुए डॉक्टर ने उसे जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल में रेफर कर दिया जहां डॉक्टरों ने पुष्पा का उपचार शुरू कर दिया जहां उसकी मौत हो गई।

  • डम्पर की टक्कर से पिता-पुत्र की मौत
    +2और स्लाइड देखें
  • डम्पर की टक्कर से पिता-पुत्र की मौत
    +2और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shahpura

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×