Hindi News »Rajasthan »Shahpura» रुक्मिणी विवाह की जीवंत प्रस्तुति

रुक्मिणी विवाह की जीवंत प्रस्तुति

बांसखो| कस्बे में व्यास जी बगीची में चल रही श्रीमद् भागवत कथा ज्ञान यज्ञ सप्ताह पर शनिवार को श्रीकृष्ण- रुक्मिणी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 10, 2018, 06:35 AM IST

रुक्मिणी विवाह की जीवंत प्रस्तुति
बांसखो| कस्बे में व्यास जी बगीची में चल रही श्रीमद् भागवत कथा ज्ञान यज्ञ सप्ताह पर शनिवार को श्रीकृष्ण- रुक्मिणी विवाह की जीवंत प्रस्तुति बाल व्यास पंडित योगेंद्र भारद्वाज ने दी। समाज के लोगों ने भगवान श्रीकृष्ण की बारात में बाजे गाजे के साथ बाराती बने महिलाएं पुरुष युवक युवतियों ने आकर्षक नृत्य की प्रस्तुति दी। बारात कस्बे के विभिन्न मार्गों से निकलकर बारात कथा स्थल पहुंची। श्रीकृष्ण व रुक्मिणी के विवाह का मंचन किया गया। इस अवसर पर श्रीकृष्ण की बारात गाजे.बाजे के साथ निकाली गई। भक्तों द्वारा विवाह के दौरान कन्यादान का कार्यक्रम रखा गया। इसमें भक्तों ने स्वेच्छा से कन्यादान किया।

ध्वजा यात्रा निकाली

छापुड़ा खुर्द| कस्बे के हनुमानजी के मंदिर में शनिवार को ध्वजा यात्रा निकाली गई। यात्रा छापुड़ा कला की ढाणी डेरा की से नगर भ्रमण करती हुई मंदिर परिसर पहुंची। इस दौरान यात्रा में महिला व पुरुषों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया । मन्दिर कमेटी के कार्यकर्ताओं मूलचंद शर्मा, भीवाराम, महेश स्वामी, ओम प्रकाश, ने बताया की मंदिर में तीन दिवसीय रामायण पाठ का आयोजन किया जा रहा है। साथ ही रविवार को विशाल भंडारे का आयोजन किया जाएगा। इस दौरान रविवार को दिन में माहसी कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा।

कलश यात्रा में सैलाब

भाबरु | रंग बिरंगे परिधान पहने सैकड़ों की संख्या में सिर पर कलश रखकर चलती महिलाएं। पीछे से गुजरता पुरुषों का निशान पदयात्रा का कारवां। भजनों पर थिरकते श्रद्धालु। आसमान में गूंजते तेजाजी महाराज के जयकारे।

8.11लाख आहुतिया

बागावास चौरासी | चतरपुरा स्थित संत कुटिया भजन आश्रम में महंत महावीर दास जी महाराज व यज्ञ आचार्य पंडित रामप्रकाश वशिष्ठ के सानिध्य में चल रहे नौ दिवसीय 51 कुंडीय श्रीराम महायज्ञ में शनिवार को 8.11 लाख आहुतियां दी। महंत महावीर दास जी महाराज ने बताया कि रविवार को त्रिवेणी धाम के संत शिरोमणि नारायण दास जी महाराज भी पधारेंगे। आचार्य रामप्रकाश वशिष्ठ व उपाचार्य जयराम शास्त्री ने बताया कि धर्म के बिना मोक्ष प्राप्ति नहीं होती है,अतः लोगों को मोह माया से हटकर धर्म के प्रति भी आस्था रखनी चाहिए।

शाहपुरा | शहर के चौपड़ बाजार स्थित गोपीनाथ मंदिर में चल रहीं श्रीमदभागवत कथा के पांचवे दिन शनिवार को गोवर्धन पर्वत उठाने की लीला का मंचन किया गया। कथा में कथावाचक पंडित नरेन्द्र पाराशर ने कहा कि मनुष्य अपने कर्म के द्वारा ही जन्म लेता है ओर कर्मों के द्वारा ही मृत्यु को प्राप्त होता है।

भाबरु. कस्बे के मुख्य मार्ग से गुजरती हुई कलश यात्रा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shahpura

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×