• Home
  • Rajasthan News
  • Shahpura News
  • बेटा न होने का निभाया फर्ज, मां की चिता को मुखाग्नि दी बेटी ने
--Advertisement--

बेटा न होने का निभाया फर्ज, मां की चिता को मुखाग्नि दी बेटी ने

शाहपुरा| बिदारा ग्राम में मंगलवार को बेटियों ने एक बार फिर पुरुष प्रधान समाज को आईना दिखाते हुए बेटा नहीं होने की...

Danik Bhaskar | May 23, 2018, 06:40 AM IST
शाहपुरा| बिदारा ग्राम में मंगलवार को बेटियों ने एक बार फिर पुरुष प्रधान समाज को आईना दिखाते हुए बेटा नहीं होने की वजह से बेटी ने फर्ज निभाते हुए मुखाग्नि देकर मां का अंतिम संस्कार किया। इस दौरान श्मशान में मौजूद हर शख्स की आंखों में आंसू छलक गए। बिदारा निवासी शंकर लाल बोहरा की प|ी मीना देवी (45) पिछले छह माह से बीमार चल रही थी। कुछ दिनों पहले स्वास्थ्य ज्यादा खराब होने के बाद उन्हें जयपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। सामाजिक कार्यकर्ता पूरणमल बुनकर ने बताया कि मृतकों के केवल दो बेटियां ही है बेटा नहीं है। बड़ी बेटी किरण स्नातक एवं छोटी बेटी बबली 12वीं में पढ़ाई कर रही है। मां का निधन हो जाने पर दोनों बेटियों ने मां की अर्थी को कंधा देकर श्मशान तक पहुंची, जहां पर पिता की उपस्थिति में बड़ी बेटी किरण ने चिता को मुखाग्नि देकर मां का अंतिम संस्कार किया। यह देखकर श्मशान में मौजूद हर व्यक्ति की आंखें भर आई।

शाहपुरा. मां की चिता को मुखाग्नि देती बेटियां।