--Advertisement--

कलेक्टर कार्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन का निर्णय

कार्यालय संवाददाता| शाहपुरा पंचायतीराज मंत्रालयिक और मनरेगा कार्मिकों ने मांगों को लेकर चला रखे आंदोलन की...

Danik Bhaskar | May 23, 2018, 06:40 AM IST
कार्यालय संवाददाता| शाहपुरा

पंचायतीराज मंत्रालयिक और मनरेगा कार्मिकों ने मांगों को लेकर चला रखे आंदोलन की सफलता के लिए मंगलवार को 22 वें दिन अपने-अपने क्षेत्र की पंचायत समिति कार्यालयों के सामने लोगों को शीतलपेय पिलाकर दुआए मांगी। मंत्रालयिक कार्मिकों ने मांगें नहीं मानी जाने पर 24 मई से पंचायत समिति एवं ग्राम पंचायत कार्यालयों के सभी कार्यों का बहिष्कार करने की भी चेतावनी दी। इधर, मनरेगाकर्मिकों का मांगों को लेकर 22 दिन से कार्यों का बहिष्कार जारी है।

मंत्रालयिक कार्मिकों ने बताया कि गुरुवार से मांगें नहीं मानी जाने तक अनिश्चितकालीन कार्यों का बहिष्कार किया जाएगा। इसमें पंचायत समिति, जिला परिषद् और ग्राम पंचायत कार्यालयों में नियुक्त मंत्रालयिक कर्मचारी शामिल रहेंगे। इस दिन जिला कलेक्टर कार्यालय के बाहर शांतिपूर्ण प्रदर्शन भी किया जाएगा। ब्लॉक अध्यक्ष अशोक कुमार मीणा, उपाध्यक्ष मंजू गुर्जर, महामंत्री ओमप्रकाश चौधरी ने बताया कि मंत्रालयिक कार्मिकों ने पंचायती राज संस्थाओं में मंत्रालयिक संवर्ग के स्वीकृत पदों के विरूद्ध कैडर स्ट्रेन्थ रिवाइज करने, कनिष्ठ लिपिक भर्ती 2013 में शेष रहे पदों पर भर्ती प्रक्रिया पूरी करने, गृह जिले में स्थानांतरण के संबंध में नियमों में व्यवस्था करने, अनुकम्पात्मक नियुक्ति के तहत लगे कनिष्ठ लिपिकों को टंकण परीक्षा से राहत प्रदान करने की मांग की जा रही है लेकिन सुनवाई नहीं हो रही है। पंचायत समिति में मंत्रालयिक कर्मचारी ओमप्रकाश चौधरी, मातादीन मीना, सुरेश सैनी, संगीता जाट, शीला वर्मा, अजय कुमार, संतोष कुमार, मुक्तिलाल, पूरण वर्मा, मंजू गुर्जर, सावित्री तक्षक, बाबूलाल शर्मा ने आमजन को राहत पहुंचाने के लिए शीतलपेय पिलाकर आंदोलन की सफलता की दुआए मांगी। इधर, संविदा पर मनरेगा में नियुक्त कार्मिकों के कार्य का बहिष्कार भी जारी है।