• Home
  • Rajasthan News
  • Shahpura News
  • पहले से तय था- मंच पर चुनाव लड़ने वाले दावेदार नहीं बैठेंगे फिर मंच पर संदीप चौधरी क्यों चढ़े? जानलेवा हमले का केस
--Advertisement--

पहले से तय था- मंच पर चुनाव लड़ने वाले दावेदार नहीं बैठेंगे फिर मंच पर संदीप चौधरी क्यों चढ़े? जानलेवा हमले का केस

कार्यालय संवाददाता | शाहपुरा कांग्रेस के शाहपुरा विधानसभा क्षेत्र के मेरा बूथ-मेरा गौरव कार्यक्रम में...

Danik Bhaskar | May 26, 2018, 06:45 AM IST
कार्यालय संवाददाता | शाहपुरा

कांग्रेस के शाहपुरा विधानसभा क्षेत्र के मेरा बूथ-मेरा गौरव कार्यक्रम में शुक्रवार को जमकर हंगामा हुआ। राष्ट्रीय प्रवक्ता संदीप चौधरी के साथ मारपीट के बाद पूरे कार्यक्रम में हंगामा होता रहा। पांडाल में कुर्सियां फेंकी गई, गाड़ियों के शीशे तोड़े गए। एक दूसरे के गिरेबां पकड़े गए। समझाइश के बाद मामला शांत तो हुआ, लेकिन इसकी गूंज पीसीसी और थाने तक पहुंची। ब्लॉक अध्यक्ष राजकुमार जाट ने संदीप चौधरी पर जानलेवा हमले, सोने की चेन और नकदी छीनने का मामला दर्ज कराया है।

कार्यक्रम में विवाद की वजह स्थानीय नेताओं में गुटबाजी रही। इस कार्यक्रम को लेकर स्थानीय नेताओं के बीच यह तय हो गया था-मंच पर सिर्फ अतिथि और वरिष्ठ नेता ही बैठेंगे। लोकल लीडर व चुनाव लड़ने की दावेदारी करने वाला कोई व्यक्ति मंच पर नहीं बैठेगा। इस बीच राष्ट्रीय प्रवक्ता और शाहपुरा से चुनाव लड़ने की दावेदारी कर रहे संदीप चौधरी मंच पर चढ़ने लगे, तभी उन्हें रोक दिया गया। इस पर विवाद शुरू हुआ। पहले धक्का-मुक्की हुई, गाली-गलौज और मारपीट शुरू हो गई। समर्थक आपस में उलझते रहे।

पीसीसी सदस्य आलोक बेनीवाल के इशारे पर समर्थकों ने मेरे साथ की मारपीट : संदीप चौधरी

शाहपुरा. मेरा बूथ मेरा गौरव कार्यक्रम में कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता से मारपीट करते कार्यकर्ता।

शाहपुरा. कांग्रेस के मेरा बूथ मेरा गौरव कार्यक्रम में अतिथियों के मंच पर आते ही पीसीसी सदस्य आलोक बेनीवाल के समर्थन में नारे लगाते हुए कांग्रेसी कार्यकर्ता।

मेरे इशारे पर मारपीट का आरोप बेबुनियाद है। शोर-शराबा होने पर मुझे पता चला : आलोक बेनीवाल

यह घटना निंदनीय है। जांच करवाकर दोषियों पर कार्रवाई करेंगे : राजेंद्र यादव, अध्यक्ष देहात

सियासत की स्थानीय तस्वीर

शाहपुरा विधानसभा क्षेत्र से दावेदारी ही विवाद और मारपीट की बड़ी वजह

ये दावेदारी ही विवाद की वजह शाहपुरा विधानसभा क्षेत्र से टिकट को लेकर दावेदारी ही विवाद की वजह मानी जा रही है।

1. संदीप चौधरी राष्ट्रीय प्रवक्ता है। काेटपूतली निवासी होने के बाद भी वो शाहपुरा से दावेदारी कर रहे हैं।

2. शाहपुरा के रहने वाले पूर्व राज्यपाल कमला बेनीवाल के पुत्र आलोक बेनीवाल भी शाहपुरा से दावेदारी जता रहे हैं।

3. बी-ब्लॉक अध्यक्ष राजकुमार जाट की नियुक्ति में संदीप चौधरी की अहम भूमिका रही।

ऐसे हुआ विवाद

शाही बाग गार्डन में कांग्रेस पार्टी का शाहपुरा विधानसभा क्षेत्र का मेरा बूथ मेरा गौरव कार्यक्रम में सवेरे करीब 10:30 बजे कार्यकर्ता पहुंचना शुरू हो गए थे। राजस्थान प्रभारी अविनाश पांडे, सह प्रभारी देवेंद्र यादव के सुबह 11:30 बजे मंच पर पहुंचे ही थे। यहां पीसीसी सदस्य आलोक बेनीवाल के कार्यकर्ता उनके समर्थन में नारे लगा रहे थे तभी कार्यक्रम में अपने समर्थकों के साथ पीसीसी सदस्य एवं राष्ट्रीय कांग्रेस प्रवक्ता संदीप चौधरी भी पहुंच गए। जैसे ही मंच पर चढ़ने लगे तो वहां खड़े कार्यकर्ताओं ने संदीप चौधरी को मंच पर नहीं चढ़ने दिया।

एफआईआर : बेनीवाल के इशारे पर 50 लोगों ने मारपीट की

जेब से 25 हजार निकाले, गले से सोने की चेन तोड़ी

शाहपुरा ब्लॉक अध्यक्ष राजकुमार जाट ने थाने में जानलेवा हमले का मामला दर्ज करवाया है। दर्ज रिपोर्ट के मुताबिक पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं पीसीसी सदस्य संदीप चौधरी के साथ मेरा बूथ मेरा कार्यक्रम में मंच पर जा रहा था। तभी पीसीसी सदस्य आलोक बेनीवाल के इशारे पर बंशीधर सैनी और सुरेश हरितवाल समेत करीब 50 लोगों ने उसको और राष्ट्रीय प्रवक्ता के साथ मारपीट की। उसकी जेब में रखे 25 हजार रुपए निकाल लिए और गले से सोने की चेन भी तोड़ ली।

अलग-अलग जुलूस में पहुंचे कार्यकर्ता गुटबाजी के चलते कांग्रेस कार्यकर्ता अलग -अलग गुटों में बंटे हुए थे। जयपुर तिराहे के समीप से राष्ट्रीय प्रवक्ता संदीप चौधरी, मंडी तिराहे के पास किसान नेता प्रभु चौधरी, व्यास भवन के सामने युकां विधानसभा अध्यक्ष प्रवीण व्यास, एनएसयूआई के पूर्व राष्ट्रीय सचिव मनीष यादव के नेतृत्व में खोरी रोड से जुलूस के रूप में कार्यक्रम स्थल तक पहुंचे।