--Advertisement--

पत्नी को पसंद नहीं आया घर आना पति को दोस्त ने ही मारकर जलाया

भोजपुर तालाब के पेटे में मिली अधजली लाश के मामले का गुरुवार को पुलिस ने खुलासा किया। पुलिस ने हत्या के आरोप में एक...

Dainik Bhaskar

Apr 27, 2018, 06:45 AM IST
पत्नी को पसंद नहीं आया घर आना पति को दोस्त ने ही मारकर जलाया
भोजपुर तालाब के पेटे में मिली अधजली लाश के मामले का गुरुवार को पुलिस ने खुलासा किया। पुलिस ने हत्या के आरोप में एक आरोपी को गिरफ्तार किया। मृतक की प|ी को दोस्त का उसके घर आना-जाना पसंद नहीं था। इस पर पति ने दोस्त को घर आने के लिए ना कर दिया। इसके बाद से आरोपी रंजिश रखने लगा। मुख्य आरोपी गोपालसिंह की तलाश में पुलिस राजस्थान, मध्य प्रदेश और गुजरात में दबिश दे रही है।

थानाधिकारी देरावर सिंह भाटी ने बताया कि गत दिनों भोजपुर के तालाब के पेटे में अधजली लाश मिली थी। जिसकी शिनाख्त राजू उर्फ सलीम पुत्र पप्पू उर्फ शकूर निवासी जलोदा जिला प्रतापगढ़ के रूप में की गई। पहचान मृतक के पिता पप्पू उर्फ शकूर और पत्‍‌नी नाजमीन ने की थी। एसपी प्रदीप मोहन शर्मा ने एएसपी रामजीलाल चंदेल, डीएसपी सुरेश सांवरिया और सीआई देरावर सिंह भाटी की अगुवाई में टीम बनाई। जांच में पता चला कि हत्या का मुख्य आरोपी गोपाल सिंह पुत्र गोविंद सिंह चारण निवासी भोजपुर जिला प्रतापगढ़ है। उसका सलीम के घर आना जाना था जो सलीम की प|ी को पसंद नहीं था। इसका सलीम की प|ी ने विरोध किया। सलीम ने गोपाल का घर आना-जाना बंद करवा दिया। इसके बाद गोपाल सलीम से रंजिश रखने लगा। उसने अपने साथी नानालाल सेन के साथ सलीम की हत्या की योजना बनाई।

नाना लाल

विजयपुर के नानालाल के साथ बनाई सलीम को रास्ते से हटाने की योजना... आरोपी गोपाल सिंह चारण जालौर से भैंसें खरीद कर लाता और भीलवाड़ा, चित्तौड़गढ़ और आस-पास के क्षेत्र में बेचता था। सलीम बतौर ड्राइवर उसकी गाड़ी भी चलाता था। सलीम गोपाल को घर आने से मना करता था। इस पर गोपाल सिंह ने उसे रास्ते से हटाने की योजना बनाई। योजना में विजयपुर निवासी धर्म भाई नाना लाल सेन को शामिल किया। विजयपुर में ही गोपाल सिंह का मकान और जमीन थी। इसलिए उसकी और नाना लाल की नजदीकी हो गई थी। 9 अप्रैल की रात वह विजयपुर आया और नाना लाल को योजना बताई।

रुपए देने के बहाने चित्तौड़ बुलाया, कार से भोजपुर ले गए और हत्या कर दी... सलीम ने गोपाल सिंह को फोन कर पैसे की आवश्यकता जताई। गोपाल सिंह ने उसे चित्तौड़गढ़ पैसे देने के लिए बुलाया। इसी बहाने उसे गाड़ी में बिठाकर गोपाल सिंह और नाना लाल भीलवाड़ा ले आए। भीलवाड़ा से कोटड़ी होकर तीनों भोजपुर पहुंचे, जहां देर रात तालाब के किनारे सुनसान जगह देखकर गोपाल सिंह ने सलीम पर धारदार हथियार से वार किया और पेट्रोल छिड़ककर आग लगाकर फरार हो गए।

X
पत्नी को पसंद नहीं आया घर आना पति को दोस्त ने ही मारकर जलाया
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..