--Advertisement--

हड़ताल से ठप मनरेगा के काम

भीलवाड़ा | महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार योजना (मनरेगा) के कर्मचारियों ने शुक्रवार को पांचवे दिन भी...

Danik Bhaskar | May 05, 2018, 06:55 AM IST
भीलवाड़ा | महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार योजना (मनरेगा) के कर्मचारियों ने शुक्रवार को पांचवे दिन भी सामूहिक अवकाश रखा। रोजगार सहायक, पंचायत समिति पर सहायक कार्यक्रम अधिकारी, लेखा सहायक, एमआईएस मैनेजर, कनिष्ठ तकनीकी सहायक एवं कंप्यूटर ऑपरेटर ने भी पंचायतीराज की योजनाओं के कार्यों का बहिष्कार किया। पंचायत समिति प्रधान को ज्ञापन सौंप कर पंचायतीराज विभाग में राजस्थान अधीनस्थ सेवा भर्ती 4900 व कनिष्ठ लिपिकों के 19500 पदों पर भर्ती प्रक्रिया प्रारंभ करने मांग की। शाहपुरा ब्लाक अध्यक्ष महावीर सिंह ने बताया की पंचायत समिति के सभी संविदा कार्मिकों विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल को ज्ञापन सौंप कर भर्ती प्रक्रिया प्रारंभ करवाने की मांग की। शाहपुरा मुख्यालय पर धरने पर बैठे कार्मिक राजेश लूणावत, पवन चंदेल, गोपाल, नंदलाल व अन्य कार्मिकों ने विधानसभा अध्यक्ष के सामने अपनी पीड़ा रखी। मांडलगढ़ के मनरेगा कार्मिकों के हड़ताल पर होने से पंचायत समिति की व्यवस्था चरमरा गई है। भरत देवड़ा व राधेश्याम अहीर ने ज्ञापन सौपा।


हड़ताल का सीधा असर श्रमिक नियोजन पर पड़ा है। 332 मस्टररोल 15 दिन की अवधि पार कर गए हैं। श्रमिकों को भुगतान नहीं हो रहा। पंचायत समितियों पर कार्यरत सभी कनिष्ठ तकनीकी सहायकों के अवकाश पर होने से काम का नाप नहीं हो पा रहा है। 10-10 वर्षों से काम कर रहे संविदा कार्मिकों के भविष्य के साथ सरकार कुठाराघात कर रही है।