Hindi News »Rajasthan »Shahpura» सवाल: नीट में कम नंबर आने पर क्या कर सकते हैं? जवाब: फार्मा और पैरा मेडिकल कोर्स करने से भी अच्छी नौकरी मिल सकती है

सवाल: नीट में कम नंबर आने पर क्या कर सकते हैं? जवाब: फार्मा और पैरा मेडिकल कोर्स करने से भी अच्छी नौकरी मिल सकती है

Bhaskar News Network | Last Modified - May 11, 2018, 06:55 AM IST

कविता, आजाद नगर

 मेरे बेटे ने नीट दी है, अगर नहीं होता है तो क्या विकल्प हैं?

 फार्मा, डेयरी टेक्नोलॉजी, एमबीए करा सकते हैं। पैरामेडिकल स्टाफ के लिए जरूरी कोर्स करा सकते हैं। प्रदेश में एएनएम के 33 सरकारी संस्थान हैं जहां 1590 सीटें हैं। जीएनएम के लिए सरकारी 16 संस्थानों में 960 सीट हैं। बीएससी नर्सिंग के 9 सरकारी संस्थानों में 540 सीटें उपलब्ध हैं। इनके अलावा जीएनएम के निजी संस्थान 142 व बीएससी नर्सिंग के 136 संस्थान हैं।

बंशीलाल, बनेड़ा

 मेरे बेटे ने 12वीं कला संकाय से दी है। क्या मेडिकल में कॅरिअर बना सकता है?

 जीएनएम के लिए कुछ वक्त पहले तक कला संकाय वाले को भी लिया जाता था। अब प्राथमिकता साइंस वालों को ही दी जाती है। सारी सीटें साइंस स्ट्रीम वालों से ही भर जाती है। अगर किसी निजी संस्थान में सीट खाली हो तो आप कोशिश कर सकते हैं।

दुर्गाशंकर, बिजौलिया

 बेटा बीएससी नर्सिंग कर रहा है। आगे क्या करें?

 आगे पढ़ना चाहता है तो एमएससी नर्सिंग करे। जीएनएम, ट्यूटर आदि के लिए सरकारी भर्तियों के लिए आवेदन कर सकता है।

विमला, पांसल

 मुझे एएनएम बनना है, क्या करूं?

 एएनएम बनने के लिए 12वीं किसी भी स्ट्रीम से होना चाहिए। इसके बाद चिकित्सा विभाग से निकली विज्ञप्ति के आधार पर आवेदन कर सकते हैं। मेरिट के आधार पर एडमिशन होता है।

गोपाल कुमावत, शाहपुरा, विजय कुमार

 बेटे को बीएससी नर्सिंग करानी है, क्या करें?

 राजस्थान यूनिवर्सिटी ऑफ हैल्थ साइंसेज प्रवेश परीक्षा लेगी। प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन जुलाई-अगस्त में विज्ञप्ति जारी होने पर करें।

सुरेंद्रपाल सिंह, माताजी का खेड़ा

 बीएससी नर्सिंग के लिए कितनी सीट हैं?

 1 सरकारी व 8 पीपीपी मोड पर संचालित नर्सिंग संस्थान हैं जो बीएससी नर्सिंग कोर्स कराते हैं। इनमें कुल 540 सीट हैं। इनके अलावा 136 निजी संस्थान भी प्रदेशभर में हैं।

आकाश सिंह, भीलवाड़ा

 बेटी ने 12वीं कला संकाय से की है। क्या नर्स बन सकती हैं?

 सिर्फ एएनएम बन सकती हैं।

भगवती प्रसाद शर्मा, भीलवाड़ा

 बेटे ने नीट दिया है, 200 अंक मिलने की संभावना है, क्या कर सकेंगे?

 सरकारी मेडिकल कॉलेज में संभवत: 515-520 अंक पर ही प्रवेश होगा। इसलिए 200 अंक पर सरकारी कॉलेज मिलना मुश्किल है। आप एक साल और तैयारी कराकर नीट दिला सकते हैं। पैरामेडिकल कोर्स के लिए प्रयास भी कर सकते हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shahpura

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×