• Home
  • Rajasthan News
  • Shahpura News
  • खुश हाेइए! जवानपुरा बांध में 18 साल बाद आया पानी, नींझर-रामपुरा-निमली बांध का जलस्तर भी बढ़ा
--Advertisement--

खुश हाेइए! जवानपुरा बांध में 18 साल बाद आया पानी, नींझर-रामपुरा-निमली बांध का जलस्तर भी बढ़ा

18 साल से प्यासे शाहपुरा उपखंड क्षेत्र के सबसे बड़े जवानपुरा धाबाई बांध की प्यास गुरुवार सवेरे हुई बारिश से बुझी।...

Danik Bhaskar | Jul 13, 2018, 07:00 AM IST
18 साल से प्यासे शाहपुरा उपखंड क्षेत्र के सबसे बड़े जवानपुरा धाबाई बांध की प्यास गुरुवार सवेरे हुई बारिश से बुझी। पहली बार पानी की आवक डेड एरिया में आया है। इससे आसपास क्षेत्र के किसानों के चेहरे पर खुशी की लहर दिखाई दी। क्षेत्र में हुई मानसून की अच्छी बारिश से त्रिवेणीधाम में भी अजीतगढ़ की धाराजी की पहाड़ियों से निकलने वाली त्रिवेणी नदी में भी पानी की अच्छी आवक हुई। नींझर बांध में एक मीटर एवं रामपुरा बांध (आंतेला) में रिकार्ड 8.5 फुट, नीमली बांध में 6.5 फुट पानी की आवक हुई है।

क्षेत्र में बुधवार देर रात से शुरू हुई जोरदार बारिश के कारण आसपास के गांवों में खेत व नदी नाले पानी से लबालब भर गए। कई जगहों पर छोटे-मोटे एनिकट टूट कर बह गए। क्षेत्र के कई तालाब, बांध एवं नदियों में पानी आया है। जवानपुरा धाबाई बांध में 18 साल बाद पानी की आवक हुई जिसे देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग पहुंचे। सरपंच गोपाल शर्मा ने बताया कि ऐसे ही बारिश होती रही तो यह बांध भर सकता है।

सिंचाई विभाग के एईएन यशवीर सिंह ने बताया कि बढ़िया बारिश होने से एनिकट, तालाब एवं बांधों में भी पानी की आवक हुई है। इससे किसानों को फायदा मिलेगा और जल स्तर भी बढ़ेगा।


2001 के बाद आया पानी सिंचाई विभाग के एईएन यशवीर सिंह ने बताया कि जवानपुरा धाबाई बांध के डेड एरिया में ही पानी आया है। गेज पट्‌टी तक पानी नहीं पहुंचा है। जवानपुरा धाबाई लघु सिंचाई परियोजना के तहत 2001 में साबी नदी पर जवानपुरा धाबाई बांध का निर्माण करवाया गया था।

नींझर बांध में एक मीटर एवं रामपुरा बांध में 8.5 फुट पानी

नींझर बांध

छापुड़ा टटेरा क्षेत्र में जोरदार बारिश होने से नींझर बांध में पानी की जबरदस्त आवक हुई। इसमें भी 2003 में बनने के बाद पहली बार पानी की आवक हुई है। बांध में 1 मीटर पानी की आवक हुई। आंतेला के रामपुरा बांध में भी पानी की जबरदस्त आवक हुई। एईएन ने बताया कि इस क्षेत्र में पिछले दो दिन से अच्छी बारिश का दौर चल रहा है। रामपुरा बांध की भराव क्षमता 12 फुट है। इसमें 8.5 फुट पानी की आवक दर्ज की गई। नीमली बांध में 6.5 फुट पानी की आवक हुई जबकि इसकी भराव क्षमता 13 फुट है। पानी से भरे बांध को देखकर लोगों ने खुशी जताई।

जवानपुरा धाबाई बांध

गेज 2.2 मीटर

क्षमता 116.27 एमसीएफटी

लंबाई 2160 मीटर

स्रोत

त्रिवेणीधाम, छापुड़ा, रामपुरा, बाड़ीजोड़ी एवं साइवाड़ क्षेत्र से पानी की आवक होती है।

रामपुरा बांध

त्रिवेणी नदी में भी आवक

अजीतगढ़ की धाराजी की पहाड़ियों पर अच्छी बारिश से त्रिवेणीधाम से त्रिवेणी नदी में भी अच्छी बारिश से पानी की आवक हुई। रामरतनदासजी महाराज, महेंद्र अग्रवाल, पवन भगेरिया, दिनेश शर्मा, दिलीप स्वामी ने बताया कि करीब 25 साल पहले त्रिवेणी नदी निरंतर बहती रहती थी। त्रिवेणी नदी में पानी की आवक होने पर कई लोगों ने नहाने का आनंद उठाया। करीब दो साल पहले भी त्रिवेणी नदी बहने पर पुजारी रामरिछपालदासजी महाराज ने पूजा अर्चना की थी। उस समय पानी की आवक इतनी नहीं हुई थी। त्रिवेणी नदी का पानी जवानपुरा धाबाई बांध में जाता है।

नीमली बांध