Hindi News »Rajasthan »Shahpura» शाहपुरा में 70 मिमी बरसा पानी, शहर में कई जगह पानी भरा, खेत हुए लबालब, बारिश नहीं होने से रुका बोआई कार्य फिर से शुरू

शाहपुरा में 70 मिमी बरसा पानी, शहर में कई जगह पानी भरा, खेत हुए लबालब, बारिश नहीं होने से रुका बोआई कार्य फिर से शुरू

कार्यालय संवाददाता| शाहपुरा क्षेत्र में बुधवार देर रात्रि को शुरू हुआ बारिश का दौर गुरुवार सुबह तक चलता रहा।...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 13, 2018, 07:00 AM IST

  • शाहपुरा में 70 मिमी बरसा पानी, शहर में कई जगह पानी भरा, खेत हुए लबालब, बारिश नहीं होने से रुका बोआई कार्य फिर से शुरू
    +2और स्लाइड देखें
    कार्यालय संवाददाता| शाहपुरा

    क्षेत्र में बुधवार देर रात्रि को शुरू हुआ बारिश का दौर गुरुवार सुबह तक चलता रहा। प्री मानसून के बाद पहली बार जोरदार बारिश हुई जिससे चारों तरफ पानी ही पानी हो गया। तहसील कार्यालय में 70 मिमी बारिश दर्ज की गई।

    बुधवार देर रात को बारिश का दौर शुरू हुआ। बारिश का दौर पहले तो धीरे धीरे चलता रहा बाद में तेज हो गई। इससे शहर में पीपली तिराहा, देवन तिराहे पर अंडरपास, डाबर, देवन रोड नीचली बस्ती, बाबा कॉलोनी, श्याम मंदिर के पास लुहार बस्ती, रिद्धि सिद्धि मार्केट सहित कई स्थानों बारिश का पानी भर गया। इससे लोगों को सुबह आवाजाही में परेशानी उठानी पड़ी। लोगों ने बताया कि कई जगह सड़क मकानों से ऊंची होने के कारण पानी की निकास व्यवस्था नहीं हो पाई। राजेंद्र यादव ने बताया कि चिमनपुरा क्षेत्र में अच्छी बारिश होने से खेत पानी से लबालब भर गए। बारिश होने से किसानों के चेहरे खुश नजर आए। किसानों ने बताया कि करीब दस दिन से बारिश नहीं होने से खरीफ फसल के तहत बाजरा, मूंग, मोठ, ग्वार, मूंगफली आदि की फसल झुलसने लग गई थी। जिन किसानों के कुओं में पानी था वे मूंगफली की फसल में पानी देना भी शुरू कर दिया था लेकिन अच्छी बारिश किसानों की फसल को काफी फायदा मिलेगा।

    तहसीलदार सूर्यकांत शर्मा ने बताया कि कुल 70 मिमी बारिश दर्ज की गई। इससे पहले 30 जून को बारिश हुई थी। उस समय भी 83 मिमी बारिश दर्ज की गई थी। कृषि पर्यवेक्षक फूलचंद जाट ने बताया कि बीच में बारिश का दौर रूक जाने से खरीफ फसल बोआई कार्य जमीन सूख जाने से थम गया था तथा जो फसल बोई जा चुकी थी। वह भी बिना पानी के सूखने के कगार पर थी, लेकिन समय रहते बरसात हो जाने से फसल को जीवनदान मिला है और फसल बोआई से वंचित रहे किसान अब खेतों में बोआई कर सकेंगे।

    शाहपुरा केपीपली स्टैंड पर दुकानों में घुसा पानी

    पावटा क्षेत्र में 44 मिमी बरसात

    पावटा. कस्बे में खारनली में बहता बारिश का पानी।

    पावटा | बारिश होने से खारनली नदी लगातार 10 घंटे तक बहती रही। वर्षा मापी केन्द्र प्रभारी सुनील कुमार वाल्मीकि ने बताया कि बुधवार रात व गुरुवार सुबह 9 बजे तक 44मिमी बारिश रिकार्ड की गई। क्षेत्र में करीब 2 दर्जन से अधिक गांवों में जोरदार बारिश हुई। गुरुवार का कई दिनों बाद हुई बारिश से किसानों सहित आम जन के चेहरे प्रसन्नता से खिल गए। द्वारिकपुरा व मीरापुर गांवों में गुरुवार को हुई इस बारिश से कई घरों में पानी भर गया। द्वारिकपुरा सरपंच व पावटा पंचायत समिति सरपंच संघ अध्यक्ष सूबेदार मामराज सिह गुर्जर ने बताया कि द्वारिेकपुरा ग्राम में एक साल पहले पी डब्लू डी विभाग द्वारा निर्मित गौरव पथ व मीरापुर ग्राम में निर्मित सडक़ निर्माण के दौरान दोनों तरफ जल निकासी के लिए नाली नहीं बनाए जाने के कारण इन दोनों गांवों में कई घरों में पानी भर गया।

    रामपुरा स्कूल में भरा बरसाती पानी

    छापुडा टटेरा. कस्बे सहित आसपास के इलाकों में हुई बारिश से तापमान में गिरावट आ गई। बारिश से रामपुरा की राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय दरिया बन गई, जिससे विद्यार्थियों को परेशानी झेलनी पड़ी।

  • शाहपुरा में 70 मिमी बरसा पानी, शहर में कई जगह पानी भरा, खेत हुए लबालब, बारिश नहीं होने से रुका बोआई कार्य फिर से शुरू
    +2और स्लाइड देखें
  • शाहपुरा में 70 मिमी बरसा पानी, शहर में कई जगह पानी भरा, खेत हुए लबालब, बारिश नहीं होने से रुका बोआई कार्य फिर से शुरू
    +2और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shahpura

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×