Hindi News »Rajasthan »Shahpura» धन्ना भगतजी की जयंती मनाई

धन्ना भगतजी की जयंती मनाई

शाहपुरा |त्रिवेणी धाम स्थित श्री धन्नाभगत जाट धर्मशाला में रविवार को मंदिर में धन्ना भगतजी की जयंती...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 09, 2018, 07:05 AM IST

शाहपुरा |त्रिवेणी धाम स्थित श्री धन्नाभगत जाट धर्मशाला में रविवार को मंदिर में धन्ना भगतजी की जयंती ब्रह्मपीठाधीश्वर पद्मश्री नारायण देवाचार्य के सानिध्य में धूमधाम से मनाई गई। पुजारी रामरिछपाल दासजी व रामरतनदासजी तथा सत्यनारायण दासजी ने धन्नाभगतजी की मूर्ति का पंचामृत अभिषेक किया। इस अवसर पर पुजारी राम रिछपाल दास जी महाराज ने कहा की धन्ना भगत रामानंद जी के शिष्य थे। धन्ना भगत ने कई बार अपनी प्रभु भक्ति से भगवान को अपने पास बुला लेते थे। धन्ना भगत एक रहस्यवादी कवि थे और वैष्णव भगत थे। धर्मशाला कमेटी के सदस्य रिछपाल कलवानियाँ ने बताया कि पीसीसी सदस्य आलोक बेनीवाल व एआईसीसी सदस्य संदीप चौधरी ने उपस्थित साधु संतो की अर्चना कर आशीर्वाद लिया । सामूहिक भंडारा व रामधुनी हुई। बड़ी संख्या में भंडारे में लोगों ने प्रसादी प्राप्त की। दानाराम,ईश्वर बराला, रामेश्वर ताखर, पीथाराम, भैरूराम जींजवाडि़या, चंदाराम पलसानियाँ, प्रहलाद पलसानियाँ, नृसिंह लाल कपूरिया, मंगलचन्द बधाला, बोदूराम बडसरा,मुरलीधर बछण्डा, गिरधारी पलसानियाँ, भैरूराम गठाला, शंकर बराला, श्योबक्स बराला, रामकुमार बधाला, साधूराम रूंडला, साधूराम मंगावा, हरिसिंह मंगावा, सुभाष कलवानियाँ,सुरेन्द्र सरपंच, हनुमान पूनिया, बाबूलाल निठारवाल, श्रवण बावरिया,छीतरमल, ग्यारसीलाल बोबास्या सहित जाट समाज के प्रबुद्घ जन उपस्थित थे।

महायज्ञ में उमड़े श्रद्धालु

विराटनगर |कस्बे के बीजक की पहाडी पर चल रहे नवदिवसीय नवकुंडीय सीताराम महायज्ञ में रविवार तक करीब 2.25 लाख आहूतियां दी गई। महायज्ञ में आचार्य लक्ष्मीनारायण शुक्ला के आचार्यत्व में यजमानों ने आहूतियां दी। महायज्ञ के दौरान कई साधुसंतों ने शिरकत की। संतों ने कहा कि यज्ञों के आयोजन से धार्मिक भावना पनपती है। इस दौरान श्रद्धालूओं ने यज्ञ मंडप के परिक्रमा लगाकर खुशहाली की कामना की।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shahpura

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×