--Advertisement--

शाहपुरा में 15 मिनट तक ओले आकाशीय बिजली से पेड़ फटा

शाहपुरा. एक खेत में लगे पेड़ पर गिरी आकाशीय बिजली। शाहपुरा-अमरसर-मैड़ कस्बों में बारिश से रबी की फसल को नुकसान ...

Dainik Bhaskar

Apr 09, 2018, 07:05 AM IST
शाहपुरा में 15 मिनट तक ओले आकाशीय बिजली से पेड़ फटा
शाहपुरा. एक खेत में लगे पेड़ पर गिरी आकाशीय बिजली।

शाहपुरा-अमरसर-मैड़ कस्बों में बारिश से रबी की फसल को नुकसान

कार्यालय संवाददाता | शाहपुरा

शहर सहित आसपास क्षेत्रों में रविवार शाम करीब 4:55 बजे हल्की बारिश के साथ चने आकार के ओले गिरे। 15 मिनट तक हुई ओलों की बारिश से मौसम खुशनुमा हो गया। वहीं बारिश व ओले आने से रबी की फसल को नुकसान हुआ। वार्ड 13 के एक खेत में आकाशीय बिजली गिरने से पेड़ फट गया। इससे किसानों के चेहरे पर चिंता की लकीर दिखाई दी।

बारिश से गेहूं की फसल को सबसे ज्यादा नुकसान हुआ। किसान सतीश पलसानिया ने बताया कि अभी तक क्षेत्र में करीब 50 फ़ीसदी ही रबि की फसल की कटाई हो पाई है। वहीं कस्बे के वार्ड 13 में लालचंद रोलानिया के खेत के अंदर नीम के पेड़ पर बिजली गिरने से पूरा पेड़ बीच में फट गया और नीम की छाल उड़ कर बिखर गई। बिजली गिरने से कुछ समय पूर्व ही वहां पर सुणी देवी, गुल्ली देवी व एक बच्ची पालक तोड़ रही थी जो बारिश आने से दूर जाकर खड़ी हो गई।

अमरसर | अमरसरवाटी क्षेत्र मे रविवार को चने आकार के ओले गिरने से फसलों को काफी नुकसान हुआ। समाज सेवी बनवारी शर्मा व विक्की गोयल ने कहा कि रविवार शाम बिलांदरपुर सहित आसपास के गांवों में अचानक तेज अंधड के साथ बारिश हुई तथा चने आकार के ओले गिरे। इसी प्रकार अमरसरवाटी में नायन, अमरसर, हनुतपुरा, करीरी, धानोता सहित कई गांवों में ओले गिरे।

किसान फसल को समेटने में जुटे रहे

मैड़ | दिनभर कुंडला क्षेत्र के किसान मौसम की बेवफाई को देखकर परिवारों के संग खेत खलियानों में पड़ी फसल को समेटने में जुटे रहे जहां क्षेत्र में रविवार को अधिकांश किसान थ्रेसरों से अपनी फसल को निकलवाने में व्यस्त नजर आए। वहीं अनेक जगहों पर कृषक खेतों में पड़ी गेहूं, जौ की धानियों को एकत्र करने में परिवार संग बदलते मौसम को देखकर चिंतित नजर आए। दिनभर किसान भूखे प्यासे रहकर अपनी गाढे पसीने की फसल को लेकर चिंतित रहे लेकिन आखिरकार बेरूखे मौसम ने दोपहर बाद अचानक ऐसी करवट बदली कि एकाएक तेज बारिश के साथ चने आकार के ओले गिरेञ सपरिवार सवेरे से ही मौसम की बेरूखी को देखकर सरगर्मी से जुटे हुए थे जहां दोपहर तक कृषक खलियानों में पकी पकाई फसलों को थ्रेसर मशीनों से अनाज निकलवाने में लगे हुए थे। वहीं अनेक किसान खड़ी फसलों की लावणी करने में मशगूल थे।

अनेक स्थानों पर खलियानों से अनाज, तूड़े को किसान ठिकाने लगाने में तुरत फुरत से लगे हुए थे। अकस्मात शाम ढलने से पहले हवाओं के साथ तेज बारिश में ओले गिरने से किसान व्याकुल होकर पूरी तरह से चिंतित रहे जहां हताश किसान कमर पकड़ कर व्यथित रहे। अचानक इलाके के गांव ढाणियों में मौसम बदलने के बाद भी किसान अपनी बेशकीमती फसलों को बचाने में ओलों की बौछार के बीच भी खेतों में मुकाबला कर काम करने के लिए डटे रहे।

अमरसर. कस्बे में गिरे ओले, जिससे फसलों का काफी नुकसान हुआ।

X
शाहपुरा में 15 मिनट तक ओले आकाशीय बिजली से पेड़ फटा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..