--Advertisement--

121 महिलाओं ने निकाली कलश यात्रा

भास्कर संवाददाता | शाहपुरा/कोटड़ी सगतपुरिया स्थित बैकुंठधाम जुझार धणी में भागवत कथा का शुभारंभ बुधवार को हुआ।...

Danik Bhaskar | May 17, 2018, 07:10 AM IST
भास्कर संवाददाता | शाहपुरा/कोटड़ी

सगतपुरिया स्थित बैकुंठधाम जुझार धणी में भागवत कथा का शुभारंभ बुधवार को हुआ। ग्रामीणों, बजरंग नवयुवक मंडल व राधे कृष्ण परिवार के तत्वावधान में शोभायात्रा व कलश यात्रा निकाली गई। 121 महिलाएं कलश सिर पर लेकर मंगलगीत गाते चल रही थीं। शोभायात्रा शाहपुरा के खान्या का बालाजी मंदिर के महंत रामदास त्यागी व कथा वाचक पंडित भगवती कृष्ण महाराज की अगुवाई में सगतपुरिया में स्थित बालाजी मंदिर से शुरू हुई। कलश व शोभायात्रा पर ड्रोन से पुष्पवर्षा की गई।

श्रद्धालुओं के लिए पेयजल, आइसक्रीम व मिल्करोज की व्यवस्था की गई। शोभायात्रा में बैंड के साथ बग्घी व घुड़सवार भी शामिल हुए। बैकुंठधाम परिसर में पहुंचने पर सभी का स्वागत किया। पांडाल में कथा शुरू हुई। बैकुंठधाम जुझार धणी परिवार की ओर से खान्या का बालाजी मंदिर में महंत रामदास त्यागी व कथा वाचक भगवती कृष्ण महाराज का स्वागत किया। भागवत आरती का सौभाग्य बैकुंठधाम जुझार धणी के उपासक महेंद्र जोशी, ओमप्रकाश जोशी, दुर्गाशंकर जोशी, श्याम जोशी, कल्याण शर्मा, उदयलाल, महावीर, भैरूलाल प्रजापत, मूलचंद पेसवानी, लोकेश, पवन जोशी, भैरूलाल, नरेश पाठक, रघुवीर पारीक को मिला। इस मौके पर यज्ञाचार्य पंडित कल्याण शर्मा, पंडित गजानंद शास्त्री, उदयलाल, भंवरलाल जोशी, भैरूलाल, राजेश पारीक, महेंद्र कुमार, गंगाधर, रामेश्वर लाल, नवयुवक मंडल के लोकेश, पवन जोशी, विजेंद्र सुनील, पारस, भोजा कटारिया, रोडू कटारिया, सोहन लाल जोशी, प्रभुलाल सुथार, नाथूलाल माली, कल्याण सुथार मौजूद थे।

सगतपुरिया बैकुंठधाम में भागवत कथा का आयोजन शुरू

आज नारद चरित्र व परीक्षित जन्म का वर्णन करेंगे

कथा वाचक पंडित भगवती कृष्ण महाराज ने कहा कि मनुष्य जन्म जन्मों के पुण्यकर्मा के शुभ फलों से मिलता है। भागवत कथा को जीवन मेें सबसे सुखद क्षण बताते उन्होंने कहा कि मन से श्रवण की कथा निश्चित रूप से व्यक्ति को न केवल आत्मविश्वासी बनाती है वरन उसको सही दिशा भी देती है। गुरुवार को नारद चरित्र व परीक्षित जन्म का वर्णन किया जाएगा। यज्ञाचार्य पंडित कल्याण मल शर्मा की अगुआई में एक कुंडीय यज्ञ का आयोजन भी किया गया। महेंद्र पारीक की अगुवाई में यज्ञ में आहुतियां दी।

भास्कर संवाददाता | शाहपुरा/कोटड़ी

सगतपुरिया स्थित बैकुंठधाम जुझार धणी में भागवत कथा का शुभारंभ बुधवार को हुआ। ग्रामीणों, बजरंग नवयुवक मंडल व राधे कृष्ण परिवार के तत्वावधान में शोभायात्रा व कलश यात्रा निकाली गई। 121 महिलाएं कलश सिर पर लेकर मंगलगीत गाते चल रही थीं। शोभायात्रा शाहपुरा के खान्या का बालाजी मंदिर के महंत रामदास त्यागी व कथा वाचक पंडित भगवती कृष्ण महाराज की अगुवाई में सगतपुरिया में स्थित बालाजी मंदिर से शुरू हुई। कलश व शोभायात्रा पर ड्रोन से पुष्पवर्षा की गई।

श्रद्धालुओं के लिए पेयजल, आइसक्रीम व मिल्करोज की व्यवस्था की गई। शोभायात्रा में बैंड के साथ बग्घी व घुड़सवार भी शामिल हुए। बैकुंठधाम परिसर में पहुंचने पर सभी का स्वागत किया। पांडाल में कथा शुरू हुई। बैकुंठधाम जुझार धणी परिवार की ओर से खान्या का बालाजी मंदिर में महंत रामदास त्यागी व कथा वाचक भगवती कृष्ण महाराज का स्वागत किया। भागवत आरती का सौभाग्य बैकुंठधाम जुझार धणी के उपासक महेंद्र जोशी, ओमप्रकाश जोशी, दुर्गाशंकर जोशी, श्याम जोशी, कल्याण शर्मा, उदयलाल, महावीर, भैरूलाल प्रजापत, मूलचंद पेसवानी, लोकेश, पवन जोशी, भैरूलाल, नरेश पाठक, रघुवीर पारीक को मिला। इस मौके पर यज्ञाचार्य पंडित कल्याण शर्मा, पंडित गजानंद शास्त्री, उदयलाल, भंवरलाल जोशी, भैरूलाल, राजेश पारीक, महेंद्र कुमार, गंगाधर, रामेश्वर लाल, नवयुवक मंडल के लोकेश, पवन जोशी, विजेंद्र सुनील, पारस, भोजा कटारिया, रोडू कटारिया, सोहन लाल जोशी, प्रभुलाल सुथार, नाथूलाल माली, कल्याण सुथार मौजूद थे।