Hindi News »Rajasthan »Shahpura» स्कूल संचालक ने की पिटाई, छात्रा के कान का पर्दा फटा, केस दर्ज

स्कूल संचालक ने की पिटाई, छात्रा के कान का पर्दा फटा, केस दर्ज

कार्यालय संवाददाता | शाहपुरा चिमनपुरा ग्राम में संचालित विद्या आश्रम स्कूल संचालक के 8वीं कक्षा की एक छात्रा के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 09, 2018, 07:36 AM IST

स्कूल संचालक ने की पिटाई, छात्रा के कान का पर्दा फटा, केस दर्ज
कार्यालय संवाददाता | शाहपुरा

चिमनपुरा ग्राम में संचालित विद्या आश्रम स्कूल संचालक के 8वीं कक्षा की एक छात्रा के साथ मारपीट की घटना के बाद कान का पर्दा फट गया। मामले को लेकर छात्रा के पिता ने पुलिस थाने में मंगलवार देर शाम मामला भी दर्ज कराया है।

पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी। परिजनों ने बताया कि स्कूल से लौटने पर छात्रा ने परिजनों को पूरी घटना बताई। उसने बताया कि होम वर्क नहीं करने पर संचालक ने उसकी पिटाई की। बालिका के दादा भागीरथ प्रसाद ने फोन पर स्कूल संचालक से मामले की जानकारी ली। स्कूल संचालक द्वारा मारपीट को लेकर कोई संतोषप्रद जवाब नहीं दिया। इससे परिजनों में आक्रोश है। गौरतलब है कि एनसीपीसीआर (राष्ट्रीय बाल अिधकारी संरक्षण अायोग) का मानना है कि आईपीसी की धारा 88 और 89 बच्चों को शारीरिक दंड देने के मामले में टीचर और पैरंट्स का बचाव करती है। लेकिन एनसीपीसीआर आईपीसी में बदलाव की सिफारिश पर विचार कर रही है ताकि सजा देने वाला कोई भी शख्स कानून के प्रावधानों से बच न सके।

शाहपुरा अस्पताल में उपचार के बाद छात्रा जयपुर रेफर

बालिका को शाहपुरा हॉस्पिटल में ईएनटी विशेषज्ञ को दिखाया तो चोट आने से कान का पर्दा फटने की जानकारी दी। उसका इलाज शाहपुरा व जयपुर के अस्पताल में कराया गया।

कई देशों में स्कूल में बच्चों की पिटाई जुर्म

कई देशों में स्कूल में बच्चों की पिटाई करना जुर्म की श्रेणी में आता है। भारत में भी बच्चों की पिटाई पर रोक है। लेकिन पिटाई आज भी घटनाएं होर ही है। वर्ष 2016 में सीबीएसई ने एक सर्वे कराने के बाद यह तय किया था कि अगर कोई बच्चा शिकायत करता है तो स्कूल पर जुर्माना लगाया जाएगा।

एफआईआर

होम वर्क नहीं करने पर बेटी को पीटा, पूछा तो जवाब भी नहीं दिया

खोरी निवासी अनिल कुमार शर्मा ने मामला दर्ज करवाया कि उसकी पुत्री जीविका भारद्वाज चिमनपुरा ग्राम में संचालित विद्या आश्रम स्कूल में आठवी कक्षा में पढ़ती है। 4 अगस्त को राेजाना की तरह स्कूल गई थी, जहां पर स्कूल संचालक तेजपाल यादव ने होमवर्क नहीं करने की बात को लेकर छात्रा के साथ मारपीट की। इससे छात्रा के कान में चोट आई।

स्कूल संचालक ने कहा

छात्रा के कान में पहले से तकलीफ, मारपीट का आरोप बेबुनियाद

स्कूल संचालक तेजपाल यादव का कहना है कि छात्रा के साथ मारपीट का आरोप बेबुनियाद है। छात्रा के कान में पहले से तकलीफ है, उसको सुनाई भी कम देता है। परिजनों ने स्कूल की फीस जमा नहीं करवाई है, हमने फीस जमा करवाने का नोटिस भेजा है। यही वजह है कि परिजन बेवजह आरोप लगा रहे हैं। छात्रा के साथ किसी प्रकार की पिटाई नहीं की गई है।

शाहपुरा. निजी स्कूल संचालक की मारपीट की पीड़ित छात्रा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shahpura

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×