• Home
  • Rajasthan News
  • Sheoganj News
  • योगाचार्य पूरन चित्तारा की शिक्षक पत्नी गिरफ्तार, जेल भेजा
--Advertisement--

योगाचार्य पूरन चित्तारा की शिक्षक पत्नी गिरफ्तार, जेल भेजा

योगाचार्य पूरन चित्तारा की आत्महत्या के मामले में उसकी शिक्षक प|ी लता को गिरफ्तार कर शुक्रवार को सिरोही मुख्य...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 04:20 AM IST
योगाचार्य पूरन चित्तारा की आत्महत्या के मामले में उसकी शिक्षक प|ी लता को गिरफ्तार कर शुक्रवार को सिरोही मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया, जहां से उसे न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया। योगाचार्य की प|ी लता पर आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप है।

पुलिस ने मामले की जांच में घटना के दिन योगाचार्य चित्तारा और उनकी प|ी लता के बीच मोबाइल पर हुई बात की ऑडियो एवं मोबाइल की कॉल डिटेल के आधार पर आरोपी लता को गिरफ्तार किया था। शिवगंज थाना के पुलिस निरीक्षक बुद्धाराम विश्नोई ने बताया कि शहर के न्यू नेहरूनगर मोहल्ले में 7 फरवरी को योगाचार्य पूरन चित्तारा ने अपने मकान में फंदा लगाकर आत्महत्या की थी। घटना के पहले उसी दिन योगाचार्य चित्तारा और उनकी प|ी लता के बीच मोबाइल पर हुई बात की ऑडियो एवं मोबाइल की कॉल डिटेल के आधार पर योगाचार्य चित्तारा को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में शुक्रवार सुबह जालोर से चित्तारा की प|ी लता को गिरफ्तार कर शाम को न्यायालय में पेश किया है। जहां न्यायिक अभिरक्षा में भेजने का आदेश मिलने पर उसे जेल भेज दिया है। गिरफ्तार आरोपी लता शिवगंज के पास केसरपुरा गांव स्थित राजकीय माध्यमिक विद्यालय में तृतीय श्रेणी की शिक्षिका है।

मामले की निष्पक्ष जांच की मांग : योगाचार्य के बड़े भाई कमल किशोर चित्तारा समेत परिजनों ने घटना के बाद एसपी ओमप्रकाश को परिवाद व ऑडियो की क्लिप देकर मृतक चित्तारा के मुख्य आरोपी शिवदयाल सोनी व मृतक की प|ी के बीच अवैध संबंध होना भी बताया है। वहीं जीनगर समाज शिवगंज ने एसडीएम को ज्ञापन देकर समाज के पूर्व अध्यक्ष योगाचार्य पूरन चित्तारा के आत्महत्या प्रकरण की निष्पक्ष जांच करवाने एवं दोषियों को कड़ी सजा दिलवाने की मांग की है।

शिक्षक की गिरफ्तारी पर है कोर्ट की रोक

पुलिस ने बताया कि योगाचार्य पूरन चित्तारा आत्महत्या प्रकरण के मुख्य आरोपी शिक्षक शिवदयाल सोनी है। चित्तारा ने अपने सुसाइट नोट में आरोपी सोनी को नामजद किया है एवं आत्महत्या के लिए जिम्मेदार ठहराया है। आरोपी शिवदयाल सोनी ने हाई कोर्ट में अग्रिम जमानत के लिए प्रार्थना पत्र पेश किया, जिस पर उच्च न्यायालय ने 23 अप्रैल तक आरोपी सोनी की गिरफ्तारी पर रोक लगाकर पुलिस को इस अवधि में मामले का अनुसंधान पूर्ण करने का आदेश दिया है।