--Advertisement--

पूछताछ के बाद चंडीगढ़ पुलिस ने 9 लोगों को किया गिरफ्तार

भास्कर न्यूज | अमृतसर/चंडीगढ़ चीफ खालसा दीवान के पूर्व प्रधान चरणजीत सिंह चड्ढा के बड़े बेटे इंद्रप्रीत सिंह...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 04:35 AM IST
भास्कर न्यूज | अमृतसर/चंडीगढ़

चीफ खालसा दीवान के पूर्व प्रधान चरणजीत सिंह चड्ढा के बड़े बेटे इंद्रप्रीत सिंह चड्ढा के सुसाइड मामले में सिट की जांच के बाद पुलिस ने कुल नौ लोगों को गिरफ्तार किया है। सभी आरोपी चंडीगढ़ में आईजी एलके यादव के समक्ष जांच में शामिल होने के लिए गए थे। जांच के दौरान पुलिस ने सभी को आरोपी पाया तो इन्हें वहीं से गिरफ्तार कर लिया गया। इस बात की पुष्टि एडीसीपी लखबीर सिंह ने कर दी है। उन्होंने कहा कि इन सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर अमृतसर लाया गया है। आरोपियों में इंद्रजीत का भाई हरजीत सिंह भी शामिल है। दूसरे आरोपी सुरजीत सिंह, विजय उम्मट, इंद्रप्रीत सिंह आनंद, रविंदर कौर और पति वरुणदीप, गुरसेवक सिंह, कुलजीत कौर उर्फ के घुम्मन, मान्या और दविंदर सिंह संधू हैं। इनमें से मान्या की गिरफ्तारी नहीं हुई है। हालांकि जब अमृतसर पुलिस ने एफआईआर दर्ज की थी तो उसमें हरजीत सिंह का नाम नहीं था, मगर एसआईटी ने जांच में पाया कि इंद्रप्रीत सिंह ने अपने सारे सुसाइड नोट में पूरे एपिसोड के लिए हरजीत को सबसे ज्यादा जिम्मेदार ठहराया था।

सभी पर ब्लैकमेल करने के लगाए थे आरोप

इंद्रप्रीत सिंह ने मरने से पहले सुसाइड नोट में इन सभी आरोपियों के नाम लिखे हैं। नोट में यही लिखा है कि इन लोगों की ओर से उसे बार-बार परेशान किया जा रहा था। ब्लैकमेल किया जा रहा था। उन्होंने अपने भाई हरजीत सिंह चड्ढा के बारे में डिटेल से लिखा था कि वह पूरे परिवार को बर्बाद करने की कोशिश कर रहा है। बहुत सारी प्रॉपर्टियों के दस्तावेज चोरी कर लिए। इसके बाद हरजीत ने दस्तावेजों पर उनके, पिता व प|ी के फर्जी साइन कर बैंकों से करोड़ों रुपए का कर्ज ले लिया था। ग्रीन एवेन्यू उनकी कोठी नंबर 506 पर भी हरजीत कर्ज लेने वाला था। मगर उन्हें पता चल गया। जिस कारण वह अपने काम में सफल नहीं हो पाया। बावजूद इसके उन्होंने अपने भाई को माफ कर दिया है। गौर हो कि 26 दिसंबर 2017 को चरणजीत सिंह चड्ढा की अश्लील वीडियो वायरल हुई थी। इसके बाद पुलिस ने इंद्रप्रीत और उसके पिता चरणजीत के खिलाफ केस दर्ज कर लिया था। जांच शुरु हुई। मगर 3 जनवरी 2018 को इंद्रप्रीत सिंह ने खुद को गोली मार ली थी।

इंद्रप्रीत सिंह चड्ढा

सुसाइड नोट में थे 17 नाम

इंद्रप्रीत चड्ढा ने सुसाइड नोट में करीब 17 लोगों का नाम लिखा था। इन सभी से एसआईटी द्वारा एक-एक करके सबसे पूछताछ की गई है। लेकिन इनमें 11 लोगों को किसी न किसी रूप में इंद्रप्रीत चड्ढा द्वारा खुदकुशी करने के तथ्य मिले हैं।

यह लिखा है सुसाइड नोट में... इंद्रप्रीत सिंह ने मरने से पहले अपनी गाड़ी में एक सुसाइड नोट छोड़ा था। जिसमें उन्होंने सभी आरोपियों के बारे में डिटेल में लिखा था। जोकि उसकी मौत के लिए जिम्मेदार थे। सबसे ज्यादा इंद्रप्रीत ने अपने भाई हरजीत सिंह चड्ढा के बारे में ही लिखा है कि वह ही पूरे परिवार को खत्म करने की कोशिश में लगा हुआ था। सुसाइड नोट में सभी के बारे जो भी लिखा।

60 पेज का था सुसाइड नोट

सुसाइड नोट 60 पेज का था, इन सभी को एसआईटी ने पंजाब की फोरेंसिक लैब में भेज दिया था। लैब ने अपनी रिपोर्ट में चड्डा की हैंडराइटिंग को सही बताते हुए कहा था, पूरा नोट इंद्रप्रीत ने खुद लिखा है। इसमें किसी भी दूसरे व्यक्ति की राइटिंग नहीं है।