Hindi News »Rajasthan »Shriganganagar» एटीएम कार्ड के क्लोन के जरिए ठगी का शिकार हो चुके उपभोक्ता को रकम लौटाएगा बैंक

एटीएम कार्ड के क्लोन के जरिए ठगी का शिकार हो चुके उपभोक्ता को रकम लौटाएगा बैंक

भास्कर संवाददाता| श्रीगंगानगर। एक तरफ देश डिजिटल इंडिया बनने जा रहा है। दूसरी तरफ सामाजिक कंटक इसका दुरुपयोग...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 01, 2018, 06:50 AM IST

भास्कर संवाददाता| श्रीगंगानगर।

एक तरफ देश डिजिटल इंडिया बनने जा रहा है। दूसरी तरफ सामाजिक कंटक इसका दुरुपयोग भी धड़ल्ले से कर रहे हैं। एटीएम कार्ड बंद होने या आधार कार्ड से जोड़ने के नाम पर अज्ञात लोग बैंक उपभोक्ताओं से निजी जानकारी हासिल कर लोगों को हजारों व लाखों रुपए की ठगी का शिकार बना रहे हैं। हालांकि इस तरह के मामले सामने आने के बाद अब बैंकों की ओर से अपने उपभोक्ताओं को समय-समय पर मैसेज भेजकर सावधान भी जा रहा है। इसके बावजूद लोग इसे गंभीरता से नहीं लेते हैं और किसी भी अज्ञात को फोन पर यह गोपनीय सूचनाएं बता देते हैं। इसके बाद वही अज्ञात व्यक्ति लोगों के बैंक खातों से रुपए उड़ा लेते हैं। डिजिटलाइजेशन के बढ़ते उपयोग के दौरान इस आधुनिक युग में बैंक उपभोक्ताओं के एटीएम कार्ड का क्लोन कार्ड बनाकर भी ठगी करने के मामले सामने आने लगे हैं। इस तरह के मामलों में ठगी के शिकार हुए बैंक उपभोक्ताओं को राहत देने के उद्देश्य से रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने नए नियम लागू किए हैं। इन नियमों के अनुसार यदि बैंक उपभोक्ताओं के खाते से क्लोन एटीएम से रुपए निकलते हैं और इसकी शिकायत बैंक को की जाती है तो निकाली गई यह राशि बैंक को उपभोक्ता को लौटानी पड़ती है।

बैंक उपभोक्ताओं के साथ ऐसे हो रही ठगी

1.अज्ञात व्यक्ति बैंक उपभोक्ता के मोबाइल पर फोन कर एटीएम कार्ड ब्लॉक या एक्सपायर होने की चेतावनी देते हुए गोपनीय जानकारी मांगता है, जिस पर उपभोक्ता भयभीत होकर अज्ञात को समस्त जानकारी बता देते हैं। इसमें एटीएम कार्ड के नंबरों से लेकर कार्ड के पीछे लिखे सीवीवी नंबर और पासवर्ड तक की जानकारी अज्ञात को दे दी जाती है।

3.अज्ञात व्यक्ति ऑनलाइन शॉपिंग या उपभोक्ता के खाते से अपने खाते में पैसा ट्रांसफर करने के लिए बैंक उपभोक्ता के मोबाइल फोन पर गए ओटीपी की मांग करते हैं। यह ओटीपी नंबर मिलते ही अज्ञात व्यक्ति बैंक उपभोक्ता के खाते से रुपए निकाल लेते हैं।

बैंक ने ब्याज सहित लौटाई ठगी गई रकम : पुरानी आबादी वार्ड नंबर 14 निवासी मनीष शर्मा के अनुसार उनकी माता ऊषा रानी के बैंक अकाउंट से किसी अज्ञात ने 29-30 जून की मध्यरात्रि को ट्रांजेक्शन करते हुए एक लाख 60 हजार रुपए निकाल लिए थे। इस मामले में 29 जून के मध्यरात्रि 12 बजे पुरानी दिल्ली स्टेशन के पास 40-40 हजार रुपए की ट्रांजेक्शन हुई। इसका मैसेज मोबाइल फोन पर आते ही उन्होंने टोल फ्री नंबर पर फोन कर एटीएम कार्ड ब्लॉक करवा दिया। इसके बाद भी देर रात 3:30 बजे फिर 40-40 हजार रुपए किसी दूसरे के खाते में ट्रांसफर कर लिए गए।

2.अज्ञात व्यक्ति बैंक की ओर से उपभोक्ता को जारी किए गए एटीएम कार्ड का डुप्लीकेट एटीएम कार्ड बना लेते हैं, जिससे वे बैंक उपभोक्ता के कार्ड का समस्त डेटा इस डुप्लीकेट कार्ड में ट्रांसफर कर लेते हैं। इसका उपयोग करने के बाद वे इसे फेंक देते हैं, जिससे वे पकड़ में ना आए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Shriganganagar News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: एटीएम कार्ड के क्लोन के जरिए ठगी का शिकार हो चुके उपभोक्ता को रकम लौटाएगा बैंक
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Shriganganagar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×