--Advertisement--

संस्कृत के संरक्षण को लेकर हुआ जनपद सम्मेलन

Shriganganagar News - भास्कर संवाददाता |श्रीगंगानगर संस्कृतका संरक्षण यानि संस्कृति का संरक्षण करना है। संस्कृत भाषा को हमें अपने...

Dainik Bhaskar

Dec 04, 2017, 09:45 AM IST
संस्कृत के संरक्षण को लेकर हुआ जनपद सम्मेलन
भास्कर संवाददाता |श्रीगंगानगर

संस्कृतका संरक्षण यानि संस्कृति का संरक्षण करना है। संस्कृत भाषा को हमें अपने जीवन के व्यवहार में उतारना होगा। यह बात रविवार को संस्कृत भारती जोधपुर प्रांत की ओर से गोदारा कॉलेज में आयोजित श्रीगंगानगर जनपद संस्कृत सम्मेलन में संस्कृत भारती जोधपुर के मंत्री तगसिंह राजपुरोहित ने कही। उन्होंने कहा कि संस्कृत के हलंत विसर्ग के प्रयोग से हार्ट अटैक से भी बचा जा सकता है। मुख्य अतिथि एडीएम सिटी वीरेंद्र कुमार वर्मा, कार्यक्रम की अध्यक्षता पंडित तनसुखराम ने की। विशिष्ट अतिथि आरएसएस के जिला संघ चालक अमरचंद बोरड़, प्रदीप धेरड़, कॉलेज के कार्यवाहक प्राचार्य डॉ. प्रदीप मोदी थे। एडीएम वर्मा ने कहा कि संस्कृत को पढ़ना ही नहीं इसको जीना भी चाहिए। दूसरे सत्र में यूआईटी अध्यक्ष संजय महिपाल, सत्यव्रत वर्मा, भाजपा प्रदेश मंत्री कैलाश मेघवाल, श्री धर्म संघ संस्कृत महाविद्यालय के प्रबंधक कल्याण स्वरूप ब्रह्मचारी अतिथि के रूप में मौजूद थे।

संस्कृतमें गीत गाए और नृत्य भी किया: कार्यक्रमके दौरान विद्यार्थियों की ओर से राजस्थानी गीत मेरा अस्सी कली का घाघरा को संस्कृत में प्रस्तुत कर नृत्य किया गया। प्रतिभागियों की ओर से संस्कृत गीतों का गायन कर सभी को अचंभित कर दिया। वहीं गायत्री मंत्र पर योग भी हुआ। जिसको कार्यक्रम में उपस्थित सभी की ओर से काफी सराहा गया। इस दौरान डॉ. बलवंत सिंह चौहान, डॉ. घनश्याम बैरवा, डॉ. सुनील नोखवाल, रमन शास्त्री, डॉ. रामप्रकाश शर्मा, गुरचरण सिंह, डॉ. राजेंद्र कंबोज नरेंद्र कुमार आदि मौजूद थे।

श्रीगंगानगर. गोदारा काॅलेज में आयोजितजनपद संस्कृत सम्मेलन में मंचासीन अतिथि वयोग करती छात्रा।

X
संस्कृत के संरक्षण को लेकर हुआ जनपद सम्मेलन
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..