--Advertisement--

श्रीगुरु अंगद देव के प्रकाश उत्सव पर किया कीर्तन

श्रीगंगानगर| जी ब्लॉक स्थित गुरुद्वारा श्रीगुरुनानक दरबार में सोमवार को सिखों के दूसरे गुरु श्री अंगद देव का...

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2018, 06:15 AM IST
श्रीगुरु अंगद देव के प्रकाश उत्सव पर किया कीर्तन
श्रीगंगानगर| जी ब्लॉक स्थित गुरुद्वारा श्रीगुरुनानक दरबार में सोमवार को सिखों के दूसरे गुरु श्री अंगद देव का प्रकाश उत्सव धूमधाम से मनाया गया। सेवादार सुखदेव सिंह पंछी के अनुसार शाम 7 से 8:30 बजे तक विशेष दीवान सजाए गए। इस दीवान में हजूरी रागी भाई दिलीप सिंह धूरी ने शब्द कीर्तन द्वारा संगत को निहाल किया। कथावाचक भाई संतोख सिंह पटना साहिब वालों ने गुरु साहिब की जीवनी पर प्रकाश डाला। उन्होंने बताया कि गुरु अंगददेव जी को सेवा के बदले उपाधि मिली थी। वे गुरु नानकदेव जी को ईश्वर रूप मानते थे। सेवा करते हुए गुरुनानक देव जी ने गुरुगद्दी अंगद देव को सौंपी। समागम में बड़ी संख्या में संगत ने हाजिरी भारी व श्रद्धा सुमन अर्पित किए। कीर्तन दरबार समाप्ति के बाद गुरु का अटूट लंगर बरताया गया।

अक्षय तृतीय पर पुष्पांजलि कार्यक्रम 18 को : गौड़-सनाढ्य फाउंडेशन के संरक्षक मंडल के सान्निध्य में 18 अप्रैल को अक्षय तृतीया पर सुबह 7:30 बजे परशुराम चौक पर भगवान परशुराम जन्मोत्सव पर पुष्पांजलि कार्यक्रम रखा गया है। इसमें समाज के लोग पुष्प अर्पित कर आशीर्वाद लेंगे। जिलाध्यक्ष पार्षद संदीप शर्मा ने बताया कि सरकार की ओर से इस दिन अवकाश घोषित किया गया है।

जीव का उद्देश्य परमात्मा की प्राप्ति- विजयानंद: अरोड़वंश सनातन धर्म मंदिर में दुर्लभ सत्संग के पहले दिन स्वामी विजयानंद ने कहा कि जीव का उद्देश्य परमात्मा की प्राप्ति है। इस उद्देश्य की प्राप्ति के लिए भगवान के साथ अपनापन यानी आत्मीयता बढ़ानी होगी। लगातार विशुद्ध सत्संग से जुड़े रहने से भगवान के साथ अपनापन बढ़ता है। उन्होंने कहा कि भगत को भगवान से मिलने की उत्कंठा बढ़ानी होगी। इस मौके पर सत्संग सुनने वाले प्रत्येक आयु वर्ग के महिला एवं पुरुषों का तांता लगा रहा। दुर्लभ सत्संग सुबह 5 से 6:30 बजे तक होगा।

बालाजी मंदिर में लगाया लंगर

श्रीगंगानगर| सोमवती अमावस्या पर धान मंडी स्थित बालाजी मंदिर में लंगर गया। इसमें बड़ी संख्या में लोगों ने भोजन प्रसाद ग्रहण किया।

पुरानी आबादी में गुरु अर्जुनदास ने किया सत्संग

श्रीगंगानगर। पुरानी आबादी स्थित श्री गुरु अर्जुनदासजी सत्संग भवन में 224वां सत्संग व कीर्तन समारोह हुआ। इसमें गुरु अर्जुन दास ने सत्संग कर बताया कि भरोसा जितना कीमती होता है, धोखा उतना ही महंगा हो जाता है। फूल कितना भी सुंदर हो तारीफ हमेशा खुशबू की होती है। इसलिए जीवन में हमेशा मनुष्य को मधुर वचन ही बोलने चाहिए। इसके बाद भजन-कीर्तन हुए और अटूट लंगर बरताया गया। इस दौरान सतीश कुमार मिढ्ढा, सुभाष छाबड़ा, विजय कुमार, रवि आहुजा, बिंदू शर्मा, सुखचैन सिंह समेत विभिन्न लोग मौजूद रहे।

X
श्रीगुरु अंगद देव के प्रकाश उत्सव पर किया कीर्तन
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..