--Advertisement--

हरिके में बढ़ा, गंगनहर में कम हुआ 350 क्यूसेक पानी

भास्कर संवाददाता|श्रीगंगानगर गंगनहर में एक महीने से अधिक अवधि से अघोषित बंदी चल रही है। कृषि अधिकारियों की...

Dainik Bhaskar

May 02, 2018, 06:45 AM IST
भास्कर संवाददाता|श्रीगंगानगर

गंगनहर में एक महीने से अधिक अवधि से अघोषित बंदी चल रही है। कृषि अधिकारियों की मीटिंग में यह प्रमाणित हो चुका कि महीने भर पेयजल दिया जाता रहा है, जिससे नरमा कपास की बुआई लक्ष्य के मुकाबले मात्र 5-7 प्रतिशत ही हुई। कुछ इलाकों में तो केवल 3 प्रतिशत हुई है। एक सप्ताह से पानी घटकर चार पांच सौ क्यूसेक रह गया, लेकिन मंगलवार को मात्र 350 क्यूसेक ही मिल रहा था। इतना पानी केवल पेयजल और छीजत में चला जाता है। साफ है कि गंगनहर में अघोषित बंदी रही। दूसरी ओर हरिके हैड वर्क्स पर पानी की मात्रा बढ़ी है। इससे इंदिरा गांधी नहर को 2000 क्यूसेक दिया गया है, लेकिन गंगनहर को नहीं। गंगनहर में पानी कब छोड़ा जाएगा, इसके बारे में जानकारी के लिए अधिकारियों से संपर्क नहीं हो पाया।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..