• Home
  • Rajasthan News
  • Shriganganagar News
  • Sriganganagar - बैठक में ग्राह्य परीक्षण केंद्रों को तकनीकी कार्यक्रम सौंपे, सोइल टेस्ट की रिपोर्ट पेश
--Advertisement--

बैठक में ग्राह्य परीक्षण केंद्रों को तकनीकी कार्यक्रम सौंपे, सोइल टेस्ट की रिपोर्ट पेश

भास्कर संवाददाता | श्रीगंगानगर कृषि अनुसंधान केंद्र में क्षेत्रीय अनुसंधान एवं प्रसार परामर्शदात्री समिति...

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 06:35 AM IST
भास्कर संवाददाता | श्रीगंगानगर

कृषि अनुसंधान केंद्र में क्षेत्रीय अनुसंधान एवं प्रसार परामर्शदात्री समिति (जर्क) की दो दिवसीय बैठक मंगलवार को खत्म हो गई। दूसरे दिन हनुमानगढ़ एवं श्रीगंगानगर कृषि विभाग के डिप्टी डायरेक्टरों ने जांच के दौरान दाेनों जिलों में मिट्टी की स्थिति, पीएच मान, उर्वरा क्षमता, सूक्ष्म एवं प्रमुख तत्वों की जानकारी दी। बैठक में पारित की गई संस्तुतियों तथा ग्राह्य परीक्षण केंद्र के तकनीकी कार्यक्रम निर्धारित किए गए। प्रमुख रबी फसलों की उन्नत कृषि विधियां पुस्तक में संशोधन स्वीकृत किए गए। गुणवत्ता नियंत्रण शाखा के संयुक्त निदेशक केसी मीणा इस कार्यक्रम में जयपुर से आए हुए थे। उन्होंने नए आए अधिकारियों को फील्ड में रहने के निर्देश दिए।

रबी फसल के शोध बताए

दोनों जिलों के डिप्टी डायरेक्टरों ने रबी की फसलों में गेहूं, जौ, सरसों, चना आदि के अंतर्गत बुआई क्षेत्रफल, उत्पादन, उत्पादकता, उर्वरक उपयोग, पौध संरक्षण प्रयोग, मिनी किट्स प्रदर्शनों एवं उपज परिणाम प्रस्तुत किए। डॉ. एसके बैरवा ने चने में स्केरेटोनिया गलन, सरसों में एकीकृत रोग प्रबंधन, मोड्यूल, मशरूम के नई तकनीक कार्यक्रम एवं डॉ. सीमा चावला, डॉ. हनुमानराम, डॉ. बीएस मीणा ने भी अपने ने तकनीकी कार्यक्रम सदन में रखे। डाॅ. आरपीएस चौहान ने सिंचित जल प्रबंधन परियोजना का नवीन तकनीकी कार्यक्रम प्रस्तुत किया। बैठक में दाेनों जिलों के अधिकारी मौजूद रहे।