दिल्ली में बनती हैं नशीली गाेलियां, गुजरात के रास्ते यहां हाेती थी सप्लाई, फर्जी नाम पते से कटते थे बिल

Shriganganagar News - भास्कर संवाददाता| श्रीगंगानगर श्रीगंगानगर जिले में सप्लाई हाे रही करीब 80 फीसदी नशीली गाेलियां दिल्ली में बनाई...

Dec 02, 2019, 11:16 AM IST
Sriganganagar News - rajasthan news drug galleries are made in delhi supplies were brought here through gujarat bills were deducted from fake names
भास्कर संवाददाता| श्रीगंगानगर

श्रीगंगानगर जिले में सप्लाई हाे रही करीब 80 फीसदी नशीली गाेलियां दिल्ली में बनाई जा रही फैक्ट्री का उत्पाद हैं। एनडीपीएस एक्ट में प्रतिबंधित घटक की इस बैच की श्रीगंगानगर जिले मे करीब दाे लाख गाेलियां इसी साल में पकड़ी जा चुकी हैं। दवा निर्माता कंपनी का प्रतिबंधित घटक की दवाअाें का बैच गुजरात के रास्ते राजस्थान अाैर फिर श्रीगंगानगर जिलेभर में सप्लाई हाेता है। हाल ही जवाहरनगर पुलिस की अाेर से पकड़े गए एक मास्टर माइंड कुख्यात तस्कर से पूछताछ में बहुत चाैंकाने वाले खुलासे हुए हैं। पुलिस ने इतनी जानकारियां अाैर साक्ष्य जुटा लिए हैं कि अब इस नशीली दवा की फैक्ट्री काे ही ताला लगाने की तैयारी चल रही है। इधर नशीली गाेलियाें की लाखाें की संख्या में खेप राजस्थान सप्लाई भिजवाने वाले जाेधपुर के हाउसिंग बाेर्ड काॅलाेनी में पीएफ अाॅफिस के पीछे निवासी मनीष परिहार पुत्र बाबूलाल घाची काे गिरफ्तार कर पूछताछ की जा चुकी है। अाराेपी ने लाखाें की संख्या में श्रीगंगानगर अाैर राजस्थान में नशीली गाेलियां सप्लाई की हुई हैं। अाराेपी ने जिन-जिन लाेगाें काे फर्जी बिल काट-काटकर सप्लाई दी थी, उनके बारे में काफी डिटेल जानकारी जुटाई जा चुकी है। मामले में अनेक हाेलसेलर अाैर रिटेलर राडार पर हैं लेकिन इनकाे डिटेक्ट किया जा रहा है ताकि अासानी से पकड़े जा सकें।

अाराेपी पुराने संबंधाें के अाधार पर राजस्थान भर में सप्लाई करता अा रहा था

जवाहरनगर थानाधिकारी अारपीएस प्रशांत काैशिक ने बताया कि अाराेपी मनीष परिहार पहले जाेधपुर में दवा सप्लाई का हाेलसेल का काम करता था। वह खुद ही फार्मासिस्ट है। अाराेपी ने जाेधपुर से नशीली गाेलियाें की सप्लाई का काम शुरू किया अाैर फिर यहां से काम बंद कर अाराेपी पुलिस काे चकमा देकर गुजरात चला गया। अाराेपी ने अहमदाबाद में यूनिक डिस्ट्रीब्यूटर के नाम से नई फर्म गुजरात ड्रग कंट्राेल विभाग से रजिस्टर्ड करवा ली अाैर फिर यही काम करने लगा। अाराेपी ने दिल्ली में नरेला अाैद्याेगिक इलाके में न्यूटेक हेल्थकेयर प्राइवेट लिमिटेड के नाम से काम कर रही दवा निर्माता कंपनी से प्रतिबंधित एनडीपीएस घटक का एक पूरा बैच ही खरीद कर लिया। इसी बैच काे अाराेपी अपने पुराने संबंधाें के अाधार पर राजस्थान भर में सप्लाई करता अा रहा था। अाराेपी द्वारा भेजी गई प्रतिबंधित नशीली गाेलियाें में से 25 हजार गाेलियां सदर पुलिस ने 7 अक्टूबर काे बरामद कर दाे अाराेपी पकड़े थे।

जवाहरगर पुलिस काे सदर पुलिस की अाेर से बरामद की गई 25 हजार नशीली गाेलियाें के बैच अाैर उत्पादक कंपनी की जानकारी मिल गई। जवाहरनगर एसएचअाे काैशिक ने दिल्ली के नरेला स्थित न्यूटेक हेल्थकेयर प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में जाकर उनके द्वारा उक्त बैच की अापूर्ति की पूरी डिटेल मांगी। कंपनी ने लिखित सूचना में बताया कि उक्त बैच ताे गुजरात की एक मात्र फर्म यूनिक डिस्ट्रीब्यूटर काे सप्लाई किया गया है। इस पर पुलिस अाराेपी के दरवाजे पहुंच गई अाैर पड़ताल शुरू कर दी।

अाराेपी ने काटे बिलों की बुक सौंपकर भ्रमित करने का प्रयास किया

जवाहरनगर पुलिस अाराेपी मनीष परिहार की फर्म यूनिक डिस्ट्रीब्यूटर के यहां अहमदाबाद चली गई। पुलिस काे देख अाराेपी घबराया नहीं अाैर उक्त पूरे बैच काे सप्लाई की गई फर्माें के काटे गए बिलाें की बुक ही साैंप दी। उसे लगा कि पुलिस काटे गए 100 बिलाें काे देखकर ही चकरा जाएगी अाैर वापस लाैट जाएगी। लेकिन उसका दांव उल्टा पड़ गया। पुलिस ने काटे गए बिलाें की फर्माें का भाैतिक सत्यापन किया ताे उस नाम अाैर पते की एक भी फर्म नहीं मिली जिस नाम से अाराेपी ने बिल काट रखे थे। अाराेपी मनीष परिहार अपनी बिल बुक के बिल फर्जी नाम पते की फर्माें के नाम काटकर कागजाें में सही बना रहता था। लेकिन वह काेडवर्ड से अपनी नशीली गाेलियाें की खेप काे अपने तस्कराें तक पहुंचाता था। अाराेपी अहमदाबाद से जम्मू के बीच चलने वाली ट्रेन अाैर राजस्थान अाने वाली निजी बसाें पर बिल्टी बनाकर नशीली गाेलियाें की खेप भेज देता था। उसकाे लगता था कि वह कभी पकड़ा नहीं जाएगा लेकिन वह अपने ही बनाए जाल में फंस गया। एक ही बैच का पूरा लाॅट खरीदकर गलती कर बैठा।

X
Sriganganagar News - rajasthan news drug galleries are made in delhi supplies were brought here through gujarat bills were deducted from fake names
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना