ज्ञान के लिए गुरु की शरणागति होना पड़ता है- कालिंदी भारती

Shriganganagar News - श्रीगंगानगर| सुखाड़िया सर्किल स्थित गोपीराम गोयल की बगीची में दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान की ओर से आयोजित...

Bhaskar News Network

Feb 14, 2019, 06:27 AM IST
Sriganganagar News - rajasthan news gurdwara has to be surrendered karthi bharti
श्रीगंगानगर| सुखाड़िया सर्किल स्थित गोपीराम गोयल की बगीची में दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान की ओर से आयोजित श्रीमद्भागवत कथा में बुधवार को कालिंदी भारती ने ध्रुव प्रसंग का वर्णन किया। उन्होंने कहा कि हमारे समस्त वेद-शास्त्रों व धार्मिक ग्रन्थों में यही लिखा गया है कि ब्रह्म ज्ञान की प्राप्ति के लिए केवल गुरु की शरणागति होना पड़ता है। बुधवार को पूजन यजमान श्यामलाल खारीवाल व गोपाल सिंगला ने किया। इस मौके पर डॉ. बृजमोहन सहारण, डॉ. कुसुम जैन, एडवोकेट सुशील कुमार डल, सीए पवन मित्तल, एडवोकेट श्योपत राम, हनुमान दास गोयल, विजय गोयल, एडवोकेट जसवंत भादू, नरेश बंसल व पंडित केसी शुक्ला सहित बड़ी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित रहे। स्वामी धीरानंद ने बताया कि गुरुवार शाम 6 से रात 9 बजे तक दधीचि ऋषि का दान व प्रहलाद प्रसंग का वर्णन होगा। स्वामी धीरानंद ने बताया कि प्रदर्शनी में नेत्रहीन व विकलांग की सहायतार्थ, बंदी सुधार व पुनर्वास कार्यक्रम, नशा युक्त समाज से नशा मुक्त समाज की आेर प्रयास, ग्रामीण अथवा अभावग्रस्त क्षेत्रों में संपूर्ण स्वास्थ्य की ओर से एक मुहिम, अभावग्रस्त बच्चों को मूल्याधारित शिक्षा प्रदान करता सामाजिक प्रकल्प, महिलाओं के प्रति हो रहे पक्षपात व हिंसा आदि को पोस्टर से दर्शाया गया है।

X
Sriganganagar News - rajasthan news gurdwara has to be surrendered karthi bharti
COMMENT