मेरे भाई और पत्नी ने सारे रास्ते बंद किए, मैं झेलता रहा और अब रो-रो कर अपना घर उजाड़ रहा हूं...

Shriganganagar News - भिरानी थाना के गांव शिवदानपुरा बुढ़ेर में सोमवार रात्रि को चरित्र पर संदेह में एक व्यक्ति ने अपनी प|ी व दो बेटों...

Mar 04, 2020, 09:36 AM IST

भिरानी थाना के गांव शिवदानपुरा बुढ़ेर में सोमवार रात्रि को चरित्र पर संदेह में एक व्यक्ति ने अपनी प|ी व दो बेटों की धारदार हथियार(फरसे) से हत्या के बाद खुद ने भी जहर पीकर आत्महत्या का प्रयास किया। जहर पीने से पहले उसने खेत में सुसाइड नोट लिखकर छोड़ा जिसमें इस हत्याकांड का जिम्मेदार अपने सौतेले भाई व प|ी को बताया है। उसे गंभीर हालत में उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया। पुलिस ने फिलहाल उपचाराधीन पति के खिलाफ प|ी और बेटों की हत्या का मामला दर्ज किया है। इस घटना के बाद गांव में सनसनी फैल गई। चूरू जिले की सीमा से सटे गांव शिवदानपुरा बुढ़ेर में चत्तर सिंह (35) ने सोमवार रात करीब नौ बजे अपनी प|ी सुमन (32) व दो बेटों विनोद (8) व कार्तिक (5) की फरसे से गले और सिर पर निर्ममता से ताबड़तोड़ वार कर मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद चतर सिंह मौके से फरार हो गया और घटनास्थल से करीब एक किलोमीटर दूर खेत में रातभर रहने के बाद सुबह स्प्रे का सेवन कर लिया। भिरानी के सरकारी अस्पताल में उसका पेट वॉश किया गया। हालत गंभीर होने पर उसे भादरा के बाद हनुमानगढ़ रेफर कर दिया गया जहां उसकी हालत नाजुक बताई जा रही है। इससे पहले वारदात की सूचना ग्रामीणों ने भिरानी पुलिस को सोमवार रात करीब दस बजे दी। सूचना पाकर भिरानी थानाधिकारी राजाराम लेघा टीम के साथ साथ मौके पर पहुंचे और मृतक मां-बेटों के शव मोर्चरी भिजवाए। देर रात्रि तक पुलिस की टीमें आरोपी की तलाश में जुटी रहीं। एसपी राशि डोगरा डूडी और भादरा एएसपी राजेंद्र मीणा ने घटनास्थल का मौका मुआयना किया।

एफआईआर...हत्या के लिए दुष्प्रेरित करने वालों पर कार्रवाई

मेरी भतीजी सुमन की शादी 10 वर्ष पहले भादरा के बुढेर गांव के चतर सिंह पुत्र इंद्राज जाट के साथ हुई थी। चतर सिंह ने सोमवार रात्रि को अपने घर में सुमन, उसके दोनों पुत्रों विनोद व कार्तिक की हत्या कर दी। हत्याकांड में चतरसिंह के साथ अगर कोई अन्य दुष्प्रेरित करने वाला व घटनाक्रम में संलिप्त हो तो उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की जाए। (जैसा कि मदनलाल पुत्र भादरराम जाट निवासी रायसिंहपुरा नोहर ने पुलिस को दर्ज कराई एफआईआर में बताया)

जांच अधिकारी बोले...मामले की हर एंगल से जांच, आराेपी का कोई नोट नहीं मिला है, पेश करेगा तो जांच करवा लेंगे

भिरानी थानाप्रभारी राजाराम लेघा ने बताया कि मामले की हर एंगल से जांच की जा रही है। पुलिस को अभी तक आरोपी का कोई नोट नहीं मिला है अगर कोई पुलिस थाना में पेश करेगा तो उसकी जांच करा ली जाएगी।

हत्याकांड को अंजाम देने के बाद खुद ही रिश्तेदारों को बताया, आरोपी पति अस्पताल में, मुकदमा दर्ज

जैसा कि पति ने प|ी व दोनों बेटों की हत्या से पहले पत्र में लिखा**

सारा कांड कराने का कारण है राजेश पुत्र इंद्राज महला का लाडला। सभी को हाथ जोड़ कर लिखता हूं भाईयों और बहनों किसी का बसा हुआ घर मत उजाड़ना। मैंने मेरा घर उजाड़ा है बहुत रो-रोकर क्योंकि इस इंसान ने चार बार इस माह में उठवाने व मारने की धमकी दी, पर मैं झेलता रहा। अब आखिर में चारों रास्ते मेरे बिल्कुल बंद कर दिए सुमन व राजेश महला ने। तब मैंने यह सारा खेल खेला। आगे आप जानो। साहब, मैं ये सच-2 लिख रहा हूं। जब आपने स्टार वाली वर्दी पहनी थी तब भारत मां की कसम खाकर कहा था कि दूध का दूध और पानी का पानी करुंगा। सर, अगर मैं किसी साइड से दोषी था तो आप गांव या रिश्तेदार से एक बार कहवा देना। आप जो चाहो सजा दे देना। ( चतर सिंह ने जहर पीने से पहले खेत में छोड़े दो पेज पर लिखा)

एकल परिवार की व्यवस्था की स्थिति में व्यक्ति केवल अपने परिवार के विकास के लिए सोचता है और अन्य सदस्यों से तुलना करने लगता है। इससे तनाव से शक पैदा होते हैं। ऐसी स्थिति व्यक्ति की मानसिक संतुलन को बिगाड़ देती है। ऐसे में यह आवश्यक है कि व्यक्ति परिवार में विश्वास बनाए रखे और अपनी सहन शक्ति को बढ़ाए। केवल शक के आधार पर जीवन को बर्बाद नहीं करें बल्कि समस्याओं को मिल-बैठकर सुलझाएं। पति-प|ी में एक-दूसरे के प्रति सम्मान नहीं होना एवं दयाहीन व्यवहार बच्चों को संस्कार विहीन व निर्दयी बनाता है।आपसी रिश्तों में दोस्ती का भाव भी रखना चाहिए। अपने रिश्ते में हमेशा दोस्ती रखें।

(एक्सपर्ट- समाजशास्त्री डॉ. अर्चना गोदारा व मनोरोग विशेषज्ञ डॉ. ओपी सोलंकी)

सरोकार....केवल शक के आधार पर जीवन को बर्बाद नहीं करें**

दो पेज पर लिखी व्यथा...हाथ जोड़ता हूं किसी का बसा हुआ घर मत उजाड़ना
सुमन और राजेश ने मेरे चारों रास्ते बंद कर दिए, तब मैंने यह सारा खेल खेला**

सौतेले भाई को लेकर होता था पति-प|ी में झगड़ा : चतरसिंह के पिता इंद्राज ने दो शादियां की थी। इसमें पहली मां से चतरसिंह जबकि दूसरी मां से दो पुत्र कृष्ण और राजेश हैं। राजेश और सुमन के संबंधों को लेकर अक्सर पति-प|ी में झगड़ा होता था। मामला दर्ज होने के बाद राजेश ने पुलिस थाना पहुंचकर पुलिस को बताया कि उसका कोई दोष नहीं हैं। जांच में सच्चाई सामने आ जाएगी।

हत्यारोपी चतरसिंह ने वारदात को अंजाम देने के बाद गांव में रहने वाले रिश्तेदारों और ग्रामीणों को घटना को अंजाम देने के बारे में बताया और फिर रातभर खेत में छिपा रहा। सुबह उसने किसी समय स्प्रे का सेवन कर लिया। इससे पहले उसने एक रिश्तेदार को कॉल कर कहा कि वह कुछ ही देर का मेहमान है। इस पर परिजनों ने उसे खेत में स्प्रे पीने से गंभीर हालत में पाया और भादरा के सरकारी अस्पताल में पहुंचाया। हनुमानगढ़ रेफर करने के बाद भी एंबुलेंस के अभाव में वह करीब डेढ़ घंटे तक भादरा सीएचसी में तड़पता रहा। इसके बाद एंबुलेंस आने पर उसे हनुमानगढ़ रवाना किया गया।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना