पंडितोंं काे कश्मीर के मुस्लिम बहुल इलाकों में बसाया जाएगा: राम माधव

Shriganganagar News - चार साल बाद फिर घाटी में कश्मीरी पंडितों को बसाने की बात शुरू हो गई है। भाजपा महासचिव राम माधव ने एक इंटरव्यू में...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 09:20 AM IST
Khat News - rajasthan news panditans will be settled in kashmir39s muslim dominated areas ram madhav
चार साल बाद फिर घाटी में कश्मीरी पंडितों को बसाने की बात शुरू हो गई है। भाजपा महासचिव राम माधव ने एक इंटरव्यू में कहा है कि कश्मीर घाटी में मुस्लिम बहुल इलाकों में कश्मीरी पंडिताें काे फिर से बसाया जाएगा। सरकार हिंदुओं के पुनर्वास की तैयारी कर रही है। इस प्रस्ताव को भाजपा आलाकमान की मंजूरी लगभग मिल चुकी है। जम्मू-कश्मीर के भाजपा प्रभारी राम माधव के अनुसार पार्टी लंबे समय से कश्मीरी पंडिताें काे वापस बसाने की याेजना पर काम कर रही है। भाजपा कश्मीर से जा चुके पंडिताें काे वापस कश्मीर में बसाने के लिए प्रतिबद्ध है। भाजपा-पीडीपी गठबंधन सरकार ने हिंदुओं के लिए अलग से टाउनशिप बनाने का प्रस्ताव रखा था, लेकिन इस पर कोई काम नहीं हुआ।

2014 में मोदी ने पंडितों को बसाने की बात कही थी

कश्मीरी पंडिताें के नेता भाजपा की याेजना पर असहमत

कश्मीरी पंडित समुदाय के नेता संजय टिकू ने भाजपा की इस याेजना से असहमति जताई है। उन्होंने कहा कि पंडितों के लिए अलग से कॉलोनियां बनाना और उसके लिए सुरक्षा के बढ़े हुए इंतजाम करना समस्या का वास्तविक हल नहीं है। इससे घाटी में तीखी प्रतिक्रिया देखने को मिल सकती है। क्या यह मुमकिन है कि किसी पिंजरे के कैदी जैसा जीया जाए, चाहे जितनी भी सुरक्षा हो?

माधव के बयान पर गृह मंत्रालय चुप


माधव के बयान पर गृह मंत्रालय ने टिप्पणी से इनकार कर दिया है। माेदी सरकार ने 2014 में कश्मीरी पंडिताें काे बसाने की घाेषणा की थी। 2015 में इसके लिए कार्ययाेजना बनाई गई थी।

हुर्रियत नेता ने कहा कॉलोनी बनाने से उद्देश्य खत्म हो जाएगा

पिछले महीने ऑल इंडिया हुर्रियत कॉन्फ्रेंस ने कुछ कश्मीरी पंडितों से मुलाकात की थी। इसमें पंडितों के लिए अलग कॉलोनियां बसाने को लेकर सर्वसम्मति नहीं बनी। हुर्रियत नेता मीरवाइज उमर फारूक ने कहा कि अगर आप उन्हें अलग कॉलोनियों में रखते हैं, तो यह इस उद्देश्य को ही खत्म कर देगा। इसका उद्देश्य समुदायों के बीच आपसी विश्वास और सम्मान की भावना को बढ़ाना है।

हकीकत

30 साल में तीन लाख कश्मीरी हिंदू विस्थापित जम्मू-कश्मीर में 80 के दशक में अातंकवाद शुरू हुअा। 1989 में कश्मीरी पंडिताें काे अातंकियाें ने निशाना बनाना शुरू किया। इसके बाद से करीब 3 लाख कश्मीरी हिंदू भागने काे मजबूर हुए। 1947 के बाद पंडित पहले पीओके से भागकर भारतीय कश्मीर में आए थे।

कश्मीर घाटी की 70 लाख अाबादी, 97% मुस्लिम

घाटी में अभी 70 लाख लोग रह रहे हैं, इनमें 97% मुस्लिम हैं। कश्मीर में हिंदुअाें की अाबादी 90 के दशक में 5% थी, जाे अब न के बराबर है। घाटी में आतंकी घटनाओं और तनाव के चलते वहां सेना समेत अन्य सुरक्षा बलों की तैनाती है। 3 दशक में कश्मीर में 50 हजार से ज्यादा लोग अातंकी हमलाें में मारे जा चुके हैं।

X
Khat News - rajasthan news panditans will be settled in kashmir39s muslim dominated areas ram madhav
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना