• Hindi News
  • Rajasthan
  • Shriganganagar
  • Sriganganagar News rajasthan news post mortem denied debt waiver and demand of government job on strike of kin of deceased farmer in district hospital

मृतक किसान के परिजन जिला अस्पताल में धरने पर, कर्ज माफी और सरकारी नौकरी की मांग, पोस्टमार्टम से इनकार

Shriganganagar News - दस लाख से भी अधिक के कर्ज तले दबे छापांवाली के किसान महेंद्र के शव का साेमवार काे पाेस्टमार्टम नहीं हाे सका।...

Feb 18, 2020, 11:45 AM IST
Sriganganagar News - rajasthan news post mortem denied debt waiver and demand of government job on strike of kin of deceased farmer in district hospital

दस लाख से भी अधिक के कर्ज तले दबे छापांवाली के किसान महेंद्र के शव का साेमवार काे पाेस्टमार्टम नहीं हाे सका। परिवार के साथ गांव के बड़ी संख्या में लाेग सरकार से मृतक किसान के संपूर्ण कर्ज माफी के साथ ही परिवार के चाराें मासूम बच्चाें सहित दाेनाें महिलाअाें के भरण-पाेषण के लिए अार्थिक मदद की मांग कर रहे हैं। इस बात काे लेकर जिला अस्पताल के पार्क में ग्रामीणाें के साथ ही किसान संगठनाें का धरना शुरू हाे गया है। पीड़ित परिवार ने जिलेभर के किसान संगठनाें, किसान प्रतिनिधियांे अाैर किसानाें तक से अाह्वान किया है कि वे दुख की इस घड़ी में पीड़ित परिवार के साथ खड़े हाें अाैर प्रशासन पर दबाव बनाने व पीड़ित परिवार काे कर्ज से मुक्ति दिलवाने के लिए मंगलवार काे सुबह जिला अस्पताल में पहुंचें। इधर पुलिस ने मृतक के शव काे जिला अस्पताल की माेर्चरी में रखवाकर अागे हथियारबंद पहरा लगा दिया है ताकि काेई भी शव काे चुराकर न ले जा सके। सादुलशहर पुलिस ने मृतक के चचेरे भाई सुशीलकुमार की रिपाेर्ट पर मर्ग दर्ज की है।

परिवादी ने िरपाेर्ट में बताया है कि उसके चचेरे भाई महेंद्रकुमार के सिर पर बैंक का लाेन बकाया था। इससे तनावग्रस्त हाेकर उसने जहर पी लिया। इलाज के दाैरान उसकी मृत्यु हाे गई। प्रशासन की अाेर सादुलशहर नायब तहसीलदार हरीश टाक, सीअाे ग्रामीण ताराराम, सादुलशहर एसएचअाे बलवंतराम, जांच अधिकारी एसअाई लेखराम अाैर सदर एसएचअाे राजेश सियाग दिनभर जिला अस्पताल में धरना दे रहे लाेगाें के अासपास माैजूद रहे।

57हजार रुपए का औसतन कर्ज सरकार ने माफ किया

ऑर्गेनाइजेशन ऑफ़ इकोनॉमिक कोऑपरेशन एंड डेवलपमेंट की रिपोर्ट के मुताबिक 2000-2017 के बीच में किसानों को 45 लाख करोड़ रुपए का नुकसान हुआ क्योंकि उन्हें उनकी फ़सलों का समुचित मूल्य नहीं मिला।

एक परेशानी यह भी... किसानों की एक बड़ी पीड़ा यह भी है कि जब भी प्राकृतिक आपदा होती है। किसानों को तत्काल राहत के बजाय सरकार एक से दो साल बाद ही उन्हें मुआवजा देती है। उसके लिए भी कई बार चक्कर काटने पड़ते हैं।

कर्ज के आंकड़े...विस्तृत समाचार पेज 16 पर भी पढ़ें**

मृतक महेंद्रकुमार के ससुर लालचंद कुम्हार ने साेशल मीडिया पर एक वीडियाे वायरल कर जिलेभर के किसानाें अाैर संगठन प्रतिनिधियाें से इस संबंध में सहयाेग मांगते हुए मार्मिक अपील की है। जिला अस्पताल में धरनास्थल पर बार एसाेसिएशन श्रीगंगानगर के अध्यक्ष एडवाेकेट विजय रेवाड़, राष्ट्रीय कुम्हार महासभा की युवा इकाई अध्यक्ष बलवंत निमीवाल, अखिल भारतीय किसान सभा के पालाराम, रालाेपा के जिलाध्यक्ष संजय सिहाग, सदस्य सन्नी जाट, किसान संघर्ष समिति प्रवक्ता एडवाेकेट सुभाष सहगल, अमरसिंह बिश्नाेई, गंगानगर किसान समिति से संतवीरसिंह, रणजीतसिंह राजू, किसान दल से रघुवीर ताखर, जय किसान संगठन से विनाेद ताखर, किसान नेता राजेंद्र ज्याणी सहित छापांवाली गांव के बड़ी संख्या में लाेग माैजूद थे। मंगलवार काे सभी किसान संगठनाें की जिला अस्पताल में धरनास्थल पर सभा रखी गई है।

मृतक के ससुर ने साेशल मीडिया पर वीडियाे वायरल कर मांगा सहयाेग**

जिला अस्पताल के पार्क में धरने पर बैठे पीड़ित परिवार के साथ किसान संगठनाें के सदस्याें से वार्ता करने नायब तहसीलदार हरीश टाक दाेपहर पाैने दाे बजे पहुंचे। तब पूर्व विधायक हेतराम बेनीवाल ने उनसे पूछा कि क्या उन्हाेंने धरना दे रहे लाेगाें की मांग के संबंध में कलेक्टर से बात की है। नायब तहसीलदार ने कहा कि उनकी एसडीएम से बात हुई है। कलेक्टर तक मैसेज चैनल के जरिए ही जाएगा। तब हेतराम ने कहा कि अापने कलेक्टर से बात ही नहीं की ताे अाप हमारे पास किस लिए अाए हैं। कलेक्टर काे जरूरत हाेगी ताे अपने अाप धरने पर बात करने अा जाएंगे। इतना सुनकर नायब तहसीलदार बैकफुट पर अा गए अाैर वहां से चले गए। इसके बाद दिनभर दाेबारा काेई वार्ता नहीं हुई।

सीएम ने 5 जनवरी 2019 काे घाेषणा की थी, कर्ज से किसान अात्महत्या ताे पूरा कर्ज माफ, करते क्याें नहीं? इस बीच धरने पर माैजूद अनिल गाेदारा ने लाेगाें काे बताया कि सीएम अशाेक गहलाेत ने 5 जनवरी 2019 काे घाेषणा की थी कि जिन किसानाें ने कर्ज के कारण अात्महत्या की है, उनका संपूर्ण कर्ज माफ हाेगा। इसके लिए यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल की अध्यक्षता में सात मंत्रियाें की समिति गठित की थी। इस हिसाब से किसान महेंद्रकुमार का संपूर्ण कर्ज तत्काल ही माफ हाेना चाहिए। लेकिन नायब तहसीलदार ने कहा कि एेसी सरकार ने काेई घाेषणा नहीं की है।

लाइव...आंदोलनकारियों से वार्ता करने अाए नायब तहसीलदार बेनीवाल के सवाल सुनकर बिना बातचीत किए ही लौट गए

चिंताजनक आंकड़े| 3 लाख किसान, एक पर कर्ज 3.15 लाख रुपए, माफी महज 57 हजार की**

2016 में देश में हर राेज 17 किसानों ने दी जान**

गृह मंत्रालय के अांकड़ों को सच माने तो 2016 में भारत में 6,351 किसानों अथवा खेती करने वाले मजदूरों ने खुदकुशी की है। यानी हर रोज 17 किसान किन्हीं कारणों से जान दे रहे हैं। यदि आंकड़ों पर नजर डालें तो पता यह भी चलता है कि 2015 में यह आंकड़ा 8,007 था। यानी हर दिन 22 किसानों ने आत्महत्या की। हैरानी यह भी है कि वर्ष 2015 तक किसानों की खुदकुशी की रिपोर्ट अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो की वेबसाइट पर मौजूद है लेकिन 2016 से लेकर 2019 तक की कोई रिपोर्ट सरकार की ओर से न जारी की गई और न ही आंकड़े वेबसाइड पर डाले गए।

13माह में दोनों जिलों के 7 किसानों ने आत्महत्या की है, सबमें एक ही कारण था-कर्जा

3.15लाख 690 रुपए का कर्ज एक किसान पर औसतन है

96.85 अरब रुपए का कर्जा है इन पर

3.06 लाख जिले मेंे किसान हैं

Sriganganagar News - rajasthan news post mortem denied debt waiver and demand of government job on strike of kin of deceased farmer in district hospital
X
Sriganganagar News - rajasthan news post mortem denied debt waiver and demand of government job on strike of kin of deceased farmer in district hospital
Sriganganagar News - rajasthan news post mortem denied debt waiver and demand of government job on strike of kin of deceased farmer in district hospital

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना