• Hindi News
  • National
  • Sriganganagar News Rajasthan News Principal Savita Has Done Development Work Of 286 Lakhs In 3 Years Special Emphasis On Girl Child Education

प्रिंसीपल सविता ने स्कूल में 3 साल में करवाए 28.6 लाख के विकास कार्य, बालिका शिक्षा पर विशेष जोर

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर संवाददाता| श्रीगंगानगर

महिला को शक्ति का रूप माना जाता है। जिंदगी में आने वाली कठिनाइयों का भी महिलाएं मजबूती से सामना करती है। कुछ ऐसी ही संघर्षपूर्ण कहानी है शहर में रहने वाली शिक्षिका सविता शर्मा की। जिंदगी ने हर कदम पर सविता का इम्तिहान लिया और सविता हर बार सशक्त होकर आगे बढ़ती चली गई। छोटी-मोटी समस्याओं से निराश होने वाली महिलाओं के लिए सविता जीवंत प्रेरणा स्रोत हैं। उन्होंने केवल लड़कों को ही नहीं बल्कि अनुसूचित जाति की लड़कियों को भी शिक्षा के क्षेत्र में समान अवसर उपलब्ध करवाए। वर्तमान में सविता शर्मा लालगढ़ जाटान स्थित आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय में बतौर प्रधानाचार्य कार्यरत हैं। वे बताती हैं कि अभी उनके स्कूल में 5 वीं तक 91 लड़कियां पढ़ रही हैं। इनमें अधिकतर अनुसूचित जाति से हैं। आगे की कक्षाओं में पढ़ाई के लिए लड़कियाें को इसी विद्यालय के नजदीक स्थित बालिका विद्यालय में दाखिला लेना होता है। विद्यालय में कुल 490 विद्यार्थी अध्ययनरत हैं। जिनके संपूर्ण विकास के प्रयास किए गए हैं। इसके अलावा उन्होंने अपने 3 साल के कार्यकाल में 28 लाख 65 हजार रुपए से अधिक विकास कार्य करवाए हैं।

6 मई 2015 को बतौर प्रधानाचार्य ज्वाइन किया था तब स्टाफ के कई मतभेद थे, अब सब कर रहे सहयोग
सविता बताती हैं कि उन्होंने 6 मई 2015 को विद्यालय में बतौर प्रधानाचार्य ज्वाइनिंग की। ससुराल वालों का भी मुझे सरकारी नौकरी में भेजने को लेकर काफी सपोर्ट मिला। वे बताती हैं कि तब विद्यालय के स्टाफ सदस्यों में कई तरह के मतभेद थे। स्टाफ को समझाया और टीम भावना के साथ सहयोग के लिए प्रेरित किया। इसके बाद से ही स्टाफ सदस्यों ने अनेक बार विद्यालय के छात्र-छात्राओं के जूते तो कभी स्वेटरों का वितरण करना शुरू किया। इसके अलावा स्टाफ सदस्य विद्यालय भवन के रखरखाव में सहयोग राशि देते रहते हैं।

विद्यालय में यह विकास कार्य करवाए गए : सविता ने बताया कि विद्यालय में 2015 में करीब 1 लाख 25 हजार रुपए से हॉल की छत की मरम्मत करवाई। इसके बाद 2016 में मैन गेट से पहले एक गेट और बनवाया गया। इस पर करीब 60 हजार रुपए खर्च हुए। इस कड़ी में 2017 में कक्षाओं के आगे की पगडंडियों का निर्माण करवाया। इस पर आया खर्च उन्होंने वहन किया। 2018 में विद्यालय में दो कमरों का निर्माण कार्य शुरू करवाया था। इस निर्माण पर करीब 20 लाख रुपए तक का खर्चा आया है।

विद्यालय से 4 बच्चे नेशनल हैंडबॉल खेल चुके
इस विद्यालय के छात्र-छात्राओं की शिक्षा व खेलकूद में भी काफी उपलब्धियां रही हैं। इसमें विद्यालय के 4 विद्यार्थी दिल्ली में आयोजित नेशनल हैंडबॉल भी खेल चुके। जहां इन विद्यार्थियों ने उत्कृष्ट प्रदर्शन कर सराहना हासिल की। इसके अलावा 2017 में जारी साइंस के परीक्षा परिणाम में रोबिन ने जिला लेवल पर मेरिट में प्रथम स्थान हासिल किया। सविता शर्मा बताती हैं कि हर बार साइंस का परीक्षा परिणाम 100 प्रतिशत रहता है। इसके अलावा अन्य कक्षाओं का परिणाम भी सामान्य से बेहतर रहता है।

खबरें और भी हैं...