पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Sriganganagar News Rajasthan News Sarpanch Bale Officials Did Not Assess Gst And Rent Assurance Of Cea Will Check Again

सरपंच बाेले- अधिकारियों ने जीएसटी और किराए का नहीं किया आंकलन, सीईअाे का अाश्वासन -दाेबारा हाेगी जांच

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
श्रीगंगानगर| जिले की 60 पंचायताें में रंगीन कुर्सियां खरीद में जिला परिषद से जेटीए, सरपंच व सचिवाें से 59 लाख की वसूली अादेश जारी हाेने के बाद सरपंचाें ने सीईअाे जिला परिषद काे ज्ञापन साैंप अपना पक्ष रखा है। इस मामले की जांच करने वाले अधिकारियाें पर अाॅफिस में बैठकर रिपाेर्ट तैयार करने के अाराेप लगाए हैं। साथ ही इस मामले में उच्च स्तरीय तकनीकी अधिकारियाें से पंचायताें में भाैतिक सत्यापन करवाने व जीएसटी तथा किराए का अांकलन करने की मांग की है। जिला सरपंच यूनियन के अध्यक्ष जगजीतसिंह के नेतृत्व में सरपंच सीईअाे से मिले। सरपंचाें ने सीईअाे साैरभ स्वामी काे बताया कि पंचायताें में जाे रंगीन कुर्सियां खरीदी गई हैं वह पंचायत समिति से प्रशासनिक व तकनीकी स्वीकृति जारी हाेने के बाद ही खरीद की गई हैं।

नियमानुसार 28 प्रतिशत जीएसटी का भी भुगतान किया गया है। संबंधित फर्म से खरीद के बाद पंचायताें तक परिवहन कर ले जाने व स्थापित करने के एवज में भी भुगतान किया गया है। कार्य पूर्ण हाेने के बाद समायाेजन प्रमाण पत्र भी जारी हाे चुके हैं। इसके बावजूद इस मामले में कुर्सियाें का मुल्य 3219 रुपए मानते हुए शेष राशि की गड़बड़ी मानते हुए वसूली के अादेश जारी किए गए हैं जाे गलत है। जीएसटी राशि व किराए का भी अांकलन नहीं किया गया है।

कई पंचायताें ने बिना स्वीकृति खरीदी कुर्सियां, फिर भी जेटीए काे मान लिया दाेषी

कई पंचायताें ने बिना प्रशासनिक व तकनीकी स्वीकृति के ही कुर्सियाें की खरीद की गई है। चार एलएल ग्राम पंचायत की जेटीए साेनू बिश्नाेई ने इस संबंध में जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी काे लिखित में रिपाेर्ट पेश की है। जिसमें लिखा गया है कि पंचायत की अाेर से खरीदी गई कुर्सियाें किसी प्रकार की स्वीकृति जारी नहीं की गई है तथा ना ही काेई लेना देना है। इसके बावजूद पंचायत सरपंच अाैर ग्राम विकास अधिकारी ने रंगीन कुर्सियाें की खरीद कर ली है। इस मामले में जेटीअाे काे भी दाेषी मान लिया गया है।

सफाई दी...नगर परिषद ने भी खरीदी 76 साै रुपए के हिसाब से रंगीन कुर्सियां दस्तावेज दिखाए

सरपंचाें ने सीईअाे काे दस्तावेज दिखाते हुए बताया कि पंचायताें ने अधिकतम सात हजार रुपए से अधिक इन कुर्सियाें की खरीद नहीं की है। जबकि शहर में नगर परिषद से यही कुर्सियां 76 साै रुपए के हिसाब से खरीदी हैं। इसके अलावा रेलवे में भी इन्हीं कुर्सियाें की खरीद की गई है। सरपंचाें ने इस संबंध में सीईअाे काे दस्तावेज भी दिखाए। इनकी जांच की जा रही है।

सीईओ बोले....उच्च स्तरीय तकनीकी अधिकारियों से फिर से करवाया जाएगा मूल्यांकन

सरपंचाें ने सीईअाे के सामने मामला उठाते हुए कहा कि जांच अधिकारी की रिपाेर्ट पूर्णतया निराधार बनाई हैं तथा पंचायताें में जाकर भाैतिक सत्यापन भी नहीं करवाया गया। एेसे में इस रिपाेर्ट के अाधार पर वसूली अादेश निकालना गलत है। इस पर सीईअाे ने सरपंचाें काे उच्च स्तरीय तकनीकी अधिकारियाें से पुन: खरीदी गई कुर्सियाें का मूल्यांकन करवाने का अाश्वासन दिया।

खबरें और भी हैं...