हे भगवान! इतनी अमानवीयता, बच्चों से खेलते-खेलते पौधे टूटे तो चूल्हे से अंगारे निकाल 3 मासूमों के हाथों पर रख दिए, दर्द से चीख पड़े मासूम / हे भगवान! इतनी अमानवीयता, बच्चों से खेलते-खेलते पौधे टूटे तो चूल्हे से अंगारे निकाल 3 मासूमों के हाथों पर रख दिए, दर्द से चीख पड़े मासूम

Bhaskar News

Dec 07, 2018, 10:50 AM IST

राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले की है यह शर्मनाक घटना।

story of Inhumanity in shringganagar rajasthan

श्रीगंगानगर (राजस्थान)। इस तस्वीर को देखकर आपका भी मन विचलित हो उठा होगा और कह रहा होगा कि हे भगवान, इतनी अमानवनीयता। दरअसल मामला श्रीगंगानगर जिले के सादुलशहर क्षेत्र के गांव तख्तहजारा बावरियान का है। जहां तीन बच्चे एक धर्मस्थल पर खेल रहे है। खेलते-खेलते उनसे परिसर में लगे पौधे क्षतिग्रस्त हो गए। यह देखकर दो लोगों ने वहीं पर जले रहे चूल्हे में से अंगारे निकाले और बच्चों से हाथ पर रख दिए। बच्चों की चीखें सुन आसपास के लोग इकट्‌ठा हो गए। परिजनों ने मेहंदी आदि लगाकर एक बार तो बच्चों को दर्द से थोड़ी की राहत दिलवाई। लेकिन गुस्साए परिजनों ने कार्रवाई की मांग की है।


समझाइश पर माने, रात तक नहीं दिया परिवाद


बच्चों के परिजनों को समझाइश कर मामला शांत करवाया। करीब दो घंटे की समझाइश के बाद मामला तब शांत हुआ जब पुलिस ने आश्वासन दिया कि दोनों आरोपियों को राउंड अप कर बच्चों के सामने रूबरू करवाया जाएगा। घटना में दोषी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। सीआई बलराज सिंह मान ने बताया कि परिजनों ने अभी तक कोई लिखित परिवाद नहीं दिया है। परिवाद मिलते ही कार्रवाई की जाएगी।

X
story of Inhumanity in shringganagar rajasthan
COMMENT