खलबली / निजी स्कूल की टंकी का पानी पीने से 70 बच्चे बीमार, सात चूरू रैफर



चूरू. डीबी अस्पताल स्थित शिशु वार्ड में भालेरी स्कूल के विद्यार्थियों की कुशलक्षेम पूछते कलेक्टर। चूरू. डीबी अस्पताल स्थित शिशु वार्ड में भालेरी स्कूल के विद्यार्थियों की कुशलक्षेम पूछते कलेक्टर।
X
चूरू. डीबी अस्पताल स्थित शिशु वार्ड में भालेरी स्कूल के विद्यार्थियों की कुशलक्षेम पूछते कलेक्टर।चूरू. डीबी अस्पताल स्थित शिशु वार्ड में भालेरी स्कूल के विद्यार्थियों की कुशलक्षेम पूछते कलेक्टर।

  • टंकी में जहरीला पदार्थ मिलाने की आशंका भालेरी थाने में मामला दर्ज
  • सीएमएचओ ने तीन सदस्यीय डॉक्टरों की टीम को जांच सौंपी

Dainik Bhaskar

Oct 11, 2019, 01:20 AM IST

चूरू. भालेरी के निजी स्कूूल में गुरुवार सुबह टंकी का पानी पीने से 70 बच्चे बीमार हो गए। स्कूल निदेशक ने आशंका जताई है कि किसी ने टंकी के पानी व मटके में जहरीला पदार्थ मिलाया है। सीएमएचओ, तहसीलदार व सीबीईओ ने भी पानी में मिलावट माना है। भालेरी पीएचसी के आयुष डॉक्टर का कहना है कि स्वास्थ्य केंद्र पर 70 बीमार बच्चों को लाया गया, जिनमें से 50 का उपचार किया और 7 को चूरू रैफर किया गया। इधर, डीबी अस्पताल में भर्ती 7 बच्चों को अस्पताल में रखा गया है। शिशु रोग विभागाध्यक्ष डॉ. इकराम हुसैन का कहना है कि भर्ती बच्चे अब ठीक हैं, उन पर नजर रखी जा रही है। रातभर ठीक रहने पर शुक्रवार को छुट‌्टी दे दी जाएगी।


इधर, स्कूल में पानी पीनेे से बड़ी संख्या में बच्चों के बीमार होने की सूचना के बाद प्रशासन में खलबली मच गई। शिक्षा, चिकित्सा, पुलिस व प्रशासन के अधिकारी सक्रिय हो गए तथा मौके पर पहुंचे। सीडीईओ ने सीबीईओ तारानगर, सीएमएचओ ने तीन सदस्यीय डॉक्टरों की टीम, कलेक्टर ने तहसीलदार तारानगर व एसपी ने भालेरी पुलिस को मामले की पूरी जांच कर रिपोर्ट देने के लिए कहा है।

देर शाम भालेरी पुलिस ने चूरू में भर्ती बच्चों के पर्चा बयान पर मामला दर्ज कर लिया। भालेरी के ड्रीमलैंड माध्यमिक स्कूल में गुरुवार सुबह करीब 9 से 9.30 बजे के बीच टंकी का पानी पीने से बच्चों की तबीयत बिगड़ गई, जिन्हें पहले भालेरी के पीएचसी में भर्ती करवाया। इन बीमार बच्चों की संख्या 70 थीं, इनमें से 7 को गंभीर हालत में चूरू के डीबी अस्पताल के शिशु वार्ड में भर्ती करवाया। चूरू में भर्ती बच्चों में दिलवंत, नितेश, मनोज, कमलेश, आिबदा, अलवीरा व आलिया शामिल है। इन्हें सुबह 10.45 से 12.30 बजे के बीच भर्ती करवाया।  इधर, डीबी अस्पताल में बच्चों के भर्ती होेने की सूचना पर डीएसपी सुखविंद्रसिंह, एसडीएम श्वेता कोचर व कलेक्टर संदेश नायक भी अस्पताल पहुंचे तथा उन्होंने अस्पताल अधीक्षक डॉ. गोगाराम की मौजूदगी में बच्चों व उनके परिजनों से बातचीत की। शिशु विभाग के विभागाध्यक्ष से उपचार के बारे में जानकारी ली। 

 

टंकी व मटके के पानी के सैंपल लेकर पीएचईडी को जांच के लिए भिजवाया
पुलिस व चिकित्सा विभाग के अधिकारियों ने ड्रीमलैंड स्कूल की पानी की टंकी व मटके में विषाक्त पदार्थ मिला हुआ होने की आशंका बाद चिकित्सकों की टीम ने पानी के सैंपल लिए गए है। सैंपल को जांच के लिए पीएचईडी के पास भिजवा दिए है। स्कूल के बच्चों व उनके परिजनों का भी कहना है कि पीने के पानी में बदबू आ रही थी। स्कूल स्टाफ का कहना है कि सुबह स्कूल में पहुंचते ही घंटी से मटके से पानी पीने लगे तो बदबू आई। पानी का रंग भी अलग था। इसके बाद स्कूल स्टाफ ने मटके का पानी नहीं पीया। सैंपल मटके के पानी के भी लिए गए हैं।


टंकी के पानी में जहरीला पदार्थ मिलाया : स्कूल निदेशक
स्कूल निदेशक निराणाराम ने भास्कर से बातचीत करते हुए कहा कि स्कूल की पानी की टंकी में किसी ने जहरीला पदार्थ मिला दिया। टंकी की सफाई एक अक्टूबर को करवाई गई थी। 


पानी के सैंपल की लैब में जांच करवा रहे है : कलेक्टर
जिला कलेक्टर संदेश नायक ने कहा कि प्रथमदृष्ट्या स्कूल की टंकी के पानी में मिलावट की बात ही सामने आई है। तारानगर तहसीलदार, सीबीईआे व पुलिस की अब तक सूचना में भी यही सामने आ रहा है। टंकी के पानी की लैब में जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना