--Advertisement--

सीआरपीएफ कैंप पर रात 2 बजे आतंकी हमला, चूरू के जवान सहित 5 शहीद

आतंकी तांत्रेय के मारे जाने के 5 दिन बाद जैश का जम्मू-कश्मीर में बड़ा हमला

Danik Bhaskar | Jan 01, 2018, 03:55 AM IST
इस कैंप में सैनिकों को आतंकियों के खिलाफ लड़ने की ट्रेनिंग भी दी जाती है। जम्मू पुलिस का दल भी रहता है। इस कैंप में सैनिकों को आतंकियों के खिलाफ लड़ने की ट्रेनिंग भी दी जाती है। जम्मू पुलिस का दल भी रहता है।

श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में शनिवार-रविवार की रात 2 बजे सीआरपीएफ कैंप पर आतंकियाें ने हमला किया। इसमें राजस्थान के चूरू निवासी कांस्टेबल राजेंद्र नैण सहित 5 जवान शहीद हो गए, 3 घायल हैं। सुरक्षा बलों ने दो आतंकियों को मार गिराया। एक और आतंकी के मारे जाने का अंदेशा है, पर शव नहीं मिला है। हमले की जिम्मेदारी जैश-ए-मोहम्मद ने ली है। उसने कहा कि पांच दिन पहले पुलवामा में मारे गए कमांडर नूर मोहम्मद तांत्रेय की मौत का बदला लिया है। घाटी में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई।

चूरू के सपूत का शव आज आएगा
- चूरू की रतनगढ़ तहसील के गांव गौरीसर निवासी जवान राजेंद्र नैण का शव सोमवार दोपहर तक हेलिकॉप्टर से गांव आने की संभावना है।

- रतनगढ़ थानाधिकारी अरविंद भारद्वाज ने बताया कि राजेंद्र के शहीद होने की सूचना सीआरपीएफ से मिली है। उनके एक बेटा है।

ये भी शहीद

- इंस्पेक्टर कुलदीप राय, हमीरपुर, हिमाचल
- हैड कांस्टेबल तौफेल अहमद, जम्मू-कश्मीर
- कांस्टेबल शरीफुद्दीन गनी, जम्मू-कश्मीर
- कांस्टेबल पीके पंडा, ओडिशा।

पहले हैंडग्रेनेड फेंके, फिर अंधाधुंध फायरिंग करते हुए घुसे
- हैवी हथियारों से लैस आतंकियों ने लेथपोरा के 185 बटालियन कैंप के मेन गेट पर तैनात संतरी पर पहले हैंडग्रेनेड फेंके, फिर अंधाधुंध फायरिंग करते हुए अंदर घुस गए। वहां एक इमारत में छिप गए और वहीं से गोलीबारी शुरू कर दी। जवानों ने तुरंत मोर्चा संभाला और मुठभेड़ शुरू हो गई।

- आतंकी मंजूर अहमद बाबा और फरदीन अहमद खांडे के शव बरामद हो गए हैं। दोनों कश्मीर के ही थे। खांडे पुलिसकर्मी का बेटा था।

- पिछले साल 1-2 जनवरी की रात आतंकियों ने इसी तरह पठानकोट वायुसेना बेस पर हमला किया था। 80 घंटे तक चली उस कार्रवाई में 7 जवान शहीद हो गए थे। सभी 6 आतंकी भी मारे गए थे।

साल में 206 आतंकी ढेर
जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा बलों ने 2017 में 206 आतंकियों को मार गिराया। 75 हिंसा छोड़कर मुख्यधारा में शामिल हुए। डीजीपी एसपी वैद ने बताया कि आॅपरेशन ऑलआउट आतंकियों के खात्मे के साथ ही उन्हें मुख्यधारा में शामिल करने के लिए शुरू किया गया था।

पाक की फायरिंग, एक शहीद
पाकिस्तान ने साल के आखिरी दिन भी कश्मीर के पुंछ व राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा पर रुक-रुककर फायरिंग की। राजौरी के नौशहरा सेक्टर में गोली लगने से सेना के जवान जगसीर सिंह शहीद हो गए।

चूरू के राजेंद्र चूरू के राजेंद्र
शहीद जगसीर सिंह। शहीद जगसीर सिंह।
फिदायीन आतंकी फरदीन। फिदायीन आतंकी फरदीन।
शहीदों के शवों को ले जाते हुए। शहीदों के शवों को ले जाते हुए।