--Advertisement--

गोलियां लगीं, फिर भी एक हाथ से 3 आतंकी ढेर किए; कमांडो को शौर्य चक्र

सेना की ओर से गुरुवार को गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर बहादुर सैनिकों के मेडल की घोषणा की गई।

Danik Bhaskar | Jan 26, 2018, 04:38 AM IST

झुंझुनूं/सीकर. सीने और हाथ में गोली लगने के बावजूद एक हाथ से फायर कर तीन आतंकियों को मारने वाले झुंझुनूं जिले के गांगियासर गांव के कमांडो मुबारिक अली को शौर्य चक्र से नवाजा जाएगा। सेना की ओर से गुरुवार को गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर बहादुर सैनिकों के मेडल की घोषणा की गई। इनमें मुबारिक अली का नाम भी है।

बीकानेर का सपूत अरुणाचल में शहीद
- अरुणाचल के मनकाख क्षेत्र में माओ उग्रवादियों की ओर से बिछाई गई इंप्रोवाइज एक्सप्लोसिव डिवाइस (आईईडी) में धमाका होने से बीकानेर के सपूत राकेश कुमार चोटिया शहीद हो गए।

- वे भारतीय सेना की 11 ग्रेनेडियर रेजीमेंट में नायक थे। शहीद राकेश श्रीडूंगरगढ़ तहसील के धीरदेसर चोटियान गांव के रहने वाले थे और 1999 में सेना में भर्ती हुए थे।

- उनकी पत्नी इंद्रा के अलावा बेटी पूजा(8) और बेटा मनीष (13) है। शुक्रवार को श्रीडूंगरगढ़ के गांधी पार्क में सुबह नौ से 11 बजे तक शहीद का शव दर्शनार्थ रखा जाएगा।