--Advertisement--

चचेरे भाई के साथ बाइक पर कोचिंग आ रही लड़की को ट्रैक्टर ने कुचला, मौत

दो भाई मजदूरी कर पढ़ा रहे थे पुलिस भर्ती की तैयारी कर रही अरुणा को, गांव से आती थी पढ़ने

Danik Bhaskar | Dec 28, 2017, 09:02 AM IST

सीकर. पिपराली सर्किल पर एक ट्रैक्टर चालक ने बाइक सवार को टक्कर मार दी। ट्रैक्टर का आगे का पहिया छात्रा के ऊपर से निकल गया, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गई। छात्रा को एसके अस्पताल पहुंचाया, जहां इलाज के दौरान उसकी मृत्यु हो गई। जबकि बाइक चला रहे युवक के पैर में मामूली चोटें आई है। बाइक चालक राजपाल ने उद्योग नगर थाना में मामला दर्ज करवाया है।


चैनपुरा दादली निवासी 30 वर्षीय राजपाल पुत्र भंवरलाल चिनाई का काम करता है। बुधवार को वह चचेरी बहन अरुणा पुत्री भागीरथ मल को गांव से कोचिंग के लिए सीकर ला रहा था। सुबह नौ बजे पिपराली के पास तेज गति से आ रहे ट्रैक्टर चालक ने बाइक सवार को पीछे से टक्कर मार दी। इससे अरुणा बाइक से उछल रोड पर गिर गई। वहीं, राजपाल डिवाइडर के दूसरी तरफ गिर गया। ट्रैक्टर का आगे का पहिया छात्रा अरुणा के ऊपर से निकल गया। बाइक चला रहा राजपाल तुरंत उठा और उसने आसपास के दुकानदारों और वाहन चालकों से मदद मांगी। इस पर वाहन चालक और आसपास के लोग मौके पर एकत्रित हो गए और अरुणा को वाहन में लेकर एसके अस्पताल पहुंचाया। उसके शरीर से काफी खून निकल चुका था। ट्रोमा में इलाज के दौरान अरुणा की मौत हो गई।

इतनी स्पीड कि टक्कर के बाद पलटते-पलटते बचा ट्रैक्टर : चचेरा भाई

बाइक चला रहे राजपाल ने बताया कि ट्रैक्टर चालक बहुत तेज गति से आ रहा था। टक्कर लगने के बाद ट्रैक्टर पलटते-पलटते बचा। चालक मौके से फरार हो गया और उसके साथी राजेंद्र को लोगों ने पकड़ लिया। ट्रैक्टर नया है। उस पर नंबर भी नहीं लिखे थे। पुलिस ने ट्रैक्टर को जब्त कर लिया है। उद्योग नगर थाने में राजपाल ने ट्रैक्टर चालक के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है। शव का पोस्टमार्टम करके परिजनों को सुपुर्द कर दिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है कि ट्रैक्टर किसके नाम है और चालक का लाइसेंस बना हुआ था या नहीं। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

अरुणा : पांच भाई-बहनों में चौथे नंबर की संतान थीं, बीए सैकंड ईयर में थी

अरुणा पांच-भाई बहनों में चौथे नंबर की संतान थी। मां दुर्गा देवी बीपीएल से मिलने वाले राशन और दो लड़कों की आय से पूरा घर चलाती है। दो बड़े भाई नरेश और अनिल ने बताया कि वे दोनाें भाई मजदूरी कर अरुणा और उसके छोटे भाई जयप्रकाश को पढ़ा रहे थे। ताकि उन्हें पढ़ा-लिखाकर काबिल बना सकें। बड़ी बहन की शादी हो चुकी है। परिवार बीपीएल श्रेणी में आता है। अरुणा के पिता भागीरथ मल की चार-पांच साल पूर्व मौत हो गई थी। अरुणा पुलिस भर्ती की तैयारी कर रही थी जिससे परिवार को आर्थिक संबल मिल सके। एसके राजकीय कन्या कॉलेज सीकर में बीए सैकंड ईयर में पढ़ने वाली अरुणा कोचिंग के लिए सीकर आती थीं।