--Advertisement--

शगुन में ससुर ने 5 लाख रु. दिए, एयरफोर्स में अकाउंटेंट दूल्हे ने हाथ जोड़ किया मना

कोलाली गांव मंगलवार की रात एक अनोखी शादी का गवाह बना। इस शादी ने समाज को एक अनूठा संदेश दिया।

Danik Bhaskar | Feb 08, 2018, 01:51 AM IST
दुल्हन के पिता दिलीप सिंह पांच लाख रुपए एक थाल में रख कर जयदीप को देने लगे। जयदीप ने रुपए लेने से साफ मना कर दिया। दुल्हन के पिता दिलीप सिंह पांच लाख रुपए एक थाल में रख कर जयदीप को देने लगे। जयदीप ने रुपए लेने से साफ मना कर दिया।

झुंझुनूं (राजस्थान). जिले का कोलाली गांव मंगलवार की रात एक अनोखी शादी का गवाह बना। इस शादी ने समाज को एक अनूठा संदेश दिया। एयरफोर्स में तैनात दूल्हे को उसके ससुर ने शगुन के रूप में पांच लाख रुपए कैश देना चाहा तो दूल्हे ने हाथ जोड़कर मना कर दिया। उन्होंने किसी भी तरह के दहेज से इनकार कर दिया। जिसने भी सुना, उसने इस कदम के लिए दूल्हे और उनके परिवार की सराहना की। दूल्हे का फैसला सुन लोग हुए सन्न


- दरअसल, कोलाली गांव के दिलीप सिंह की बेटी पल्लवी कंवर का विवाह मंगलवार को नागौर जिले के रहने वाले जयदीप सिंह के साथ हुआ।

- तय समय पर बरात आ गई। एक रस्म के दौरान दुल्हन के पिता ने पांच लाख रुपए एक थाल में रख कर जयदीप की तरफ बढ़ाया। जयदीप ने हाथ जोड़ लिए और कहा- मुझे यह सब नहीं चाहिए। वहां मौजूद लोग सन्न रह गए। जयदीप और उसके पिता लक्ष्मण सिंह ने कहा कि वे दहेज नहीं लेंगे। यह समाज के लिए अभिशाप है। इसे दूर करने का काम समाज को ही करना होगा।

- दुल्हन के घरवाले बार-बार आग्रह करते रहे। इस पर जयदीप ने ससुर के सामने दोनों हाथ जोड़ दिए।

- दूल्हे ने कहा- वह समाज के लोगों को संदेश देना चाहता है कि लोग बेटियों को बोझ न समझें। बिना दहेज शादी करने वाले युवा आगे आएं।

- पल्लवी के मामा रणदेव सिंह राठौड़ ने बताया- सगाई के वक्त ही जयदीप और उनके पिता ने दहेज के लिए मना कर दिया था, लेकिन दुल्हन के परिवार ने दहेज की पूरी तैयारी कर ली।

- कोरथ के दौरान शगुन के रूप में 5 लाख रुपए नकद लेकर आए लेकिन दूल्हे व उनके परिजनों ने साफ मना दिया। दुल्हन पल्लवी भी बीएससी, बीएड के साथ डबल एमए है।


पल्लवी कंवर का विवाह मंगलवार को नागौर जिले के जयदीप सिंह के साथ हुआ। पल्लवी कंवर का विवाह मंगलवार को नागौर जिले के जयदीप सिंह के साथ हुआ।