--Advertisement--

सर्दी ने धूप को जीरो कर दिया, फतेहपुर में पारा माइनस 0.8 डिग्री

माइनस तापमान में चना, सरसों, मटर, टमाटर, मिर्च, टिंडा की फसल के साथ ही फलदार पौधों में सबसे ज्यादा नुकसान की संभावना है।

Danik Bhaskar | Jan 08, 2018, 08:00 AM IST
फतेहपुर इलाके में सुबह कोहरे और धूप नहीं निकलने के कारण सर्दी का असर तेज रहा। यह फोटो हमें भेजा है भास्कर के पाठक भरत शर्मा ने। फतेहपुर इलाके में सुबह कोहरे और धूप नहीं निकलने के कारण सर्दी का असर तेज रहा। यह फोटो हमें भेजा है भास्कर के पाठक भरत शर्मा ने।

सीकर. फतेहपुर रविवार को प्रदेशभर में सबसे ठंडा रहा। कई इलाकों में सुबह देर तक कोहरे के कारण परेशानी और बढ़ गई। शीतलहर के कारण दोपहर के समय भी सर्दी का असर कम नहीं हुआ। ठंड का असर जनजीवन पर साफ नजर आया। फतेहपुर में रविवार को न्यूनतम तापमान माइनस 0.8 डिग्री तथा अिधकतम तापमान 21.4 डिग्री दर्ज किया गया। चूरू में न्यूनतम तापमान 1.0 डिग्री दर्ज किया गया। जबकि प्रदेश में सबसे ठंडा रहने वाले माउंट आबू में भी रविवार को तापमान 2.0 डिग्री दर्ज किया गया।

3 दिन जीरो के करीब रह सकता है पारा
मौसम विभाग ने फिलहाल सर्दी का असर तेज रहने की संभावना जताई है। जयपुर मौसम विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक इलाके में अगले तीन दिन तक तापमान जमाव बिंदु के करीब रहने की संभावना है। सर्दी बढ़ने की मुख्य वजह है इलाके में दो दिन तक कोहरा व बादल बने रहने के बाद मौसम साफ होना।

फसलों को झुलसा सकती है शुष्क ठंड
- कृषि विशेषज्ञों के अनुसार, कोहरा साफ होने के साथ शुष्क मौसम में तापमान जमाव बिंदु के नीचे आने से रबी फसलों में नुकसान की संभावना बढ़ गई है। माइनस तापमान में चना, सरसों, मटर, टमाटर, मिर्च, टिंडा की फसल के साथ ही फलदार पौधों में सबसे ज्यादा नुकसान की संभावना है। कृषि विभाग ने फसलों को ठंड से बचाव के लिए किसानों को गंधक के तेजाब छिड़काव की सलाह दी है।